दबंगों ने देहाड़ी मांगने आए मजदूरों के प्राइवेट पार्ट में पेट्रोल से लगाई आग / दबंगों ने देहाड़ी मांगने आए मजदूरों के प्राइवेट पार्ट में पेट्रोल से लगाई आग

इतना ही नहीं बदमाशों ने मजदूरों को भैंस को लगाने वाला इंजेक्शन भी लगाया।

Oct 25, 2014, 12:56 PM IST
तस्‍वीर में: ठेले पर लेटे पीड़ित मजदूर।
झांसी. उत्‍तर प्रदेश के झांसी में शनिवार को कुछ दबंगों ने कथित तौर पर दो मजदूरों के प्राइवेट पार्ट में पेट्रोल और पशुओं को देने वाला इंजेक्शन लगाया। बताया जा रहा है कि इन मजदूरों ने जब अपने काम के पैसे मांगे तो बदमाश नाराज हो गए और पहले तो मजदूरों के साथ मारपीट की फिर यह कदम उठाया। पीड़‍ित दलित समुदाय के हैं। पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ एससी/एसटी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। हालांकि, अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है।
राष्ट्रीय अनूसूचित जाति आयोग के अध्यक्ष पीएल पुनिया ने मामले की जांच के आदेश दिए हैं। बसपा ने इस घटना को लेकर सपा सरकार के खिलाफ आंदोलन छेड़ने की धमकी दी है। वहीं बीजेपी और कांग्रेस ने भी मामले को लेकर सपा सरकार पर हमला बोला है।
मजदूरों से दरिंदगी
आरोप है कि बदमाशों ने इंजेक्शन में पेट्रोल और भैंस को दिया जाने वाला इंजेक्शन भी लगाया गया। ऐसे भी आरोप हैं कि बदमाशों ने पानी में करंट लगाकर मजदूरों को उसमें जबरन धकेला। जबरदस्ती उनके सारे कपड़े उतार लिए और बीयर की बोतल पर बैठाया। उनके नाखूनों को भी उखाड़ने की कोशिश की गई। दोनों मजदूरों को जख्‍मी हालत में आसपास के लोगों ने अस्पताल में भर्ती कराया है।
कहां के रहने वाले हैं पीड़ि‍त
जानकारी के अनुसार, दलित सुरेंद्र पुत्र शि‍व सिंह और कल्लू पुत्र हजारी लाल महानगर के सीपरी बाजार थानान्‍तर्गत ब्रह्म नगर मोहल्ला निवासी हैं। दोनों दलित मजदूरी करते हैं। दो दिन पहले दोनों ने सत्ताधारी दल से जुड़े सीपरी बाजार थाना क्षेत्र के ग्राम खोड़न में दबंगों के घर पुताई का कार्य किया था। शुक्रवार शाम बाकी बचे पांच हजार रुपए मांगने ये दबंगों के घर गए। आरोपियों ने इन पर घर से चोरी का आरोप लगाते हुए कमरे में बंद कर लिया और घटना को अंजाम दि‍या।
पुलि‍स के अधि‍कारि‍यों ने जानकारी से कि‍या इनकार
आलाधिकारियों से इस मामले के बारे में जानने की कोशि‍श की गई, तो उन्होंने सीएम के आगमन का हवाला देकर कुछ भी पता होने से इनकार कर दिया। बताते चलें कि‍ सीएम अखिलेश यादव 27 अक्टूबर को झांसी के गरौठा क्षेत्र में आ रहे हैं। अधिकारी इसी तैयारी में जुटे हैं।
झांसी दलित अत्याचार की घटना की जांच के आदेश
झांसी की घटना गंभीर मानते हुए राष्ट्रीय अनूसूचित जाति आयोग भी सक्रिय हो गया है। आयोग के अध्यक्ष पीएल पुनिया ने मामले की तत्काल जांच के आदेश दिए हैं। पुनिया ने कहा है कि मामले की जांच कर दोषियों के खिलाफ कठोर कार्रवाई होगी।
पुनिया के मुताबिक आयोग की एक टीम झांसी भेजी जाएगी। मामले की जांच कर दोषियों पर कार्रवाई होगी। उन्होंने बताया कि इससे पहले भी दो घटनाएं हो चुकी हैं। एक घटना में उन्होंने खुद जाकर मामले की जांच की थी जबकि दूसरी घटना की जांच के लिए टीम भेजी गई थी। दोषियों को नहीं बख्शा जाएगा।
आगे पढ़ि‍ए मामले की उच्चस्तरीय जांच कराने की उठी मांग...
X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना