Hindi News »Sports »Other Sports »Wrestling» Muay Thai Boxing Is Very Popular In Thailands Children But Doctors Raise Health Concerns

थाईलैंड में बच्चे खेल रहे ये खतरनाक खेल, पैसों के लिए पैरेंट्स भी कर रहे मदद

बॉक्सिंग के इस फॉर्मेट को थाईलैंड में करीब 2 हजार साल से खेला जा रहा है। इसे थाई बॉक्सिंग भी कहते हैं।

dainikbhaskar.com | Last Modified - Feb 14, 2018, 03:53 PM IST

  • थाईलैंड में बच्चे खेल रहे ये खतरनाक खेल, पैसों के लिए पैरेंट्स भी कर रहे मदद, sports news in hindi, sports news
    +5और स्लाइड देखें

    बैंकॉक.थाईलैंड में मुआई थाई बॉक्सिंग का क्रेज काफी ज्यादा है। बॉक्सिंग के इस फॉर्मेट को काफी खतरनाक माना जाता है। लेकिन इसके बावजूद कमाई के चक्कर में बच्चे भी इस खतरनाक खेल को खेल रहे हैं। गरीब पैरेंट्स भी अपने बच्चों को इसमें उतार रहे हैं। थाईलैंड की स्पोर्ट्स अथॉरिटी के अनुसार, देश में 15 से कम उम्र के 10 हजार से ज्यादा मुआय थाई बॉक्सर हैं। लेकिन एक्सपर्ट्स का कहना है कि इनकी संख्या 2 लाख से ज्यादा है क्योंकि कई बॉक्सर रजिस्टर्ड नहीं हैं। हालांकि डॉक्टर्स इस खेल को बच्चों के लिए बिल्कुल भी सही नहीं बताते।कमाई के चक्कर में खेल रहे बच्चे...

    - देश के अन्य हिस्सों की तरह नॉर्थईस्ट प्रांत के सातुक गांव में भी बच्चों के बीच मुआय थाई बॉक्सिंग के मैच होते हैं।

    - हाल ही में बच्चों के बीच हुए पांच राउंड के मुकाबले के बाद 11 साल के बॉक्सर ननथावत प्रोमसोद को विनर घोषित किया गया।

    - 'सुपर बिग सेकसेंडी' नाम से फेमस प्रोमसोद को ये मैच जीतने के बाद 6 हजार रुपए की प्राइज मनी मिली। उन्हें हर मैच खेलने के लिए 3 हजार रु. मिलते हैं।

    डॉक्टर्स इसलिए कर रहे विरोध

    - थाइलैंड के फिजिशियन और बच्चों के अधिकारों के लिए लड़ने वाली कई संस्थाएं बच्चों के इस गेम को खेलने का विरोध कर रही हैं।

    - डॉक्टरों का कहना है कि इससे बच्चों को दिमागी बीमारियां होने का खतरा बढ़ जाता है। बच्चों की याददाश्त भी जा सकती है।
    - थाईलैंड के एडवांस्ड डायग्नोस्टिक इमेजिंग सेंटर (एआईएमसी) के डायरेक्टर और न्यूरोरेडियोलॉजिस्ट जिरापोर्न लाओथामेट्स ने कहा, 'हमने पांच साल की रिसर्च के बाद पाया कि कम उम्र में बॉक्सिंग करने वाले बच्चों का दिमाग डैमेज हो सकता है। उन्हें पर्किंसन जैसी बीमारियां भी हो सकती हैं। बच्चों को कम उम्र में इस खेल से दूर रखना चाहिए।'

    कई पैरेंट्स कर रहे सपोर्ट

    - इस बीच, कुछ पैरेंट्स और ट्रेनर्स ने मुआय थाई का सपोर्ट भी किया है। उनका कहना है कि इस खेल से बच्चों में डिसिप्लीन बढ़ता है और ये आमदनी का जरिया भी है।
    - 11 साल का ननथावत प्रोमसोद भी इसी तरह का एक बॉक्सर है। प्रोमसोद के पिता और ट्रेनर ओंगार्ज प्रोमसोद कहते हैं, 'मेरा बेटा जो पैसा बॉक्सिंग से कमाता है, वो हम उसके लिए ही बचाकर रखते हैं।'
    - 'जब भी पैसों की कमी होती है, हम वही पैसा उसकी स्कूल की फीस वगैरह के लिए दे देते हैं। इसमें कुछ भी गलत नहीं है।'

    दो हजार पुराना है इतिहास

    - बॉक्सिंग के इस फॉर्मेट को थाईलैंड में करीब 2 हजार साल से खेला जा रहा है। इसे थाई बॉक्सिंग भी कहते हैं।
    - इसमें हाथ के अलावा कोहनी, घुटने और पैरों का इस्तेमाल भी विपक्षी पर पंच मारने के लिए होता है।

    आगे की स्लाइड्स में देखें, थाईलैंड में बच्चे किस तरह खेलते हैं मुआई थाई बॉक्सिंग....

  • थाईलैंड में बच्चे खेल रहे ये खतरनाक खेल, पैसों के लिए पैरेंट्स भी कर रहे मदद, sports news in hindi, sports news
    +5और स्लाइड देखें
  • थाईलैंड में बच्चे खेल रहे ये खतरनाक खेल, पैसों के लिए पैरेंट्स भी कर रहे मदद, sports news in hindi, sports news
    +5और स्लाइड देखें
  • थाईलैंड में बच्चे खेल रहे ये खतरनाक खेल, पैसों के लिए पैरेंट्स भी कर रहे मदद, sports news in hindi, sports news
    +5और स्लाइड देखें
  • थाईलैंड में बच्चे खेल रहे ये खतरनाक खेल, पैसों के लिए पैरेंट्स भी कर रहे मदद, sports news in hindi, sports news
    +5और स्लाइड देखें
  • थाईलैंड में बच्चे खेल रहे ये खतरनाक खेल, पैसों के लिए पैरेंट्स भी कर रहे मदद, sports news in hindi, sports news
    +5और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Wrestling

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×