--Advertisement--

पति को काटकर नमक के साथ घर में किया था दफन, सजा सुन निकले आंसू

घटना का खुलासा होने पर वर्षा ने कहा था कि यदि वह उसे नहीं मारती तो राजेंद्र उसे और उसके बच्चों को मार देता। उसका पति उस पर शक करता था।

Dainik Bhaskar

Jul 07, 2015, 10:04 AM IST
सजा सुनाए जाने के बाद पति की हत्या करने वाली वर्षा को जेल भेज दिया गया। सजा सुनाए जाने के बाद पति की हत्या करने वाली वर्षा को जेल भेज दिया गया।
मेरठ. पति को काटकर नमक के साथ घर में दफन करने वाली महिला को सोमवार को जिला न्यायाधीश रामकिशन गौतम की कोर्ट ने दोषी करार दिया। कोर्ट ने उसे आजीवन कैद और 25 हजार रुपए जुर्माने की सजा सुनाई। सजा का एलान होते ही, उसकी आंखों से आंसू छलक पड़े। महिला ने तीन साल पहले गंगानगर में इस वारदात को अंजाम दिया था। सजा सुनाए जाने के बाद महिला को जेल भेज दिया गया। बता दें कि, 27 मार्च, 2012 को इंचौली थानाक्षेत्र के गंगानगर में इस घटना के बाद सनसनी फैल गई थी। तीन साल तक चली सुनवाई में पुलिस ने 11 गवाह और तमाम सबूत कोर्ट के सामने पेश किए।
नमक के पैकेट देखकर हुआ था शक
मंजू नाम की महिला ने वर्षा पटेल के पति राजेंद्र पटेल से मकान का सौदा किया था। मंजू मकान पर कब्जा लेने पहुंची तो राजेंद्र के बारे में पूछा। वर्षा ने बताया कि राजेंद्र गुजरात गए हैं। तभी मंजू की नजर घर में पड़े दर्जनों नमक के पैकेट्स पर पड़ी। उसने घर के अंदर एक जगह पर ताजा फर्श भी बना हुआ देखा। उसे कुछ शक हुआ तो उसने पड़ोसियों से इस बारे में पूछताछ की। थोड़ी देर बाद उसने पुलिस को सूचना दे दी। जब पुलिस ने फर्श खोदा तो अंदर राजेंद्र का शव था। पति की हत्या के आरोप में वर्षा को तुरंत गिरफ्तार कर लिया गया था।
शराब में मिला दी थी नींद की गोलियां
पति की हत्या करने से पहले वर्षा ने उसकी शराब में नींद की गोलियां मिला दी थीं। बेहोशी की हालत में उसने पति की गर्दन पर दांव (तेज धारदार हथियार) से ताबड़तोड़ वार कर मौत की नींद सुला दिया। इसके बाद उसने शव को घर में ही गड्ढा खोदकर दफना दिया। घटना का खुलासा होने पर वर्षा ने कहा था कि यदि वह उसे नहीं मारती तो राजेंद्र उसे और उसके बच्चों को मार डालता। उसका पति उस पर शक करता था और आए दिन उसे मारता था।
आगे की स्लाइड्स में पढ़िए, दोनों ने की थी लव मैरिज ....
कोर्ट से बाहर निकलती वर्षा। कोर्ट से बाहर निकलती वर्षा।
वर्षा ने की थी लव मैरिज
पुलिस के अनुसार, गुजरात के पालन जिला निवासी राजेंद्र पटेल की पहली पत्नी की मौत के बाद उसका वर्षा के साथ अफेयर हो गया था। साल 2002 में दोनों ने लव मैरिज की थी। इसके बाद साल 2008 में राजेंद्र वर्षा के साथ गंगानगर में मकान खरीद कर रहने लगा। इसी दौरान राजेंद्र को पत्नी के अवैध संबंध होने का शक होने लगा था। 
 
फैसला सुनते ही निकले वर्षा के आंसू
जज ने जब राजेंद्र पटेल हत्याकांड का फैसला सुनाया तो कोर्ट में मौजूद आरोपी वर्षा के चेहरे का रंग उड़ गया। कोर्ट में ही वो फूट-फूटकर रोेने लगी। जब तक वह कोर्ट में रही लगातार रोती रही। फैसला आने के बाद उसने किसी से बात नहीं की। कोर्ट की कार्रवाई पूरी होने के बाद उसे कड़ी सुरक्षा के बीच जेल भेज दिया गया। उसके बच्चे अब रिश्तेदार के पास रहते हैं।
X
सजा सुनाए जाने के बाद पति की हत्या करने वाली वर्षा को जेल भेज दिया गया।सजा सुनाए जाने के बाद पति की हत्या करने वाली वर्षा को जेल भेज दिया गया।
कोर्ट से बाहर निकलती वर्षा।कोर्ट से बाहर निकलती वर्षा।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..