• Hindi News
  • Boxers Suffering Food Poisoning In Uttar Pradesh

बॉक्सर हुए फूड प्वॉइजनिंग का शिकार, खाने का किया बहिष्कार

6 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
मुजफ्फरनगर. चौधरी चरण सिंह स्पोर्ट्स स्टेडियम में चल रही राज्य स्तरीय सब जूनियर बॉक्सिंग चैम्पियनशिप में आए करीब 350 बच्चों में से एक दर्जन से ज्‍यादा बॉक्सर फूड प्वॉइजनिंग का शिकार हो गए। बताया जा रहा है कि यहां खिलाड़ियों को खराब और बासी खाना दिया गया।
साथियों ने किया हंगामा
खराब खाना आकर बीमार हुए खिलाड़ियों के साथियों ने रविवार को स्पोर्ट्स स्टेडियम में जमकर हंगामा किया। इसके बाद उन्होंने खाने का बहिष्कार कर दिया। वहीं, मामले में फिलहाल कोई भी प्रशासनिक अधिकारी बोलने को तैयार नहीं है।
क्या कहना है खिलाड़‍ियों का?
कॉम्पिटिशन में पार्टिसिपेट करने कानपुर से आए खिलाड़ी दीपक वर्मा ने बताया कि 11 से 14 फरवरी तक चली इस चैम्पियनशिप के लिए हम 10 फरवरी को आए थे। उसी दिन से हमें यहां ठीक से खाना नहीं दिया जा रहा है। हमारे 8 से 10 साथी बीमार हैं। फेडरेशन खिलाड़ियों को अच्छी डाइट देने के लिए कहती है, लेकिन हमें बासी खाना दिया जा रहा है। बीमार हुए खिलाड़ी वैभव और सुनील यादव ने बताया कि हमें कच्चा-पक्का खाना ही मिल रहा है। पाउडर वाला दूध दिया जाता है। सभी खिलाड़ियों को बुखार आया है। मेडिकल की भी यहां कोई व्यवस्था नहीं है।
क्या कहना है अधिकारी का?
मामले में जिला क्रीड़ा अधिकारी प्रेम कुमार ने खिलाड़ियों के आरोप को झूठा बताते हुए कहा कि ऐसा कुछ नहीं है। बच्चों को रजाई, गद्दे और शुद्ध खाना दिया जा रहा है। बॉक्सिंग सचिव सतीश जी से उनका विवाद हो गया था। इसी बात को लेकर सतीश जी बच्चों से झूठे आरोप लगवा रहे हैं। प्रेम कुमार के मुताबिक, सतीश जी बॉक्सिंग रिंग को खुले में रखवाना चाहते थे, जिसके लिए उन्होंने इनकार कर दिया। लेकिन अब बच्चे तो वही कहेंगे, जो बॉक्सिंग संघ वाले कहेंगे। उधर, जिला प्रशासन मामले की जांच करने की बात कह रहा है।
आगे की स्लाइड्स में देखिए, फोटोज...