--Advertisement--

IIT BHU के पूर्व छात्र ने बनाया सॉफ्टवेयर, पूरे देश में पोर्न साइट्स पर लगा सकते हैं बैन

बच्चा छिपकर मोबाइल या लैपटॉप में इन साइट्स को सर्च करने की कोशिश करेगा तो फौरन पता चल जाएगा।

Dainik Bhaskar

Aug 06, 2015, 10:35 AM IST
अपनी टीम के साथ इंजीनियर सुरेश शुक्ला। अपनी टीम के साथ इंजीनियर सुरेश शुक्ला।
वाराणसी. इस समय देश में पोर्न साइट्स बैन की जाएं या नहीं, इसे लेकर बहस छिड़ी हुई है। इस पर कई तरह के अलग-अलग रिएक्शन्स भी मिल रहे हैं। कोई इन साइट्स को बैन करने के पक्ष में है तो कोई इन्हें बैन करना गलत बता रहा है। मामला गर्माता देख सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने तक इन साइट्स पर से बैन हटा दिया गया है, लेकिन यूपी के एक इंजीनियर ने ऐसा सॉफ्टवेयर तैयार किया है, जिससे सभी पोर्न वेबसाइट्स को पूरी तरह से ब्लॉक किया जा सकता है। इसकी खासियत है कि ये हिंदी पोर्न साइट्स को भी ढूंढकर ब्लॉक कर देगा, जबकि मार्केट में मौजूद सॉफ्टवेयर ऐसा नहीं कर पाते हैं। यही नहीं, ये फेसबुक पेज पर अश्लील फोटो और वीडियो को फिल्टर कर तुरंत बंद कर देगा। साथ ही 90 फीसदी पोर्न साइट्स को एक सेकेंड में ट्रैक कर ब्लॉक कर देगा। ये सॉफ्टवेयर, बीएचयू आईआईटी के पूर्व छात्र ने बनाया है।
आईआईटी बीएचयू से साल 2000 में केमिकल डिपार्टमेंट से इंजीनियरिंग करने वाले सुरेश शुक्ला ने पत्नी सोनल शुक्ला और कुछ स्टूडेंट्स के साथ मिलकर INETCLEAN.COM नाम का एक सॉफ्टवेयर तैयार किया है। इसके जरिए लैपटॉप, कंप्यूटर और मोबाइल पर पोर्न साइट्स को ब्लॉक किया जा सकता है। साथ ही इसके इस्तेमाल से बच्चे अपने कंप्यूटर पर या कर्मचारी कंपनी के सिस्टम पर चाहकर भी किसी तरह की एडल्ट साइट्स नहीं खोल सकेंगे। सुरेश के मुताबिक, यदि किसी ने भी इन साइट्स को खोलने की कोशिश की तो रजिस्टर्ड ईमेल एड्रेस पर तुरंत एक मैसेज आ जाएगा। इससे ये पता चल जाएगा कि सिस्टम पर कौन सी साइट, कब खोलने की कोशिश की गई है।
ये है सॉफ्टवेयर की खासियत
सुरेश बताते हैं कि मार्केट में पोर्न साइट्स को ब्लॉक करने के लिए तमाम सॉफ्टवेयर मौजूद हैं, लेकिन उनके बनाए गए सॉफ्टवेयर में कई खासियत है। इसका इस्तेमाल कर कोई चाहकर भी इन वेबसाइट्स को किसी भी तरह से खोल नहीं पाएगा। इसके अलावा वेब की दुनिया में आए दिन नई-नई पोर्न साइट्स अपलोड होती रहती हैं, ये सॉफ्टवेयर उन्हें फिल्टर कर 1 सेकेंड में ब्लॉक कर देगा। इसका चार्ज मात्र 120 रुपए है, जबकि मार्केट में मौजूद सॉफ्टवेयर की कीमत 1500 से शुरू होती है।
मोबाइल के लिए लॉन्च करेंगे सॉफ्टवेयर
सुरेश ने बताया कि कंप्यूटर और लैपटॉप के बाद अब एंड्रॉयड मोबाइल के लिए भी INETCLEAN.COM अपने सॉफ्टवेयर का नया वर्जन लॉन्च करने जा रहा है। ऐसे में मोबाइल पर भी अश्लील पोर्न साइट्स पूरी तरह से बैन हो जाएंगी।
आगे की स्लाइड्स में पढ़िए, दो साल में बनकर तैयार हुआ सॉफ्टवेयर...
आईआईटी बीएचयू के पूर्व छात्र सुरेश शुक्ला और उनकी पत्नी सोनल। आईआईटी बीएचयू के पूर्व छात्र सुरेश शुक्ला और उनकी पत्नी सोनल।
दो साल में बनकर तैयार हुआ सॉफ्टवेयर
सुरेश शुक्ला और उनकी पत्नी सोनल देश-विदेश की बड़ी कंपनियों में काम कर चुके हैं। कुछ साल पहले ही दोनों ने जॉब छोड़कर खुद की कंपनी शुरू की है। सॉफ्टवेयर के बारे में जानकारी देते हुए उन्होंने बताया कि इसे बनाने में पूरे दो साल लगे। इसके अलावा कुछ स्टूडेंट्स की भी इसमें मदद ली गई। इसे तैयार करने में इशिता मिश्रा, महान चतुर्वेदी और सुमित कुमार तिवारी ने भी अहम योगदान दिया। वहीं, आईआईटी बीएचयू के मालवीय सेंटर फॉर इनोवेशन इनक्यूबेशन एंड इंटरप्रेनयोरशिप के को-ऑर्डि‍नेटर प्रोफेसर पीके मिश्रा और पीके श्रीवास्तव ने भी इस साइट को बनाने में मदद की। 
 
देश की सभी पोर्न साइट्स कर सकते हैं ब्लॉक
सुरेश शुक्ला के मुताबिक, ये सॉफ्टवेयर 90 फीसदी अश्लील साइट्स को 30 सेकेंड में ही ट्रैक करके बता देगा कि ये किस तरह की साइट है। उनका दावा है कि अगर सरकार उन्हें मौका दे तो उनके पास एक ऐसा एडवांस सॉफ्टवेयर तैयार है, जिससे वे देश की सभी पोर्न साइट्स को फिल्टर करके ब्लॉक कर सकते हैं। 
 
आगे की स्लाइड्स में पढ़िए, 120 रुपए है सॉफ्टवेयर का चार्ज...
 
 
 
दो साल में बनकर तैयार हुआ सॉफ्टवेयर। दो साल में बनकर तैयार हुआ सॉफ्टवेयर।
120 रुपए है सॉफ्टवेयर का चार्ज
कंपनी की डायरेक्टर सोनल शुक्ला बताती हैं कि इस सॉफ्टवेयर की कीमत 120 रुपए है, जबकि मार्केट में मौजूद अन्य सॉफ्टवेयर की कीमत 1500-2000 रुपए है। इसके अलावा इस सॉफ्टवेयर को परिवार के सभी सदस्य इस्तेमाल कर सकते हैं। फिलहाल, वे अभी इसका चार्ज नहीं ले रहे हैं, क्योंकि ये देश के हित के लिए है। इससे समाज में जागरुकता फैलेगी। 
 
10 अगस्त को सुप्रीम कोर्ट में होगी सुनवाई
सुरेश शुक्ला के अनुसार, उन्होंने सुप्रीम कोर्ट में प्रार्थना पत्र देकर ये जानकारी दी है कि यदि कोर्ट और सरकार उन्हें मौका दे तो वो इस सॉफ्टवेयर की मदद से सभी पोर्न साइट्स को ब्लॉक कर सकते हैं। उन्होंने ये भी दावा किया है कि जो 857 अश्लील साइट्स की लिस्ट सरकार को बैन करने के लिए दी गईं थीं, वो उन्होंने ही उपलब्ध कराई हैं। बता दें कि पोर्न साइट्स पर बैन लगाने के लिए 10 अगस्त को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई होनी है।  
X
अपनी टीम के साथ इंजीनियर सुरेश शुक्ला।अपनी टीम के साथ इंजीनियर सुरेश शुक्ला।
आईआईटी बीएचयू के पूर्व छात्र सुरेश शुक्ला और उनकी पत्नी सोनल।आईआईटी बीएचयू के पूर्व छात्र सुरेश शुक्ला और उनकी पत्नी सोनल।
दो साल में बनकर तैयार हुआ सॉफ्टवेयर।दो साल में बनकर तैयार हुआ सॉफ्टवेयर।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..