विज्ञापन

कई देशों में दि‍खा चुकी हैंं हॉकी का जादू, अब रि‍यो ओलंपि‍क में मचाएंंगी धमाल

Dainik Bhaskar

Aug 02, 2016, 05:04 PM IST

इंडि‍यन वुमेंस हॉकी प्‍लेयर यूपी की प्रीति‍ दुबे ओलंपि‍क में धमाल मचाने रि‍यो पहुंची हैं। वे हॉकी को पूजा और भारत को मां कहती हैं। अपने खेल का जादू वे कई देशों में दि‍खा चुकी हैं। उनकी पैशन और मेहनत का ही कमाल है कि‍ वे गोरखपुर रेलवे कॉलोनी जैसी छोटी जगह से नि‍कलकर आज इंटरनेशनल प्‍लेयर बन गईं।

इंडि‍यन वुमेंस हॉकी प्‍लेयर यूपी की प्रीति‍ दुबे इस बार रियो ओलंपिक में धमाल मचाएंगी। इंडि‍यन वुमेंस हॉकी प्‍लेयर यूपी की प्रीति‍ दुबे इस बार रियो ओलंपिक में धमाल मचाएंगी।
  • comment
गोरखपुर. इंडि‍यन वुमेंस हॉकी प्‍लेयर यूपी की प्रीति‍ दुबे ओलंपि‍क में धमाल मचाने रि‍यो पहुंची हैं। वे हॉकी को पूजा और भारत को मां कहती हैं। अपने खेल का जादू वे कई देशों में दि‍खा चुकी हैं। उनकी पैशन और मेहनत का ही कमाल है कि‍ वे गोरखपुर रेलवे कॉलोनी जैसी छोटी जगह से नि‍कलकर आज इंटरनेशनल प्‍लेयर बन गईं। इस बार भी वे रक्षाबंधन में शामि‍ल नहीं हो सकेंगी। इन देशों में दि‍खा चुकी हैं हॉकी का जादू...
- प्रीति ने दो साल में कई देशों का दौरा कि‍या है। वे साउथ एशियन गेम्स के लि‍ए नेपाल गई थीं। वहां पहला गोल दागकर 1 लाख रुपए का इनाम हासिल किया था।
- इसके साथ ही वे अर्जेंटीना, नीदरलैंड, दक्षिण अफ्रीका, न्यूजीलैंड, चीन और ऑस्ट्रेलिया में अपनी स्‍टि‍क का जादू दि‍खा चुकी हैं।
- गुवाहाटी में हुए साउथ एशियन गेम्स में स्वर्ण पदक विजेता टीम की सदस्य रहीं।
- चीन में 2015 में हुए सातवें जूनियर एशिया कप में भारतीय टीम का प्रतिनिधित्व किया।
कहां सीखा हॉकी
- वे गोरखपुर के खजनी इलाके के भेउसा की रहने वाली हैं।
- उनकी फैमि‍ली पूर्वोत्तर रेलवे की बौलिया रेलवे कॉलोनी में रहता है।
- शहर के प्राइमरी विद्यालय में पांचवीं तक की पढ़ाई की।
- छठी से आठवीं तक वीर बहादुर सिंह स्पोर्ट्स कॉलेज में हॉकी सीखा।
- इसके बाद वे ग्वालियर की महिला एकेडमी में चली गईं।
- इस समय वे ग्वालियर के किडीज कॉर्नर स्कूल से इंटर की स्‍टूडेंट हैं।
- बचपन से ही हॉकी से लगाव रखने वाली प्रीति 2014 में भारतीय जूनियर महिला हॉकी टीम की सदस्य बनीं।
- इसके बाद नवंबर 2014 में उन्हें सीनियर टीम में चुना गया।
आगे की स्‍लाइड्स में पढ़ि‍ए नेशनल टीम में शामि‍ल होने तक का सफर...

indian womens hockey team player preeti dubey reach rio for olympics 2016
  • comment
नेशनल टीम में शामि‍ल होने तक का सफर
 
- प्रीति‍ ने एक बार गोरखपुर सैय्यद मोदी स्‍टेडि‍यम में मैराथन दौड़ में भाग लि‍या था। 
- उसमें फर्स्‍ट कि‍या। उसके बाद लगा कि‍ स्‍पोर्ट्स में अच्‍छा कर सकती हैं। 
- हॉकी में शुरुआती ट्रेनिंग गोरखपुर के स्‍पोर्ट्स कॉलेज से हुई। वहां से रि‍जनल खेलने का मौका मि‍ला। 
- उसके बाद ग्‍वालि‍यर अकादमी में ट्रेनिंग हासि‍ल करने का मौका मि‍ला। 
- वहीं से करि‍यर में मोड़ आया। वहां के कोच परमजीत जी से मदद मि‍ली। 
- उनकी गाइडेंस में खूब मेहनत कि‍या और नेशनल टीम में शामि‍ल हुईं।  
 
 
आगे की स्‍लाइड्स में पढ़ि‍ए ओलंपि‍क के लि‍ए गोरखपुर से हॉकी की तीसरी खि‍लाड़ी... 
 
indian womens hockey team player preeti dubey reach rio for olympics 2016
  • comment
ओलंपि‍क के लि‍ए गोरखपुर से हॉकी की तीसरी खि‍लाड़ी 
 
- इंडि‍यन हॉकी टीम की तरफ से ओलंपि‍क में शामि‍ल होने वाली वे गोरखपुर की तीसरी खि‍लाड़ी हैं। 
- इससे पहले 1964 के टोक्यो ओलंपिक में तिवारीपुर निवासी एसएम अली सईद टीम का हिस्सा बने थे। उस समय फाइनल में पाकिस्तान को हराकर भारत ने स्वर्ण पदक जीता था। 
- उनके बाद 1980 में मास्को आलंपिक में गोरखपुर की प्रेम माया भारतीय महिला हॉकी टीम की सदस्य बनीं। 
- अब 36 साल बाद गोरखपुर की प्रीति रियो ओलंपिक में भारतीय महिला हॉकी टीम का हिस्सा होंगी। 
 
आगे की स्‍लाइड्स में पढ़ि‍ए उनके भाइयों ने क्‍या कहा... 
प्रीति‍ के भाई भी उनकी परफॉर्मेंस से खुश हैं। प्रीति‍ के भाई भी उनकी परफॉर्मेंस से खुश हैं।
  • comment
भाई ने कहा- देश के लिए कुछ करके ख़ुशी देना
 
- प्रीति दूबे के घर में जश्न का माहौल है।
- उसके दो बड़े भाई फणीश और विशंभर हैं। प्रीति‍ दोनों की लाडली है।  
- पि‍छले महीने उसके बड़े भाई फणीश दूबे की शादी थी। ओलंपि‍क की तैयारी में व्‍यस्‍त रहने के कारण वह शामि‍ल नहीं हो सकी थी।
- अब रक्षाबंधन के त्योहार पर भी वो रि‍यो में रहेगी। 
- भाइयों ने कहा है कि‍ प्रीति‍ के यहां नहीं होने का उन्‍हें दुख तो है लेकि‍न उनके लि‍ए सबसे बड़ी खुशी है कि‍ उसकी बहन देश के लिए कुछ करने जा रही है। 
 
आगे की स्‍लाइड्स में पढ़ि‍ए प्रीति‍ ने क्‍या कहा... 
 
 
 
प्रीति‍ का टैलेंट देखते हुए उन्‍हें नेशनल टीम में जगह मि‍ली थी। प्रीति‍ का टैलेंट देखते हुए उन्‍हें नेशनल टीम में जगह मि‍ली थी।
  • comment
प्रीति‍ ने क्‍या कहा
 
- प्रीति ने कहा कि नरेंद्र मोदी से मिलकर टीम अति उत्साहित है और पदक हासिल कर देश का नाम रौशन करेगी।  
- प्रीति‍ गर्व के साथ कहती हैं कि भाई की शादी में सम्मलित होने और राखी नहीं बांधने का दुख है। 
- लेकिन पहले देशप्रेम महत्व रखता है। 
 
आगे की स्‍लाइड्स में पढ़ि‍ए लोगों का रि‍एक्‍शन... 
 
 
इंडि‍यन वुमेंस हॉकी टीम और प्रीति‍ की सफलता के लि‍ए लोग दुआ कर रहे हैं। इंडि‍यन वुमेंस हॉकी टीम और प्रीति‍ की सफलता के लि‍ए लोग दुआ कर रहे हैं।
  • comment
लोगों ने जताई खुशी
 
- पूर्व ओलंपियन अली सईद ने भी खुशी जताई है। उन्होंने कहा कि गोरखपुर की बेटी ने बड़ी उपलब्धि हासिल की है। 
- पूर्व ओलंपियन प्रेममाया ने कहा कि प्रीति का चयन गोरखपुर और इस अंचल का बड़ा सम्मान है। भरोसा है कि‍ वह भारतीय टीम की कामयाबी का जरिया भी बनेगी। 
- वीर बहादुर सिंह स्पोर्ट्स कॉलेज के प्रिंसि‍पल संतोष रावत और कोच शशि नैवेद्य ने खिलाड़ियों को मिठाई खिलाकर खुशी जताई। 
 
आगे की स्‍लाइड्स में पढ़ि‍ए प्रीति‍ की फैमि‍ली प्रोफाइल... 
 
 
गोरखपुर जैसे छोटे शहर से नि‍कलींं प्रीति‍ अब इंटरनेशनल प्‍लेयर बन चुकी हैं। गोरखपुर जैसे छोटे शहर से नि‍कलींं प्रीति‍ अब इंटरनेशनल प्‍लेयर बन चुकी हैं।
  • comment
फैमि‍ली प्रोफाइल 
 
- पि‍ता अवधेश कुमार दुबे रेलवे कर्मचारी हैं। 
- मां मि‍थि‍लेश दुबे गृहि‍णी हैं। 
- दो बड़े भाई हैं जो जॉब में हैं। 
 
आगे की स्‍लाइड्स में देखि‍ए प्रीति‍ की अन्‍य तस्‍वीरें...
अपनी मेहनत और लगन से प्रीति‍ ने हासि‍ल कि‍या मुकाम। अपनी मेहनत और लगन से प्रीति‍ ने हासि‍ल कि‍या मुकाम।
  • comment
 
हॉकी के लि‍ए कई सम्‍मान हासि‍ल कर चुकी हैं। हॉकी के लि‍ए कई सम्‍मान हासि‍ल कर चुकी हैं।
  • comment
 
प्रीति‍ बचपन से ही मेहनती रही हैं। प्रीति‍ बचपन से ही मेहनती रही हैं।
  • comment
पीएम नरेंद्र मोदी ने प्रीति‍ के साथ-साथ इंडि‍यन हॉकी के सभी सदस्‍यों को शुभकामनाएं दी हैं। पीएम नरेंद्र मोदी ने प्रीति‍ के साथ-साथ इंडि‍यन हॉकी के सभी सदस्‍यों को शुभकामनाएं दी हैं।
  • comment
अपनी टीम के खि‍लाड़ि‍यों के साथ प्रीति‍। अपनी टीम के खि‍लाड़ि‍यों के साथ प्रीति‍।
  • comment
साउथ एशि‍यन गेम्‍स के दौरान अपनी स्‍टि‍क का जादू दि‍खातीं प्रीति‍ (फाइल)। साउथ एशि‍यन गेम्‍स के दौरान अपनी स्‍टि‍क का जादू दि‍खातीं प्रीति‍ (फाइल)।
  • comment
X
इंडि‍यन वुमेंस हॉकी प्‍लेयर यूपी की प्रीति‍ दुबे इस बार रियो ओलंपिक में धमाल मचाएंगी।इंडि‍यन वुमेंस हॉकी प्‍लेयर यूपी की प्रीति‍ दुबे इस बार रियो ओलंपिक में धमाल मचाएंगी।
indian womens hockey team player preeti dubey reach rio for olympics 2016
indian womens hockey team player preeti dubey reach rio for olympics 2016
प्रीति‍ के भाई भी उनकी परफॉर्मेंस से खुश हैं।प्रीति‍ के भाई भी उनकी परफॉर्मेंस से खुश हैं।
प्रीति‍ का टैलेंट देखते हुए उन्‍हें नेशनल टीम में जगह मि‍ली थी।प्रीति‍ का टैलेंट देखते हुए उन्‍हें नेशनल टीम में जगह मि‍ली थी।
इंडि‍यन वुमेंस हॉकी टीम और प्रीति‍ की सफलता के लि‍ए लोग दुआ कर रहे हैं।इंडि‍यन वुमेंस हॉकी टीम और प्रीति‍ की सफलता के लि‍ए लोग दुआ कर रहे हैं।
गोरखपुर जैसे छोटे शहर से नि‍कलींं प्रीति‍ अब इंटरनेशनल प्‍लेयर बन चुकी हैं।गोरखपुर जैसे छोटे शहर से नि‍कलींं प्रीति‍ अब इंटरनेशनल प्‍लेयर बन चुकी हैं।
अपनी मेहनत और लगन से प्रीति‍ ने हासि‍ल कि‍या मुकाम।अपनी मेहनत और लगन से प्रीति‍ ने हासि‍ल कि‍या मुकाम।
हॉकी के लि‍ए कई सम्‍मान हासि‍ल कर चुकी हैं।हॉकी के लि‍ए कई सम्‍मान हासि‍ल कर चुकी हैं।
प्रीति‍ बचपन से ही मेहनती रही हैं।प्रीति‍ बचपन से ही मेहनती रही हैं।
पीएम नरेंद्र मोदी ने प्रीति‍ के साथ-साथ इंडि‍यन हॉकी के सभी सदस्‍यों को शुभकामनाएं दी हैं।पीएम नरेंद्र मोदी ने प्रीति‍ के साथ-साथ इंडि‍यन हॉकी के सभी सदस्‍यों को शुभकामनाएं दी हैं।
अपनी टीम के खि‍लाड़ि‍यों के साथ प्रीति‍।अपनी टीम के खि‍लाड़ि‍यों के साथ प्रीति‍।
साउथ एशि‍यन गेम्‍स के दौरान अपनी स्‍टि‍क का जादू दि‍खातीं प्रीति‍ (फाइल)।साउथ एशि‍यन गेम्‍स के दौरान अपनी स्‍टि‍क का जादू दि‍खातीं प्रीति‍ (फाइल)।
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें