पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कानपुर ट्रेन हादसे का मास्‍टरमाइंड गिरफ्तार, काठमांडू में खुफिया एजेंसियां कर रही पूछताछ

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
लखनऊ.   कानपुर ट्रेन हादसे के मास्‍टरमाइंड शम्‍शुल होदा को नेपाल की राजधानी काठमांडू से गिरफ्तार कर लिया गया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, खुफिया एजेंसियां उससे पूछताछ कर रही हैं। पूछताछ के बाद कई अहम खुलासे हो सकते हैं। बताया जा रहा है कि शम्शुल भारत में कई ट्रेन हादसों के लिए जिम्मेदार है। बता दें, 20 नवंबर 2016 को हुए कानपुर ट्रेन हादसे में पटना-इंदौर एक्सप्रेस ट्रैक से उतर गई थी। इसमें 150 से ज्यादा लोगों की जान गई थी। खुफिया एजेंसियां पहले से नेपाल में थीं मौजूद... 

- रिपोर्ट्स के मुताबिक, आरोपी होदा को डिपोर्ट करने के लिए नेपाल और भारतीय जांच एजेंसियों ने दबाव डाला था, जिसके बाद उसे काठमांडू लाया गया। 
- उसके दुबई से नेपाल डिपोर्ट किए जाने की बात कही जा रही है। जानकारी के मुताबिक, भारतीय जांच एजेंसियां पहले से ही नेपाल के काठमांडू में मौजूद थीं।
- काठमांडू में होदा से एनआईए और नेपाल पुलिस की स्पेशल ब्यूरो ने 2 दिनों तक पूछताछ की, जिसके बाद उसे नेपाल के कलैया ले जाया गया, जहां उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई शुरू की जानी है। 
 
ऑडियो क्लिप की गई थी बरामद 
- मामले में नेपाल से गिरफ्तार किए गए ब्रज किशोर गिरी के फोन से एक ऑडियो क्लिप बरामद की गई थी। 
- इस क्लिप में कानपुर रेल हादसे की साजिश की बात सामने आई थी। 
- नेपाल पुलिस ने एनआईए समेत तमाम जांच एजेंसियों को ये ऑडियो क्लिप सौंप दी है। 
- बता दें कि एनआईए ने हाल ही में इस मामले में 3 एफआईआर दर्ज की हैं।
 
ट्रैक उड़ाने के लिए हुआ प्रेशर कुकर का इस्‍तेमाल 
- कानपुर ट्रेन हादसे (पुखरायां-रूरा) के मामले में यूपी एटीएस और आईजी रेलवे ने 18 और 19 जनवरी को बिहार के मोतिहारी में आरोपियों से पूछताछ की थी। 
- पूछताछ में आरोपी मोतीलाल पासवान ने बताया था कि उसने 7 अन्य लोगों के साथ मिलकर 2 बार कानपुर के पास रेलवे ट्रैक को नुकसान पहुंचाया।
- उसने बताया था कि इसके लिए 10 लीटर के प्रेशर कुकर में विस्फोटक भरकर इम्‍प्रोवाइज्‍ड एक्‍सप्‍लोसिव डिवाइस (IED) तैयार किया गया था। 
- इस खुलासे के बाद इस बात के संकेत मिलने लगे थे कि इस हादसे के पीछे ISI की साजिश हो सकती है। 

बिहार पुलिस ने किया था दावा- रेल हादसा ISI की साजिश
- 17 जनवरी को बिहार पुलिस ने दावा किया था कि 20 नवंबर को कानपुर के पुखरायां के पास हुआ रेल हादसा ISI की साजिश का नतीजा था। 
- मोतिहारी के एसपी जितेंद्र राणा ने बताया था कि गिरफ्तार किए गए तीन आरोपियों ने ये खुलासा किया है। 
- मुख्‍य आरोपी शम्शुल ने इसके लिए फंडिंग की। जांच में सामने आया कि ये कारोबारी ISI को भी फंडिंग करता है।
 
इन लोगों को गिरफ्तार किया गया 
- इस मामले में शम्शुल समेत अब तक 9 आरोपियों को पकड़ा जा चुका है। 
- मोती पासवान, मुकेश यादव, उमाशंकर पटेल को बिहार के घोड़ासहन से, ब्रजकिशोर, मुजाहिर अंसारी और शंभु गिरी को नेपाल से और जुबैर व जियाउल को दिल्ली से गिरफ्तार किया गया था।
खबरें और भी हैं...