• Hindi News
  • Home Minister Rajnath Singh Got Title Doctor Of Law BBAU Convocation

अंबेडकर यूनिवर्सिटी के दीक्षांत समारोह में गृहमंत्री राजनाथ सिंह बने डॉक्टर

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
लखनऊ. अंबेडकर यूनिवर्सिटी मंगलवार को अपना पांचवां दीक्षांत समारोह मनाया। गृहमंत्री राजनाथ सिंह और राज्यपाल राम नाइक ने बतौर मुख्य अतिथि कार्यक्रम में शिरकत की। समारोह में 96 मेधावियों को गोल्ड मेडल दिया गया। साथ ही एक हजार 949 छात्रों को डिग्रियां मिली। इसमें पीजी के एक हजार 799 छात्र, एमफिल के 81 और 69 पीएचडी धारक शामिल हैं। दीक्षांत समारोह में राज्यपाल ने गृहमंत्री राजनाथ को डॉक्टर ऑफ लॉ की मानद उपाधि दी। वहीं, मदन मोहन मालवीय की पोती डॉ. मंजु शर्मा को डीएससी की मानद उपाधि मिली।

इसके अलावा बीबीएयू सभागार का नाम भी बदला गया। पूर्व पीएम और भारत रत्न अटल बिहारी के नाम पर सभागार का नाम रखा गया है। वहीं, लाइब्रेरी का नाम गौतम बुद्ध के नाम पर करने का ऐलान हुआ। राजनाथ ने इस दौरान छात्रों को संबोधित किया। गृहमंत्री ने कहा कि उन्होंने समाज को कुछ नहीं दिया, बल्कि आज वह जो कुछ भी हैं, समाज की वजह से ही हैं। इस दौरान उन्होंने छात्रों को आने वाले भविष्य की शुभकामनाएं भी दी। इस दौरान राज्‍यपाल ने मेडल लेने वाले छात्र-छात्राओं को बधाई के साथ-साथ उनको गुरुमंत्र भी दिया।
समारोह पर चढ़ा राष्‍ट्रवाद का रंग
वीसी प्रो. आरसी सोबती ने बीबीएयू की प्रगति रि‍पोर्ट पढ़ी। उन्होंने कहा कि यहां थिंकर रि‍सर्च सेंटर स्‍थापि‍त कि‍या जाएगा। इ‍समें पं. दीन दयाल उपाध्‍याय, स्‍वामी वि‍वेकानंद, सरदार बल्‍लभ भाई पटेल, गौतम बुद्ध सहि‍त अन्‍य दार्शनि‍कों के कृति‍यों पर शोध कि‍या जाएगा। इसके लि‍ए यूजीसी को प्रस्‍ताव भेजा गया है। उन्होंने बताया कि आगामी 14 अप्रैल 2015 को अंबेडकर की 125वीं जयंती है। इस अवसर पर वर्षभर कार्यक्रम संचालि‍त कि‍ए जाएंगे। मानव संसाधन वि‍कास मंत्री स्‍मृति ईरानी इसका उद्घाटन करेंगी।
बदल गया ड्रेस कोड
दीक्षांत समारोह में गृहमंत्री राजनाथ और राज्यपाल राम नाइक के अलावा मेयर दिनेश शर्मा, पूर्व सांसद लालजी टंडन भी मौजूद रहे। इस दौरान वीसी ने कहा कि बीबीएयू देश की पहली पेपरलेस यूनिवर्सिटी बनेगी। उन्होंने कहा कि दीक्षांत समारोह के लिए इस बार ड्रेस कोड में बदलाव किए गए हैं। अगले साल पूरी भारतीयता का पालन किया जाएगा।
भारत रत्न अटल के नाम पर हुआ सभागार का नामकरण
कार्यक्रम में बोर्ड ऑफ मैनेजमेंट की तरफ से बीबीएयू सभागार का नाम बदलकर पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्‍न अटल बि‍हारी वाजपेयी के नाम पर करने की संस्‍तुति हुई। इसके अलावा लाइब्रेरी का नाम गौतम बुद्ध पुस्‍तकालय कर दि‍या गया है। कार्यक्रम के दौरान गृहमंत्री ने सेंटर फॉर इमर्जिंग टेक्‍नोलॉजी भवन का लोकापर्ण भी कि‍या। इस दौरान वि‍वि को आगे बढाने के लि‍ए उन्‍होंने गृहमंत्री से 150 करोड रुपए का बजट दि‍लाए जाने की मांग की। कार्यक्रम के दौरान सभी अति‍थि‍यों को कल्‍चर ऑफ साइंस की किताब भी भेंट की गई।
आगे पढ़िए, राजनाथ ने कहा- समाज के वि‍कास में योगदान दें युवा...