पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

योगी से नहीं हो पाई TCS के वीपी की मुलाकात, कर्मचारियों से कहा- कंपनी का जाना तय

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
लखनऊ. टाटा कंसलटेंसी सर्विस (TCS) के वीपी आलोक कुमार शुक्रवार को लखनऊ आए। यहां उन्होंने अपने कर्मचारियों से कह दिया कि इस महीने ऑफिस शिफ्ट होगा। सभी कर्मचारी इसकी तैयारी कर लें। बता दें, टीसीएस के वीपी और कुछ अधिकारी सीएम से मुलाकात करने आए थे लेकिन मुलाकात नहीं हो सकी। इसके बाद अधिकारी लखनऊ में कंपनी बंद करने का फरमान सुनाकर चले गए।
 
 
जूनियर अफसरों से सीएम ने नहीं की मुलाकात 
- जानकारी के मुताबिक शुक्रवार को टीसीएस के वीपी हेड आलोक कुमार व कुछ अन्य अधिकारी यहां मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिलने आए थे। मगर इनकी मुलाकात सीएम से हो नहीं पाई। 
- दरअसल सीएम ने कंपनी के सीईओ व सीओओ को इस मुद्दे पर बात करने के लिए यहां बुलाया था, लेकिन उनकी जगह वीपी हेड व अन्य जूनियर अफसरों को मिलने भेज दिया गया।
- सूत्रों की मानें तो सीएम को यह बात नागवार गुजरी और उन्होंने जूनियर अधिकारियों से मिलने से मना कर दिया। 
- इसके बाद कंपनी के आला अधिकारियों और सीएम कार्यालय के बीच हुई बातचीत के बाद यह तय हुआ कि टीसीएस के सीईओ व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की मुलाकात 10 अगस्त के बाद होगी।
 
कर्मचारियों पर बनाया जा रहा ट्रांसफर का दबाव 
- वहीं, कर्मचारियों की मानें तो सचिवालय से लौटने के बाद अधिकारी टीसीएस ऑफिस पहुंचे और यहां उनसे कहा कि लखनऊ से कंपनी का जाना तय है। यहां सभी प्रोजेक्ट मैनेजर से कहा गया है कि दो हफ्तों में कर्मचारियों को नोएडा और इंदौर रिपोर्ट करना है। 
- कर्मचारियों का यह भी कहना है कि उन पर ट्रांसफर लेने का दबाव बनाया जा रहा है और ऐसा न करने पर बाहर का रास्ता दिखाने की धमकियां तक मिल रही हैं।
 
अखिलेश और रतन टाटा के बीच साइन हुआ था MOU
- कंपनी के आॅफिशियल्स के मुताबिक टाटा कंपनी के प्रमुख रतन टाटा ने दिसंबर 2015 में यूपी दौरे के समय तत्कालीन सीएम अखिलेश यादव को भरोसा दिलाया था कि राज्य के विकास में टाटा हर संभव मदद करेगी।
- इस दौरान दोनों तरफ के अफसरों ने MOU पर साइन भी किया था। बता दें कि कई वर्कर्स लखनऊ में काम मिलने की वजह से कम सैलरी पर भी टीसीएस में काम करने को तैयार हुए थे। अब उसी पैकेज पर दूसरी जगहों पर जाना उनके लिए बड़ी समस्या है।

2 हजारप्रोफेशनल्सपर संकट
- अगर टीसीएस लखनऊ से शिफ्ट होता है तो यहां काम कर रहे करीब 2 हजार आईटी प्रोफेशनल्स और उनके परिवार के लिए दिक्कतें हो जाएंगी। इस मामले में इससे पहले यहां काम कर रहे वर्कर्स ने यूपी और केंद्र सरकार को लेटर लिखा था।
 
1984 में खुला था ऑफिस
- लखनऊ में टीसीएस 1984 से ऑपरेट कर रही है। 1988 तक इसका ऑफिस राणा प्रताप मार्ग पर था। 1988 से 2008 तक ये स्टेशन रोड से ऑपरेट किया जाता रहा। 2008 में इसे गोमतीनगर शिफ्ट कर दिया गया।
खबरें और भी हैं...