--Advertisement--

ऑल इंग्लैंड बैडमिंटन: 4 साल में पहली बार फर्स्ट राउंड में बाहर हुईं साइना, प्री-क्वॉर्टर में किदांबी-सिंधू

2014 के बाद साइना नेहवाल पहली बार किसी टूर्नामेंट के पहले दौर में हारी हैं।

Dainik Bhaskar

Mar 14, 2018, 09:55 PM IST
साइना टॉप सीड चीनी ताइपे की ताई जू यिंग से 14-21, 18-21 से हार गईं। -फाइल साइना टॉप सीड चीनी ताइपे की ताई जू यिंग से 14-21, 18-21 से हार गईं। -फाइल

लंदन. भारत के किदांबी श्रीकांत और पीवी सिंधू ऑल इंग्लैंड बैडमिंटन चैंपियनशिप के प्री क्वार्टर फाइनल में पहुंच गए हैं। किदांबी ने पहले मैच में फ्रांस के ब्राइस लेवरडेज को 7-21, 21-14, 22-20 से हराया। वर्ल्ड नंबर 4 सिंधू ने थाईलैंड की पी चोकहुवांग को 20-22, 21-17, 21-9 से हराया। हालांकि, साइना नेहवाल पहले ही दौर में टॉप सीड चीनी ताइपे की ताई जू यिंग से 14-21, 18-21 से हार गईं। 2014 के बाद वह पहली बार किसी टूर्नामेंट के पहले दौर में हारी हैं। मेंस सिंगल्स में बी. साई प्रणीत भी कोरिया के वान हो सन के हाथों पराजित हो गए। वान ने साई को 13-21, 21-5 21-11 से हराया। हालांकि पीजे चोपड़ा और एसएन रेड्‌डी की जोड़ी ने मिक्सड डबल्स में जर्मनी के एमई सिडेल और लिंडा फेलर की जोड़ी को 21-19, 21-13 से हराकर अगले दौर में जगह बनाई।

वूमेंस डबल्स में मिली निराशा

- वूमेंस डबल्स में अश्विनी पोनप्पा और एसएन रेड्‌डी पहले ही दौर में हार गईं। उन्हें जापान की मात्सूतोमो मिसाकी और ताकाहाशी अयाका की जोड़ी ने 21-14, 21- 13 से सीधे सेटों में मात दी।

- मेघना जक्कामपुडी और एस राम पूर्वविशा की जोड़ी जापान की योनेमोटो कोहारू और तनाका शिहो से 14-21, 11-21 से हारकर टूर्नामेंट से बाहर हो गई।

मेंस डबल्स में हारे भारतीय

मेंस डबल्स में भी भारतीय जोड़ी पराजित हो गई। सुमित बी रेड्‌डी और मनु अटारी की जोड़ी को इंग्लैंड के मार्क्स एलिस और क्रिस लैनग्रिडगे ने 20-22, 12-21 से हराया।

किदांबी के पास नंबर 1 बनने का मौका
- वर्ल्ड के तीसरे नंबर के शटलर किदांबी के पास रैंकिंग में एक नंबर पर पहुंचने का मौका है। टूर्नामेंट में वर्ल्ड के नंबर 1 शटलर डेनमार्क के विक्टर एक्सलसेन नहीं खेल रहे हैं। विक्टर के ना खेलने से वह खिताब के प्रबल दावेदारों में एक हैं। श्रीकांत ने 2017 में इंडोनेशिया ओपन, ऑस्ट्रेलिया ओपन, डेनमार्क ओपन और फ्रेंच ओपन के खिताब अपने नाम किए।

साइना ने 2015 में खेला था टूर्नामेंट का फाइनल
- ऑल इंग्लैंड बैडमिंटन में साइना का सबसे बढ़िया प्रदर्शन 2015 में रहा था। उस बार उन्होंने फाइनल खेला था। स्पेन की कैरोलिना मारिन से हार गईं थीं। मारिन ने उन्हें 16-21, 21-14, 21-7 से हराया था।

किन भारतीय शटलर्स ने जीता है ये टूर्नामेंट?
- साइना 2015 में ऑल इंडिया बैडमिंटन टूर्नामेंट जीतने से चूक गई थीं। लेकिन, उनके कोच पुलेला गोपीचंद ने 2001 में ये टूर्नामेंट जीता था। इससे पहले प्रकाश पादुकोण ने 1980 में ये खिताब अपने नाम किया था।

वर्ल्ड नंबर 4 सिंधू ने थाईलैंड की पी चोकहुवांग को 20-22, 21-17, 21-9 से हराया। वर्ल्ड नंबर 4 सिंधू ने थाईलैंड की पी चोकहुवांग को 20-22, 21-17, 21-9 से हराया।
X
साइना टॉप सीड चीनी ताइपे की ताई जू यिंग से 14-21, 18-21 से हार गईं। -फाइलसाइना टॉप सीड चीनी ताइपे की ताई जू यिंग से 14-21, 18-21 से हार गईं। -फाइल
वर्ल्ड नंबर 4 सिंधू ने थाईलैंड की पी चोकहुवांग को 20-22, 21-17, 21-9 से हराया।वर्ल्ड नंबर 4 सिंधू ने थाईलैंड की पी चोकहुवांग को 20-22, 21-17, 21-9 से हराया।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..