उम्र 4 और 6 साल, धाराएं ऐसी लगी हैं जिसे सुन उड़ जाएंगे आपके होश​ / उम्र 4 और 6 साल, धाराएं ऐसी लगी हैं जिसे सुन उड़ जाएंगे आपके होश​

गोरखपुर. यहां 4 और 6 साल के दो मासूमों पर पुलिस ने गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है। यही नहीं, पुलिस इन मासूमों को पकड़ने के लिए दबिश भी दे रही है।

dainikbhaskar.com

Aug 12, 2016, 10:07 PM IST
गोरखपुर में 2 मासूम भाईयों पर हत्‍या की कोशिश और छेड़छाड़ जैसी गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया गया है। गोरखपुर में 2 मासूम भाईयों पर हत्‍या की कोशिश और छेड़छाड़ जैसी गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया गया है।
गोरखपुर. यहां 4 और 6 साल के दो मासूमों पर पुलिस ने गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है। यही नहीं, पुलिस इन मासूमों को पकड़ने के लिए दबिश भी दे रही है। गौर करने वाली बात ये है कि ये मुकदमा कोर्ट के आदेश पर दर्ज किया गया है।



जानें किसने दर्ज कराया इन मासूमों के खिलाफ मुकदमा
- मामला यूपी के गोरखपुर का है। यहां रहने वाली निर्मला देवी ने एक मुकदमा दर्ज कराया है।
- मुकदमें में 2 भाईयों को आरोपी बनाया गया है। जिनका नाम रघु (6) और रामू (4) हैं। दोनों नाम काल्‍पनिक हैं।
- ये मुकदमा 27 जुलाई 2016 को दर्ज कराया गया था।
- पुलिस अब मामले में दोनों मासूमों की गिरफ्तारी के लिए उनके घर दबिश डाल रही है।
- फिलहाल, अभी मासूमों को गिरफ्तार नहीं किया गया है।

आगे की स्‍लाइड्स में पढ़ें मासूमों पर क्‍या-क्‍या लगाए गए हैं गंभीर आरोप...


आईपीसी की गंभीर धाराओं में दर्ज कराया गया है मुकदमा। आईपीसी की गंभीर धाराओं में दर्ज कराया गया है मुकदमा।
मासूमों पर लगाए गए हैं ये गंभीर आरोप

- निर्मला देवी का आरोप है कि दोनों भाई उन्‍हीं के घर में रहते हैं। 
- वह हमेशा उनकी बेटी (14) के साथ छेड़छाड़, हाथ पकड़ लेना और उसकी फोटो खींचते थे।
- यही नहीं, एक दिन बच्‍चों ने सरेआम उनकी बेटी के कपड़े फाड़ दिए और उसके साथ अश्‍लीलता करने की कोशिश की।
- लड़की के शोर मचाने पर जब उसकी भाभी बचाने पहुंची, तो दोनों ने उनपर चाकू से जानलेवा हमला किया।


आगे की स्‍लाइड्स में पढ़ें मासूमों पर कौन-कौन सी लगी गंभीर धाराएं...
एक महिला ने आरोप लगाया है कि मासूम उनकी बेटी के कपड़े फाड़कर अश्‍लील हरकत कर रहे थे। एक महिला ने आरोप लगाया है कि मासूम उनकी बेटी के कपड़े फाड़कर अश्‍लील हरकत कर रहे थे।
बच्‍चों पर लगी ये गंभीर धाराएं 

- महिला की शिकायत पर दोनों के खिलाफ आईपीसी की धारा 323, 307, 324, 354, 354ए, 504, 506 जैसी धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है।
- इनमें छेड़छाड़, हत्‍या की कोशिश जैसी गंभीर धाराएं शामिल हैं।
- बता दें, बच्‍चों के अलावा उनके मां-बाप पर भी मुकदमा दर्ज किया गया है।
- मिली जानकारी के अनुसार, दोनों परिवारों के बीच 13 मार्च 2016 को जमीन को लेकर विवाद हुआ था, लेकिन उस समय मामला शांत हो गया।
- इसी बीच 27 जुलाई को एक पक्ष ने मुकदमा दर्ज करा दिया।


आगे की स्‍लाइड्स में पढ़ें मासूम बच्‍चों का क्‍या है कहना...
मासूम ने कहा, पुलिस अंकल जेल में तो बंद नहीं कर देंगे। मासूम ने कहा, पुलिस अंकल जेल में तो बंद नहीं कर देंगे।
जानें मासूम बच्‍चों का क्‍या है कहना...

- बच्‍चें के पिता प्राइवेट गाड़ी चलाते हैं।
- मुकदमा दर्ज होने के बाद वह बच्‍चों और पत्‍नी के साथ दूसरी जगह चले गए थे।
- शुक्रवार को वह परिवार के साथ जिला मुख्‍यालय पहुंचे। 
- यहां मीडिया से बातचीत में उन्‍होंने बताया, उनके पट्टीदार निर्मला और भोला उनकी एक जमीन पर कब्‍जा करना चाहते हैं।
- इस जमीन को लेकर कई बार विवाद हो चुका है। इसी के चलते साजिश के तहत मुकदमा दर्ज कराया गया है।
- उन्‍होंने कहा, मेरे 2 मासूम बच्‍चे हैं। इनपर गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज करा दिया गया। अब इनके भविष्‍य का क्‍या होगा?
- वहीं, दोनों मासूमों ने कहा, हमने कुछ नहीं किया, पुलिस अंकल हमें जेल में तो बंद नहीं कर देंगे।


आगे की स्‍लाइड्स में पढ़ें पुलिस का क्‍या है कहना...
आईजी मोहित अग्रवाल का कहना है कि बच्‍चों के खिलाफ इस तरह के मुकदमे दर्ज करना समाज की गिबड़ती मानसिकता का परिचायक है। आईजी मोहित अग्रवाल का कहना है कि बच्‍चों के खिलाफ इस तरह के मुकदमे दर्ज करना समाज की गिबड़ती मानसिकता का परिचायक है।
बच्‍चों का उत्‍पीड़न माफ करने लायक नहीं

- मामले में विवेचक महेंद्र प्रताप सिंह का कहना है, बच्‍चों को देखकर मैं हैरान रह गए। 
- एक प्राइमरी में पढ़ता है, तो दूसरे ने अभी पढ़ाई शुरू भी नहीं की है। 
- निर्मला देवी को बुलाकर फटकार लगाई गई है। 
- वहीं, एसओ का कहना है, बच्‍चों का नाम मुकदमे से तत्‍काल बाहर करने का आदेश दिया गया है। 
- कोर्ट को गुमराह करके इन बच्‍चों पर मुकदमा दर्ज किया गया। पुलिस कोर्ट के सामने साक्ष्‍य रखेगी। 
- वहीं, आईजी मोहित अग्रवाल का कहना है कि यह समाज की गिबड़ती मानसिकता का परिचायक है। 
- बच्‍चों का उत्‍पीड़न अक्षम्‍य है। मामले में जो भी दोषी पाया जाएगा, उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।
मासूमों के साथ-साथ उनके मां बाप पर भी केस दर्ज कराया गया है। मासूमों के साथ-साथ उनके मां बाप पर भी केस दर्ज कराया गया है।
X
गोरखपुर में 2 मासूम भाईयों पर हत्‍या की कोशिश और छेड़छाड़ जैसी गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया गया है।गोरखपुर में 2 मासूम भाईयों पर हत्‍या की कोशिश और छेड़छाड़ जैसी गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया गया है।
आईपीसी की गंभीर धाराओं में दर्ज कराया गया है मुकदमा।आईपीसी की गंभीर धाराओं में दर्ज कराया गया है मुकदमा।
एक महिला ने आरोप लगाया है कि मासूम उनकी बेटी के कपड़े फाड़कर अश्‍लील हरकत कर रहे थे।एक महिला ने आरोप लगाया है कि मासूम उनकी बेटी के कपड़े फाड़कर अश्‍लील हरकत कर रहे थे।
मासूम ने कहा, पुलिस अंकल जेल में तो बंद नहीं कर देंगे।मासूम ने कहा, पुलिस अंकल जेल में तो बंद नहीं कर देंगे।
आईजी मोहित अग्रवाल का कहना है कि बच्‍चों के खिलाफ इस तरह के मुकदमे दर्ज करना समाज की गिबड़ती मानसिकता का परिचायक है।आईजी मोहित अग्रवाल का कहना है कि बच्‍चों के खिलाफ इस तरह के मुकदमे दर्ज करना समाज की गिबड़ती मानसिकता का परिचायक है।
मासूमों के साथ-साथ उनके मां बाप पर भी केस दर्ज कराया गया है।मासूमों के साथ-साथ उनके मां बाप पर भी केस दर्ज कराया गया है।
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना