शि‍वपाल के करीबी MLC को जेल से आया फोन, हत्‍यारोपी ने दी अंजाम भुगतने की धमकी

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
गाजीपुर. शिवपाल यादव के करीबी एमएलसी विशाल सिंह 'चंचल' को फोन पर जान से मारने की धमकी मिली है। उन्‍होंने इसकी शिकायत पुलिस से की है, लेकिन अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है। बता दें, चंचल गाजीपुर से निर्दली चुनाव जीते हैं और वाराणसी के बड़े उद्योगपति माने जाते हैं। अंजाम भुगतने की मिली धमकी...

- गाजीपुर से एमएलसी विशाल सिंह चंचल का वाराणसी में ऑफि‍स है।
- वे शुक्रवार की शाम अपने आफिस में थे। इसी दौरान एक फोन आया। शख्स ने खुद को आजमगढ़ के जहानाबाद ब्लाक का ब्लाक प्रमुख बताते हुए बातचीत शुरु की।
- उसने आरईएस विभाग के ठेके के एक सिलसिले में बात करते हुए चंचल से उस मामले से दूर रहने की धमकी दी।
- उसने कहा कि एक्ससीईएन ने उसके कहने पर इस ठेके के टेंडर फॉर्म की बिक्री रोक रखी थी।
- एमएलसी के आदमियों ने उस टेंंडर का फार्म क्यों खरीदा।
- चंचल ने जब उसकी बातों का जवाब दिया तो उसने आजमगढ़ के पूर्व विधायक सर्वेश सिंह सप्पू की तरह अंजाम भुगतने की धमकी दी।
- बता दें, करीब सात साल पहले पूर्व सर्वेश सिंह सप्पू की हत्या कर दी गई थी।
- बताया जा रहा है कि इस हत्याकांड में आरोपी संजय यादव आजमगढ़ जेल में बंद है।
- उसने जेल के अंदर से निर्दल चुनाव लड़ते हुए ब्लॉक प्रमुख जहानागंज का चुनाव तो जीत लिया, लेकिन जेल में बंद होने के कारण अभी तक शपथ नहीं ले पाया है।
क्‍या कहते हैं चंचल
- विशाल सिंह चंचल ने बताया कि जेल में बंद हत्‍यारोपी के नाम से मामूली से ठेके को लेकर धमकाने के लिए फोन किया गया था, जबकि इस मामले में मेरा कोई वास्‍ता नहीं है।
- जब से यह धमकी भरा फोन आया है, लगातार एसएसपी और आईजी से कार्रवाई की बात कर रहा हूं, लेकिन अभी तक पुलिस प्रशासन हीलाहवाली में लगा हुआ है। पुलिस के इस ढुलमुल रवैये के चलते ही अपराधियों का मनोबल बढ़ता है।
- जब एक एमएलसी ही सुरक्षित नहीं है तो आम जनता की सुरक्षा की कल्‍पना करना भी बेईमानी है।
आगे की स्‍लाइड्स में देखि‍ए फोटोज...
खबरें और भी हैं...