इस रायफल ने तब बदला था इतिहास का रुख, अब खुद बन रहा है 'इतिहास'

8 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
आगरा. वक्‍त के साथ पुरानी हो चुकी थ्री नॉट थ्री रायफल अब उत्‍तर प्रदेश पुलिस से रिटायर हो रही है। इस रायफल ने सौ साल के सफर में कई बार इतिहास का रुख पलट दिया। अब यह रायफल बदलते दौर में अपराधियों से लोहा नहीं ले पा रही थी।
लिहाजा, पुलिस को ऑटोमेटिक इंसास रायफल और ग्लोक पिस्टल से लैस किया जा रहा है। पहले चरण में नक्सल प्रभावित इलाकों और सीमावर्ती क्षेत्रों में सेमी ऑटोमेटिक रायफल उपलब्ध कराई जा रही है। आगरा में भी इन रायफलों के आने का सिलसिला शुरू हो गया है।
दरअसल, थ्री नॉट थ्री रायफल करीब सौ साल पहले प्रथम विश्‍व युद्ध (1914-1918) के दौरान दुनिया के सामने आई थी। भारतीयों ने दि्वतीय विश्‍वयुद्ध के दौरान (1939-1945) इसे पहली बार उठाया था। उस वक्‍त भारतीय सेना को अंग्रेजों ने मित्र राष्‍ट्रों के समर्थन में युद्ध में उतारा था।
तस्वीरों की जुबानी, थ्री नॉट थ्री रायफल की पूरी कहानी...