दयाशंकर की पत्‍नी बोली- 'मेरी बेटी भी देवी है', माया ने कहा- गुस्से में थे कार्यकर्ता

6 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
लखनऊ. मायावती पर अभद्र भाषा के प्रयोग के विरोध में बसपाइयों ने दयाशंकर सिंह की पत्नी और उनकी बेटी को निशाने पर लिया तो पत्नी स्वाति सिंह ने मायावती से पूछा है कि क्या उनकी नाबालिग बेटी देवी का स्वरूप नहीं है। वहीं, मायावती ने बसपा कार्यकर्ताओं द्वारा मां-बेटी को निशाने पर लिए जाने पर सफाई देते हुए कहा है कि कार्यकर्ताओं ने गुस्से में यह बात कही है। स्वाति सिंह ने कहा- बेटी ट्रामा में है...
- बसपाइयों के प्रदर्शन के साथ ही भाजपा के पूर्व उपाध्यक्ष दयाशंकर सिंह के परिवार पर मुसीबतों का पहाड़ टूट पड़ा।
- स्वाति सिंह ने बताया कि गुरुवार से ही लगातार मोबाइल पर धमकियां दी जा रही हैं।
- टीवी पर अभद्र भाषा का प्रयोग मेरे लिए और मेरी बेटी के लिए किए जा रहे हैं, जिसकी वजह से मेरी 12 साल की नाबालिग बेटी डर गई है।
- उन्होंने कहा उसे दवाइयां देकर सुलाया जा रहा है। उसने डर की वजह से स्कूल जाने से इनकार कर दिया है।
- किसी भी अनजान से नहीं मिल-जुल रही है। वह बार-बार पूछ रही है कि पापा वापस तो आ जाएंगे।
दयाशंकर ने गलत किया तो हमें क्यों प्रताड़ित किया जा रहा है
- पत्नी स्वाति सिंह ने कहा कि दयाशंकर ने जो भी कहा वह गलत कहा, लेकिन मुझे और मेरे परिवार को प्रताड़ित क्यों किया जा रहा है।
- अगर मायावती के खिलाफ अभद्र भाषा का प्रयोग करना गलत है तो हमारे खिलाफ भी अभद्र भाषा का प्रयोग करना गलत है।
- अब क्या मायावती अपने कार्यकर्ताओं को पार्टी से बाहर निकलेंगी या संसद में हमारे खिलाफ अभद्र भाषा का प्रयोग करने पर वह खुद पार्टी छोड़ेंगी।
पार्टी ने साथ छोड़ा परिवार ने नहीं
- स्वाति कहती है कि दयाशंकर सिंह ने पार्टी को 25 साल दिए हैं, लेकिन उनकी एक गलती की सजा 4 बार दी गई है।
- उन्होंने पहले माफी मांगी, फिर उन्हें पद से हटाया गया, फिर उन्हें पार्टी से निष्काषित किया गया और अब एफआईआर भी की गई।
- पार्टी भले ही साथ छोड़ दे, लेकिन परिवार उनका साथ नहीं छोड़ेगा।
- जब से यह मामला हुआ है तबसे दयाशंकर से परिवार का कोई कॉन्‍टेक्ट नहीं हुआ है।
मायावती की शह पर हमारे खिलाफ अभद्र भाषा का प्रयोग किया
- स्वाति ने आरोप लगाया कि बसपा कार्यकर्ताओं को मायावती, सतीश चन्द्र मिश्रा और नसीमुद्दीन सिद्दीकी की शह मिली हुई थी।
- यही वजह है कि उन लोगों ने हमारे परिवार के खिलाफ अभद्र भाषा का प्रयोग किया।
- बसपा के नेता बार-बार कह रहे थे कि मांं-बेटी को पेश करो। स्वाति ने कहा, ''मैं पूछना चाहती हूंं कि वह बताएं कि मुझे और मेरी नाबालिग बेटी को कहां पेश होना है।
मायावती ने दी सफाई- गुस्से में थे कार्यकर्ता
- मायावती ने कहा कि बसपा कार्यकर्ताओं ने गुस्से में आकर मांं-बेटी के खिलाफ अभद्र भाषा का प्रयोग किया।
- यह मांं-बेटी तब कहांं थी जब दयाशंकर सिंह ने मेरे खिलाफ अभद्र भाषा का प्रयोग किया था। अगर वह निंदा करती तब सही होता।
उनको अहसास करने के लिए बोला गया
- मायावती ने दिल्ली में दिए एक बयान में साफ किया कि कार्यकर्ताओं से उनकी बात हुई है। दयाशंकर सिंह और उसके परिवार को अहसास दिलाने के लिए कार्यकर्ताओं ने ऐसी बात की।
- कार्यकर्ताओं का कहना था कि मायावती भी किसी की बेटी-बहन है, इसलिए ऐसी भाषा का प्रयोग किया, ताकि कोई भी आगे से ऐसी बात ना करे।
खबरें और भी हैं...