--Advertisement--

धरने का 20वां साल, अभी भी नहीं मिला मुजफ्फरनगर के मास्‍टर विजय सिंह को न्‍याय

भू माफियाओं के खिलाफ मुजफ्फरनगर कचहरी परिसर में पिछले 19 साल से धरना दे रहे हैं मास्टर विजय सिंह। धरने

Dainik Bhaskar

Feb 26, 2015, 09:43 PM IST
Master Vijay Singh continues his protest against land mafia in muzaffarnagar
मेरठ/मुजफ्फरनगर. भू माफियाओं के खिलाफ मुजफ्फरनगर कचहरी परिसर में पिछले 19 साल से धरना दे रहे हैं मास्टर विजय सिंह। धरने पर बैठे मास्‍टर ने अपनी सरकारी नौकरी तक दांव पर लगा दी। यही नहीं उनके धरने पर बैठने के कारण परिजनों ने भी उनसे दूरियां बना ली हैं। ऐसे में अब सबसे बड़ा सवाल यही है कि अखि‍र कब मास्‍टर विजय सिंह को न्‍याय मिलेगा।
भूमाफियाओं के खिलाफ धरने पर बैठे हुए मास्टर विजय सिंह को आज 19 साल हो गए हैं। मास्टर विजय सिंह के धरने ने 20वें साल में प्रवेश कर लिया है। इस धरने को लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड, एशिया बुक ऑफ रिकॉर्ड, इंडिया बुक ऑफ़ रिकॉर्ड में सबसे लंबा धरना घोषित किया गया है। 20 साल परिवार से अलग रहने के कारण मास्टर विजय सिंह के संबंध अपने परिवार से मधुर नहीं हैं। उनका कहना है की इतना लंबा समय कोई किसी को बर्दास्त नहीं कर सकता है।

26 फरवरी 1996 में बैठे थे धरने पर

26 फरवरी 1996 में मास्टर विजय सिंह ने समाजसेवा और राष्ट्रसेवा के चलते भूमाफियाओं के खिलाफ अकेले ही लड़ने का दृढ़ निश्चय कर डीएम ऑफि‍स पर धरने पर बैठ गए थे। कड़कड़ाती ठंड और लू के थपेड़े भी मास्टर विजय सिंह के हौसले को पस्‍त नहीं कर पाए। मास्टर विजय सिंह के अनुसार, उनके गांव चोसाना में लगभग चार हजार बीघा सरकारी भूमि पर कुछ दबंग भूमि माफियाओं का कब्जा है, जिसके लिए वो पिछले 20 साल से धरने पर है। उनके इस संघर्ष से तीन सौ बीघा जमीन से कब्जा मुक्त हो चुका है। 3,200 बीघा भूमि पर शासन की ओर से रिपोर्ट आ चुकी है,लेकिन राजनैतिक हस्तक्षेप के कारण कार्रवाई प्रभावित है।

आखिरी सांस तक लड़ेंगे

मास्टर विजय सिंह के अनुसार, अपनी इस लड़ाई को वो आखरी सांस तक लड़ेंगे। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और अन्ना हजारे द्वारा भ्र्ष्टाचार और काले धन की वापसी लेकर दिल्ली के रामलीला मैदान में चलाए गए धरने पर भी मास्टर विजय सिंह ने अपनी उपस्तिथि दर्ज कराई। अरविंद केजरीवाल ने धरना प्रदर्शन छोड़ राजनीती में अपना हुनर दिखाकर दिल्ली की सत्ता कब्जा ली,लेकिन आज भी मास्टर विजय सिंह जैसे कई और लोग भी हैं जो अपने लिए नहीं, बल्कि राष्ट्रप्रेम और बुराई पर अच्छाई की जीत के लिए राष्ट्रपिता महात्मा गांधी द्वारा बताए गए रास्ते पर चलकर लड़ाई को जारी रखना चाहते है। अब सवाल यही उठता है कि आखिर कब इन लोगों को न्याय मिलेगा।
फोटो: धरने पर बैठे मास्‍टर विजय सिंह।
X
Master Vijay Singh continues his protest against land mafia in muzaffarnagar
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..