विज्ञापन

18 साल से भ्रष्टाचार के खि‍लाफ लड़ रहा दुनि‍या का सबसे बड़ा सत्‍याग्रही / 18 साल से भ्रष्टाचार के खि‍लाफ लड़ रहा दुनि‍या का सबसे बड़ा सत्‍याग्रही

dainikbhaskar.com

Feb 27, 2014, 12:27 PM IST

एक अध्‍यापक ने भ्रष्टाचार और भू-माफियाओं के खिलाफ संघर्ष करते हुए गुजार दिए 18 साल।

protest against corruption since 18 years
  • comment
मेरठ/मुजफ्फरनगर. गांधी जी ने जब देश आजाद कराने के लिए सत्याग्रह किया, तो वे अकेले नहीं थे, पूरे हिंदुस्तान ने उनका साथ दिया। जब अन्ना हजारे ने भ्रष्‍टाचार के खिलाफ सत्याग्रह किया तब उन्‍हें भी लाखों लोगों का साथ मि‍ला। हम बाबा रामदेव का आंदोलन भी देख चुके हैं। आज हम आपको एक ऐसे इंसान से मिलवाने जा रहे हैं जिसने अपनी जि‍न्दगी के 18 साल भ्रष्टाचार और भू-माफियाओं के खिलाफ संघर्ष करते हुए गुजार दिए।
भ्रष्टाचार का वि‍रोध कर रहे एक अध्‍यापक विजय सिंह पि‍छले 18 सालों से धरने पर बैठे हैं। दुनिया का सबसे बड़ा सत्याग्रह करने के लि‍ए उन्‍हें लिम्का बुक ऑफ अवार्ड और एशिया बुक ऑफ अवार्ड से नवाजा जा चुका है। इसके साथ ही उनका नाम गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड में शामि‍ल करने के लि‍ए भेजा जा चुका है।
इस संघर्ष में विजय सिंह की नौकरी चली गई। उनका परि‍वार, नाते-रि‍श्‍तेदार सब छूट गए। भू-माफियाओं ने इनके मित्र की हत्या कर दी। वि‍जय का घर जल दिया लेकिन इनका हौसला आज भी चट्टान की तरह मजबूत है। अब धरनास्थल ही विजय सिंह का घर है। 26 फरवरी 1996 को जब विजय सिंह ने भू-माफियाओं के खिलाफ जंग छेड़ी और मुजफ्फरनगर की कचहरी में धरने पर बैठे, तब उन्हें भी नहीं पता था कि‍ अपने जीवन का एक बहुत बड़ा हिस्सा वो इस लड़ाई को देने वाले हैं।
यूपी स्‍थि‍त जिला शामली के गांव चोसाने नि‍वासी वि‍जय पेशे से शिक्षक थे। अपने गांव की सरकारी जमीन पर शोध करने के दौरान उन्होंने पाया कि‍ 4000 बीघा भूमि पर भू-माफियाओं का कब्‍जा है। इनमें एक पूर्व विधायक सहित कई दबंग लोग शामिल थे। विजय ने सरकारी भूमि को कब्ज़ा मुक्त करने के लिए अभियान छेड़ दिया। कई महीनों तक प्रशासन से शिकायत के बावजूद जब कोई हल नहीं निकला तो उन्‍होंने अहिंसात्मक आंदोलन का रास्‍ता चुना।
मामला मीडिया में उछला तो प्रशासन ने जांच की, कार्रवाई हुई। इस दौरान 3200 बीघा जमीन पर घोटाला साबित हुआ। 300 बीघा जमीन को भू-माफियाओं की चंगुल से मुक्त कराया गया, साथ ही 136 मुकदमे भू-माफियाओं के खिलाफ दर्ज हुए। इस बाबत वि‍जय सिंह का कहना है कि‍ अफसर शाही, लाल फीताशाही और कुछ राजनैतिक दबाव के चलते पूरी जमीन कब्जा मुक्त नहीं हो सकी है, लेकिन संघर्ष जारी है। उन्‍होंने भारत की न्‍याय व्‍यवस्‍था में भरोसा जताया है।
आगे देखें तस्‍वीरें...

protest against corruption since 18 years
  • comment
protest against corruption since 18 years
  • comment
X
protest against corruption since 18 years
protest against corruption since 18 years
protest against corruption since 18 years
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन

किस पार्टी को मिलेंगी कितनी सीटें? अंदाज़ा लगाएँ और इनाम जीतें

  • पार्टी
  • 2019
  • 2014
336
60
147
  • Total
  • 0/543
  • 543
कॉन्टेस्ट में पार्टिसिपेट करने के लिए अपनी डिटेल्स भरें

पार्टिसिपेट करने के लिए धन्यवाद

Total count should be

543
विज्ञापन