विज्ञापन

यहां लड्डू है 'ठग्गू' और 'बदनाम' है कुल्फी, फिर भी दुनिया है इनके स्वाद की दीवानी

Dainik Bhaskar

Oct 16, 2014, 01:00 PM IST

काजू के स्वादिष्ट लड्डू बनाने वाली इस दुकान के साइन बोर्ड पर 'ऐसा कोई सगा नहीं, जिसको हमने ठगा नहीं' लिखा है।

thaggu ke laddu badnam kulfi kanpur shop latest hindi news
  • comment
फोटो: कानपुर की मशहूर ठग्गू के लड्डू की दुकान।
कानपुर. बात खानपान की हो और कानपुर का जिक्र न आए, यह कैसे हो सकता है। यहां के 'ठग्गू के लड्डू' और 'बदनाम कुल्फी' का स्वाद पूरे देश में मशहूर है। जितनी लोकप्रियता इस दुकान की है, उतना ही आकर्षक है इसका साइन बोर्ड। फिल्म बंटी-बबली का 'ऐसा कोई सगा नहीं, जिसको हमने ठगा नहीं' गाना आपने जरूर सुना होगा। आपको जानकार हैरानी होगी कि इसके बोल कानपुर के एक मशहूर लड्डू के दुकान की थीम से लिए गए हैं। बंटी-बबली यानि अभिषेक बच्चन और रानी मुखर्जी ने भी यहां का लड्डू का स्वाद चखा। इसके बाद उस गाने की शूटिंग हुई थी।
यदि कभी आपको कानपुर से रूबरू होने का मौका मिला होगा, तो आपने यहाँ के 'ठग्गू के लड्डू' का नाम सुना होगा। शुद्ध खोये, रवा और काजू के स्वादिष्ट लड्डू बनाने वाली इस दुकान के साइन बोर्ड पर 'ऐसा कोई सगा नहीं, जिसको हमने ठगा नहीं' लिखा है। यह दुकान शहर का सबसे मशहूर दुकान है। यहां 'ठग्गू के लड्डू' के अलावा 'बदनाम कुल्फी' भी मिलती है। बच्चे, युवा और बुजुर्ग सभी इसके स्वाद के दीवाने हैं।
यहां बिकती है बदनाम कुल्फी
'ठग्गू के लड्डू' की दुकान के मालिक प्रकाश पांडेय के मुताबिक, बदनाम वही होता है, जिसका नाम होता है। बदनामी उसी की होती है, जो फुटपाथ पर बिकती है। महलों में बिकने वाले बदनाम नहीं होती। यही खासियत है उनकी कुल्फी की। इसके लिए उनकी दुकान पर दूर-दराज से ग्राहक आते हैं और बड़े चाव से इसका स्वाद लेते हैं।
50 साल पुरानी है 'ठग्गू के लड्डू' की कहानी
प्रकाश पांडेय ने बताया कि 'ठग्गू के लड्डू' की कहानी करीब 50 साल पुरानी है। उनके पिता राम अवतार पांडेय घाटमपुर ब्लॉक के परौरी गांव के निवासी थी। उन दिनों घर की माली हालत ठीक नहीं थी। ऐसे में उनके पिता रोजी-रोटी की तलाश में दिल्ली चले गए। वहां उन्होंने फेरी लगाना शुरू कर दिया। दो साल बाद वह कानपुर लौट आए। यहां मेस्टन रोड पर उन्होंने मठ्ठे की दुकान खोली।
दोपहर तक बिक जाता था मट्ठा
उनके सहयोगी राजेंद्र मिश्रा की मानें, तो राम अवतात सुबह 10 बजे दुकान खोलते थे। दोपहर दो बजे तक उनका पूरा मट्ठा बिक जाता था। करीब 10 साल तक उन्होंने मेस्टन रोड पर अपनी दुकान चलाई। इसके बाद उनकी दुकान बंद हो गई।
आगे जानिए, कैसे पड़ा दुकान का यह नाम...

thaggu ke laddu badnam kulfi kanpur shop latest hindi news
  • comment
काजू-सूजी के लड्डू।
 
ऐसे पड़ा दुकान का नाम
 
प्रकाश पांडेय ने बताया कि साल 1968 में उनके पिता ने कानपुर के फाइव स्टार होटल लैंडमार्क के सामने लड्डू की दुकान खोली। उनपर गांधी जी के विचारों का काफी प्रभाव पड़ा था। बापू के 'शक्कर श्वेत जहर है' की बात से वह काफी विचलित हो गए थे। उन्होंने सोचा कि इन लड्डूओं के जरिए वह व्यक्ति के स्वाद और पैसे दोनों ठगते हैं। उन्हें अपने अंदर एक ठग नजर आया। इसके बाद उन्होंने दुकान का नाम रखा 'ठग्गू के लड्डू' दिया। 
 
मिलते थे तीन तरह के लड्डू
 
दुकान में तीन तरह के लड्डू मिलते थे। पहला काजू, खोया और सूजी से बने लड्डू, दूसरा पिस्ता, बादाम और खोया-सूजी से बने लड्डू और तीसरा मलाई-खोये के लड्डू। इसके साथ ही कुल्फी भी मिलती थी। फुटपाथ पर बिकने के कारण पिताजी ने इसका नाम 'बदनाम कुल्फी' रखा। 
 
दुकान की है छह ब्रांच
 
इस दुकान की लोकप्रियता दिन-प्रतिदिन बढ़ती जा रही है। ऐसे में इसके ब्रांच भी खोले गए हैं। मौजूदा समय में अलग-अलग जगहों पर दुकान के कुल छह ब्रांच हैं। गोविंद नगर, काकादेव, एक्सप्रेस रोड, वीआईपी रोड, स्वरूप नगर इसमें शामिल है। हांलाकि, यहां अब खोये-मलाई की लड्डू नही बनाई जाती। 
 
आगे पढ़िए, क्या कहते हैं ग्राहक...
thaggu ke laddu badnam kulfi kanpur shop latest hindi news
  • comment
दुकान में सजी मिठाइयां।
 
क्या कहते हैं ग्राहक
 
ग्राहक कुणाल मिश्रा के अनुसार, इनके लड्डू का स्वाद एकदम अलग होता है। यह बिलकुल ताजा होता है। दो दिन फ्रीज में न भी रखें, तो भी यह खराब नहीं होती। मोहित सक्सेना ने बताया कि लड्डू में भले ही सूजी डाला जाता हो, लेकिन खाने में यह समझ में नहीं आता। बहुत ही स्वादिष्ट होते हैं यहां के लड्डू। हर तीज-त्यौहार पर इस दुकान से ही खरीदारी करते हैं। 
 
हटकर है बदनाम कुल्फी का स्वाद
 
मोहित और रूपा के अनुसार, इनकी कुल्फी वास्तव में बदनाम है। इसका स्वाद बाजार में बिकने वाले ब्रांडेड कुल्फियों से बिलकर हटकर है। वहीं, सोनाली के मुताबिक, बदनाम कुल्फी में स्वाद का जादू है। वह जब कभी इस ओर आती हैं, इसका स्वाद लेना कतई नहीं भूलतीं। 
 
आगे देखिए, खबर से जुड़ी अन्य तस्वीरें...
thaggu ke laddu badnam kulfi kanpur shop latest hindi news
  • comment
कुल्फी मथते कर्मचारी।
thaggu ke laddu badnam kulfi kanpur shop latest hindi news
  • comment
लड्डू खाते ग्राहक।
thaggu ke laddu badnam kulfi kanpur shop latest hindi news
  • comment
खोए के लड्डू।
thaggu ke laddu badnam kulfi kanpur shop latest hindi news
  • comment
मिठाई खरीदते लोग।
thaggu ke laddu badnam kulfi kanpur shop latest hindi news
  • comment
दुकान पर लगा साइन बोर्ड।
thaggu ke laddu badnam kulfi kanpur shop latest hindi news
  • comment
ठग्गू के लड्डू पैक करते कर्मचारी।
thaggu ke laddu badnam kulfi kanpur shop latest hindi news
  • comment
मिठाई खरीदती महिलाएं।
X
thaggu ke laddu badnam kulfi kanpur shop latest hindi news
thaggu ke laddu badnam kulfi kanpur shop latest hindi news
thaggu ke laddu badnam kulfi kanpur shop latest hindi news
thaggu ke laddu badnam kulfi kanpur shop latest hindi news
thaggu ke laddu badnam kulfi kanpur shop latest hindi news
thaggu ke laddu badnam kulfi kanpur shop latest hindi news
thaggu ke laddu badnam kulfi kanpur shop latest hindi news
thaggu ke laddu badnam kulfi kanpur shop latest hindi news
thaggu ke laddu badnam kulfi kanpur shop latest hindi news
thaggu ke laddu badnam kulfi kanpur shop latest hindi news
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें