--Advertisement--

'राम' से 2 साल बड़ी हैं 'सीता', बोली- विमान से उतरी तो कुछ ऐसा हुआ फील

दीपोत्सव पर अयोध्या में सीता बनीं 22 साल की आंचल इंद्रप्रस्थ (IP) यूनिवर्स‍िटी से मास्टर ऑफ साइंस की पढ़ाई कर रही हैं।

Danik Bhaskar

Oct 23, 2017, 08:00 AM IST
दीपोत्सव पर अयोध्या में सीता बनीं 22 साल की आंचल। दीपोत्सव पर अयोध्या में सीता बनीं 22 साल की आंचल।
लखनऊ. दीपोत्सव पर अयोध्या में सीता बनीं 22 साल की आंचल इंद्रप्रस्थ (IP) यूनिवर्स‍िटी से मास्टर ऑफ साइंस की पढ़ाई कर रही हैं। 2 साल से मॉडलिंग कर रहीं आंचल ने बताया, एक हफ्ते पहले मुझे अयोध्या में सीता के रोल के बारे में बताया गया था। मैं बहुत एक्साइटेड थी, यह अवसर खोना नहीं चाहती थी, दिन-रात मेहनत की। करीब 8 से 10 घंटे यूट्यूब पर सीता का रोल देखा, शीशे के सामने प्रैक्ट‍िस की। DainikBhaskar.com आपको अयोध्या में राम, सीता और लक्ष्मण का रोल करने वाले कलाकारों के बारे में बताने जा रहा है।

आगे की स्लाइड्स में पढ़ें राम और लक्ष्मण ने इंटरव्यू में क्या कहा...

2 साल से कर रही मॉडलिंग, अयोध्या में ऐसे किया सीता का रोल
- मूल रूप से दिल्ली की रहने वालीं आंचल की मां हाउस वाइफ हैं, पापा की इलेक्ट्रॉनिक की शॉप है। वह कहती हैं, बचपन से मेरा डॉक्टर बनने का सपना है। मास्टर ऑफ साइंस करने के बाद P.hd करूंगी।
- मामा और मां की मदद से साल 2015 में मॉडलिंग की दुनिया में आई। 2 साल के करियर में मुंबई, दुबई में मॉडलिंग और अलग-अलग करेक्टर में रोल किया। लेकिन सीता जी का रोल मेरे लिए गॉड गिफ्टेड था।
- जब अयोध्या में पुष्पक विमान से उतरी तो मेरे दाहिने ओर राम जी और बाईं तरफ लक्ष्मण जी थे। सामने सीएम योगी, राज्यपाल राम नाईक और कुछ मंत्री थे।
- सीएम मेरे सामने आए और बोले- आप लोग बहुत अच्छे हैं, मुझे बहुत खुशी हुई, आपका स्वागत है- सीता मां, प्रभु राम जी। उन्होंने हमें माला पहनाई और पूजा की। इसके बाद वो हमारे साथ चलने लगे।
- जब सीएम और राज्यपाल पूजा कर रहे थे, तब मैं बहुत एक्साइटेड थी। मैंने खुद को सीता जी के रोल में कैसे ढाला ये तो भगवान ही जानता है, लेकिन मैंने धैर्य रखा। यह मेरी लाइफ का सबसे बड़ा अचीवमेंट है।
दिल्ली के रहने वाले 20 साल के हेमंत कालरा ने राम के   रोल में थे। दिल्ली के रहने वाले 20 साल के हेमंत कालरा ने राम के रोल में थे।
राम का रोल करने वाले हेमंत बनना चाहते थे क्रिकेटर
- दिल्ली के रहने वाले 20 साल के हेमंत कालरा ने राम के रोल में थे। बीकॉम कर चुके हेमंत ने 4 महीने पहले ही मॉडलिंग शुरू की। वह कहते हैं, मैं बचपन से क्रिकेटर बनना चाहता था। 15 साल की उम्र में मुझे लगा कि मैं अच्छा क्रिकेट नहीं खेल पाऊंगा, इसलिए उसकी उम्मीद छोड़ दी।
- इसके बाद मॉडलिंग और एक्टि‍ंग में करियर बनाने का मन बनाया। बड़ी बहन कृति ने इस फील्ड में आने में मेरी मदद की। 4 महीने पहले मैंने मॉडलिंग शुरू की। 18 अक्टूबर (दीपोत्सव) से 4 दिन पहले मुझे बताया गया कि अयोध्या में सीएम योगी के सामने राम का रोल करना है।
- इस रोल को निभाने के लिए मैंने काफी मेहनत की। मां के साथ बचपन में टीवी पर रामायण देखा था। बहन ने भी इस रोल के लिए मेरी बहुत मदद की। चेस्ट चौड़ा करना, भगवान राम की तरह चलना, फेस में कोई शिकन न आना, ज्वेलरी पहन और धनुष उठाकर चलने की काफी प्रैक्ट‍िस की थी।
- 4 महीने की मॉडलिंग में मैंने 7 से 8 रोल किए। दुबई में भी एक मॉडलिंग शो में हिस्सा ले चुका हूं।
- जब अयोध्या में पुष्पक विमान से उतरा तो योगी जी ने कहा- आपका स्वागत है अयोध्या महाराज, मैंने उनकी आंख में आंख मिलकर देखा। जिनको हम टीवी पर देखते थे, वो हमारा स्वागत कर रहे थे। वह बिल्कुल उसी तरह मेरा आदर कर रहे थे, जैसे सच में उनके सामने भगवान राम आए हों।
यूपी के मुजफ्फरनगर जिले के रहने वाले 25 साल के विक्रांत ठाकुर ने लक्ष्मण का रोल किया था। यूपी के मुजफ्फरनगर जिले के रहने वाले 25 साल के विक्रांत ठाकुर ने लक्ष्मण का रोल किया था।
लक्ष्मण बने विक्रांत पर फैमिली ने बनाया था ये दबाव
- मूलरूप से यूपी के मुजफ्फरनगर जिले के रहने वाले 25 साल के विक्रांत ठाकुर के कपता का अपना बिजनेस है, मां टीचर हैं।
- मराठी मूवी में रोल कर चुके विक्रांत कहते हैं, मेरा बचपन से ही एक्टर बनने का सपना था, लेकिन घरवालों का दबाव था कि पहले पढ़ाई पूरी करो, फिर मॉडलिंग की फील्ड में उतरना। 2016 में मैंने मॉडलिंग शुरू की। दीपोत्सव से 2 दिन पहले मुझे बताया गया कि लक्ष्मण का रोल करना है।
- मैं इस मौके को खोना नहीं चाहता था, ढेड़ साल के मॉडलिंग करियर में कई रोल करने का मौका मिला, लेकिन लक्ष्मण का रोल अकल्पनीय था। मैंने यूट्यूब के जरिए लक्ष्मण के रोल को खुद में उतारा। रामायण के वीडियो देखे।
- कोई भी डायलॉग नहीं बोलने थे, बस बॉडी लैंग्वेंज परफेक्ट रखनी थी। जब पुष्पक विमान से उतरा, तो सबसे पहले सीएम योगी ने श्रीराम जी को टीका किया फिर मुझे टिका किया। फिर मंच पर आरती उतरी गई। मुझे न कोई रिएक्शन देना था और न इधर-उधर देखना था। भगवान की कृपा थी कि मेरे रोल अच्छे से कर लिया।
Click to listen..