--Advertisement--

94 साल में पहली बार हुआ ऐसा, एक जैसी ड्रेस में नजर आए हमारे एथलीट

अबतक हुए ओलिंपिक, एशियन और कॉमनवेल्थ गेम्स में भारत की महिला एथलीट्स साड़ी-ब्लेजर पहने ही मार्च पास्ट में मौजूद रहती थीं।

Dainik Bhaskar

Apr 05, 2018, 10:52 AM IST
218 सदस्यीय भारतीय दल की अगुआई करतीं भारत की पीवी सिंधु 218 सदस्यीय भारतीय दल की अगुआई करतीं भारत की पीवी सिंधु

गोल्ड कोस्ट. ऑस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट में बुधवार को 21वें कॉमनवेल्थ गेम्स शुरू हो गए। परेड ऑफ नेशंस में भारतीय दल 38वें नंबर पर आया। ओलिंपिक सिल्वर मेडलिस्ट पीवी सिंधु ने 218 सदस्यीय दल की अगुआई की। 1924 के ओलिंपिक में भारत से पहली बार महिला एथलीट ने हिस्सा लिया था। तब से पहला मौका है जब किसी ग्लोबल स्पोर्टिंग इवेंट के मार्च पास्ट में भारत के पुरुष और महिला एथलीट एक जैसी ड्रेस में आए। इसलिए हुआ ड्रेस कोड में बदलाव...

- अबतक हुए ओलिंपिक, एशियन गेम्स और कॉमनवेल्थ गेम्स में भारत की महिला एथलीट्स साड़ी-ब्लेजर पहने ही मार्च पास्ट में मौजूद रहती थीं।
- साड़ी पहनकर मार्च पास्ट करने में महिला एथलीट्स को काफी परेशानी होती थी। दरअसल एथलीट साड़ी पहनने की अभ्यस्त नहीं होतीं, इसलिए उन्हें मदद की जरूरत पड़ती है। समारोह में उन्हें 5-7 घंटे साड़ी पहने रहना होता है, जो काफी कठिन होता है।
- उनकी इस परेशानी को देखते हुए भारतीय ओलिंपिक संघ ने 20 फरवरी को इस बारे में फैसला किया था। आईओए के महासचिव ने कहा था कि एथलीट की सुविधाओं के लिए ऐसा किया गया है।
- 2014 में हुए ग्लासगो कॉमनवेल्थ गेम्स में भारतीय महिला खिलाड़ियों ने साड़ी और ब्लेजर पहना था।

आगे की स्लाइड्स में देखें, कॉमनवेल्थ ओपनिंग सेरेमनी में परेड ऑफ नेशंस के दौरान भारतीय दल...

परेड ऑफ नेशंस में भारतीय दल 38वें नंबर पर आया। परेड ऑफ नेशंस में भारतीय दल 38वें नंबर पर आया।
पिछले 16 साल में ये पहला मौका है जब भारतीय दल की अगुवाई किसी शूटर ने नहीं की। पिछले 16 साल में ये पहला मौका है जब भारतीय दल की अगुवाई किसी शूटर ने नहीं की।
कॉमनवेल्थ गेम्स ऐसा आयोजन हैं जिनमें राष्ट्रमंडल देश हिस्सा लेते हैं। उपनिवेशिक काल के दौरान इन देशों पर ब्रिटेन का शासन था और बाद में ये देश स्वतंत्र हो गए। कॉमनवेल्थ गेम्स ऐसा आयोजन हैं जिनमें राष्ट्रमंडल देश हिस्सा लेते हैं। उपनिवेशिक काल के दौरान इन देशों पर ब्रिटेन का शासन था और बाद में ये देश स्वतंत्र हो गए।
भारतीय एथलीट्स। भारतीय एथलीट्स।
भारतीय एथलीट्स। भारतीय एथलीट्स।
भारतीय एथलीट्स। भारतीय एथलीट्स।
कॉमनवेल्थ गेम्स ऑस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट शहर में हो रहे हैं। कॉमनवेल्थ गेम्स ऑस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट शहर में हो रहे हैं।
X
218 सदस्यीय भारतीय दल की अगुआई करतीं भारत की पीवी सिंधु218 सदस्यीय भारतीय दल की अगुआई करतीं भारत की पीवी सिंधु
परेड ऑफ नेशंस में भारतीय दल 38वें नंबर पर आया।परेड ऑफ नेशंस में भारतीय दल 38वें नंबर पर आया।
पिछले 16 साल में ये पहला मौका है जब भारतीय दल की अगुवाई किसी शूटर ने नहीं की।पिछले 16 साल में ये पहला मौका है जब भारतीय दल की अगुवाई किसी शूटर ने नहीं की।
कॉमनवेल्थ गेम्स ऐसा आयोजन हैं जिनमें राष्ट्रमंडल देश हिस्सा लेते हैं। उपनिवेशिक काल के दौरान इन देशों पर ब्रिटेन का शासन था और बाद में ये देश स्वतंत्र हो गए।कॉमनवेल्थ गेम्स ऐसा आयोजन हैं जिनमें राष्ट्रमंडल देश हिस्सा लेते हैं। उपनिवेशिक काल के दौरान इन देशों पर ब्रिटेन का शासन था और बाद में ये देश स्वतंत्र हो गए।
भारतीय एथलीट्स।भारतीय एथलीट्स।
भारतीय एथलीट्स।भारतीय एथलीट्स।
भारतीय एथलीट्स।भारतीय एथलीट्स।
कॉमनवेल्थ गेम्स ऑस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट शहर में हो रहे हैं।कॉमनवेल्थ गेम्स ऑस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट शहर में हो रहे हैं।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..