पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • Yogi Government Decides No Reservation In Private Medical And Dental Colleges In Up

योगी सरकार का बड़ा फैसला: प्राइवेट मेडिकल-डेंटल कॉलेजों में आरक्षण खत्म

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
लखनऊ. योगी सरकार ने रिजर्वेशन को लेकर अख‍िलेश सरकार के फैसले को लागू किया है। इसके मुताबिक अब राज्य के प्राइवेट मेडिकल और डेंटल कॉलेजों पीजी कोर्सेज में रिजर्वेशन सिस्टम लागू नहीं होगा। बता दें, पूर्व अखिलेश सरकार ने इस आदेश को यूपी व‍िधानसभा चुनाव में काउंटिंग से एक दिन पहले यानी 10 मार्च 2017 को जारी किया था। अब योगी सरकार नए सेशन से इस फैसले को लागू करेगी। dainikbhaskar.com ने सीनियर जर्नलिस्ट श्रीधर अग्निहोत्री से बात की। उन्होंने पूर्व सीएम अख‍िलेश यादव के इस फैसले को लागू करने के पीछे 3 बड़ी वजह बताई...  
 
 
 
- ''अखिलेश की ये सोच थी कि कोई भी पार्टी ऐसा बिल्कुल भी नहीं चाहेगी कि अपर कास्ट के बीच ये मैसेज जाए कि वे किसी एक जाति विशेष के लोगों की पार्टी है। लोगों में सर्व धर्म सम्भाव का मैसेज देने के लिए अखिलेश यादव ने इस तरह का कदम उठाया था।''
 
- ''उनको इलेक्शन में सपा की हार का पहले से ही आभास था, तभी उन्होंने वोट काउंटिंग से पहले ही ऐसा डिसीजन लिया। उन्हें ये भी पता था कि जब तक ये आदेश लागू होगा तब नई गवर्नमेंट आ चुकी होगी। तब जनता समझेगी कि पिछली गवर्नमेंट तो रिजर्वेशन की पक्षधर थी, लेकिन नई सरकार ने इसे खत्म किया। इसका खमियाजा नई सरकार को 2019 के इलेक्शन में भुगतना पड़ेगा।''
 
- ''इलेक्शन से पहले सभी पार्टियां अपने स्तर से सर्वे कराती है। सपा ने भी इस बार अपना सर्वे कराया, जिसमें मालूम पड़ा कि दलित और पिछड़ी जातियों का वोट उनसे हटकर बीजेपी में चला गया है। इसलिए रिजर्वेशन खत्म करने के पीछे नाराजगी भी एक वजह हो सकती है।''
 
इन इंस्टीट्यूट में मिलेगा अल्पसंख्यक को लाभ
- धार्मिक और भाषाई अल्पसंख्यक इंस्टीट्यूट में जो अल्पसंख्यक स्टूडेंट एडमिशन लेने के लिए आवेदन करेगा उसे नियम के आधार पर रिजर्वेशन मिलता रहेगा। आदेश में इसका साफ -साफ जिक्र किया गया है।
- इस आदेश के सामने आने के बाद से कुछ स्टूडेंट्स में नाराजगी है तो कहीं इस सेवा के लाभ से कुछ स्टूडेंट्स खुश हैं। 
 
इतने परसेंट स्टूडेंट्स को रिजर्वेशन में मिलता था लाभ
- अभी तक SC वर्ग के स्टूडेंट्स को एडमिशन में 21 परसेंट, ST को 2 परसेंट, बैकवार्ड क्लास को 27 परसेंट और हंडीकैपेड़ के स्टूडेंट्स को 3 परसेंट रिज़र्वेशन का लाभ मिलता था, लेकिन अब नए आदेश के लागू होने के बाद से उन्हें ये छूट नहीं मिलेगी। बता दें, रिजर्वेशन की शुरुआत साल 2006 में पहली बार मुलायम सिंह यादव ने की थी।
 
आरएसएस पहले ही रिजर्वेशन खत्म करने की कर चुकी है मांग
- आरएसएस के अखिल भारतीय प्रचार प्रमुख मनमोहन वैध ने 20 जनवरी 2017 को जयपुर में आयोजित लिट्रेचर फेस्टिवल में बोलते हुए कहा था कि रिजर्वेशन देश से ख़त्म होना चाहिए।
- उन्होंने कहा था, ''रिजर्वेशन, भारत में SC और ST के लिहाज से अलग संदर्भ में आया है। भीम राव अंबेडकर ने भी कहा है कि किसी भी राष्ट्र में ऐसे रिजर्वेशन का प्रावधान हमेशा नहीं रह सकता। इसे जल्द से जल्द से खत्म कर देना चाहिए। इसके बजाय शिक्षा और समान अवसर का मौका देना चाहिए।'' 
 
खबरें और भी हैं...