--Advertisement--

'द फ्रस्ट्रेटेड इंडियंस' ने यूथ में यूं जगाया वोटिंग का जोश

बढ़े हुए मतदान के पीछे निजी संस्थाएं और मीडिया हाऊस सभी का योगदान रहा है।

Dainik Bhaskar

May 13, 2014, 09:52 PM IST
voting elections percent lok sabha polling uttar pradesh media ngo youa
लखनऊ. लोकसभा चुनाव में मतदान का दौर ख़त्म हो गया है। नौ चरणों में हुए मतदान में मत फीसद भी बढ़ा है। 'द फ्रस्ट्रेटेड इंडियंस' का मतदान के लिए युवाओं में जोश जगाने को लेकर अहम योगदान माना जा रहा है। मतदान की यह बढ़ोतरी पिछले सालों की तुलना में हर लोकसभा सीट पर अधिक है। यूपी में भी मतदान फीसद बढ़ा है, लेकिन इस बढ़े हुए मतदान फीसद के पीछे सरकारी एजेंसियों से लेकर निजी संस्थाओं और मीडिया हाऊस सभी का योगदान रहा है।
यूपी के कुछ युवाओं ने ग्लैमर की चकाचौंध से दूर रहकर भी चुनावी महोत्सव में अपनी जिम्मेदारी निभाई। सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक पर करीब चार लाख से ज्यादा की फॉलोइंग वाले 'द फ्रस्ट्रेटेड इंडियंस' की खास भूमिका रही। इस पेज के एडमिंस देवरिया के योगी राज, कानपुर के राहुल शर्मा ने अपने पेज को ही लोगों को वोट करने के लिए प्रोत्साहित करने का जरिया बना लिया था।

मुंबई के सुनील पांडे, गोवा की शैफाली वैद्य, चेन्नई के के.किशोर वी सुब्रमणियम और पेज के संस्थापक पटना के रहने वाले अतुल मिश्रा के साथ मिलकर उन्होंने सोशियल मीडिया पर एक अलग ही चुनावी महोत्सव शुरू कर दिया। टीएफआई सेल्फी कॉर्निवल नाम देकर लोगों से वोट जरूर देने की अपील की।
यही नहीं वह वोट देने वाले फॉलोवर्स की फोटो अपने कवर पर लगाने लगे। चार लाख से अधिक फॉलोइंग वाले पेज के कवर पर ही सही, पर फोटो लगवाने के बहाने उन्होंने वोट करने वाले सदस्यों का सम्मान किया। योगी राज बताते हैं कि अब तक 70 से ज्यादा लोगों को उन्होंने सम्मानित किया है। 100 से ज्यादा लोग ऐसे भी हैं, जिनके फोटो पेंडिंग हैं, जिन्हेंअभी लगाया जाना है।
आगे पढ़िए टीएफआई सेल्फी कॉर्निवल के बारे में...
voting elections percent lok sabha polling uttar pradesh media ngo youa
जिम्मेदारी का एहसास है टीएफआई सेल्फी कॉर्निवल
 
'द फ्रस्ट्रेटेड इंडियंस' पेज के फाउंडर अतुल कहते हैं कि पेज बनाते समय से लेकर अब तक बहुत कुछ बदल गया है। शुरूआत में सिर्फ अपने अंदर के विचारों को लोगों तक पहुंचाने की बात दिमाग में थी। पर, जब लगा कि लोग इन बातों को गंभीरता से लेते हैं और हर स्टेटस पर प्रतिक्रिया देते हैं तो लेखनी और मुद्दों में फर्क आ गया।
 
समय के साथ बदलाव आया और यह पेज लोगों के लिए अपनी बात कहने का प्लेटफार्म बन गया। लोगों के इस शौक ने ही हम लोगों में जिम्मेदारी का भाव पैदा किया। जिसके बाद इसी जिम्मेदारी के एहसास ने टीएफआई सेल्फी कॉर्निवल को लोगों के सामने लाने में अहम भूमिका निभाई।
 
युवा जोश को सही दिशा देने की थी जिम्मेदारी 
 
एडमिन का काम करने वाले राहुल कहते हैं कि अन्ना के आंदोलन से लेकर गवर्नमेंट की कारगुजारिओं के गंभीर मुद्दों पर जोरदार प्रतिक्रिया मिल रही थी। यह जोश मुद्दे पर था और हमेशा की तरह मुद्दे के खत्म होने के साथ ही खत्म हो जाता। इसीलिए हमारी टीम ने इस जोश को पॉजिटिव रूट पर ले जाने की सोची। कंटेंट को और बेहतर स्तर तक ले जाने के लिए और साथियों को जोड़ा गया। सभी एडमिंस ने साथ में मंथन किया और टीएफआई सेल्फी कॉर्निवल सामने आ गया।

ये हैं टीएफआई ('द फ्रस्ट्रेटेड इंडियंस') की एडमिन टीम
 
पटना के अतुल मिश्रा (संस्थापक)- आईटी प्रोफेशनल
राहुल शर्मा, कानपुर- रिसर्च स्कॉलर 
योगी राज, देवरिया- युवा उद्यमी 
सुनील पांडे, मुंबई- आईटी प्रोफेशनल 
सुनील श्रीवास्तव, भोपाल- फाइनेंस प्रोफेशनल 
शेफाली वैद्य, गोवा- फ्रीलान्स जर्नलिस्ट 
किशोर वी रामसुब्रमण्यम, चेन्नई- बिज़नेस डेवलपमेंट प्रोफेशनल
X
voting elections percent lok sabha polling uttar pradesh media ngo youa
voting elections percent lok sabha polling uttar pradesh media ngo youa
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..