• Hindi News
  • Film Peepli Live Is Repeating Itself In The Village Of Shahid Hemraj

LIVE: शेरनगर में 'पीपली लाइव' का नजारा

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
मथुरा. आपने फिल्‍म पीपली लाइव तो देखी होगी। इसमे कहानी गरीब किसान नत्‍था की थी। वह सरकारी अनुदान के लिए आत्‍महत्‍या की सोचता है। ये बात पीपली रिपोर्टर राकेश को पता चलता है और फिर क्या। टीआरपी के संकट से जूझ रहा खबरिया चैनल खबर ब्रेक करता है। इसके बाद चैनलों की खींचतान में नत्‍था फंसता चला जाता है।
इस फिल्‍म का प्रतिरूप नजर आया सरहद पर शहीद हुए लांस नायक हेमराज के गांव शेरनगर में। खबरिया चैनल की खींचतान में इस शहीद का परिवार ऐसा फंसा कि पांच दिनों तक नहीं निकल पाया। पहले तो बार-बार अनशन टूटने के बाद बार-बार अनशन करवाया और फिर बेहद गम के माहौल में वैन में बिठाकर शहीद के भाई और चाचा को एक-एक कर चैनल वाले नोएडा ले गए। हालात ऐसे हुए कि मुख्‍यमंत्री के गांव आने के बावजूद ये दोनों सीएम से मुलाकात न कर सके।
मंगलवार को अब के ताजा घटनाक्रम में खबर है कि शहीद हेमराज के गांव शेरनगर में मंगलवार की सुबह सेना की कई गाडि़यां पहुंची। करीब 3 बजे शहीद हेमराज के गांव शेरनगर में सेना के लेफ्टिनेंट जनरल पीआर कुमार पहुंचे। वे हेलीकॉप्‍टर से यहां पहुंचे। उनके साथ सेना का एक और हेलीकॉप्‍टर यहां आया। उन्‍होंने शहीद के अंतिम संस्‍कार स्‍थल को नमन किया और फूल चढ़ाया। बाद में लेफिटनेंट जनरल शहीद की मां और पत्‍नी से मिले। उन्‍होंने बताया कि सेनाध्‍यक्ष जनरल विक्रम सिंह बुधवार की सुबह 10.30 बजे शेरनगर पहुचेंगे। सेना के अधिकारियों और जवानों के साथ लेफ्टिनेंट जनरल ने गांव में घूमकर तैयारी का जायजा लिया।
सेना के जवान शहीद के घर से पांच सौ मीटर दूर हेलीपैड को दुरुस्‍त करने में लगे हुए हैं। इसी हेलीपैड पर सोमवार को अखिलेश यादव उतरे थे। दूसरी ओर शहीद की मां मीना और पत्‍नी धर्मवती डॉक्‍टर की निगरानी में हैं। दोनों ने सुबह चाय और ब्रेड खाया है। ग्रामीणों के आने जाने का सिलसिला लगातार चल रहा है। हर आने वाला व्‍यक्ति शहीद की फोटो पर फूल चढ़ा रहा है।
अभी अभी जम्‍मू कश्‍मीर से पैंथर पार्टी के नेता भीम सिंह और अन्‍य नेता दोपहर को शहीद हेमराज के घर पहुंचे। उन्‍होंने शहीद की मां मीना और पत्‍नी धर्मवती को ढाढसा बंधाया। उन्‍होंने कहा कि देश की रक्षा के लिए लांस नायक हेमराज की शहादत बेकार नहीं जाएगी। उन्‍होंने कहा कि सरकार को इस मामले में और कड़ाई से पेश आना चाहिए। भीम सिंह ने बाद में शहीद की फोटो पर फूल चढ़ाकर श्रद्धांजलि अर्पित की। पैंथर पार्टी के सभी नेता शाम तक गांव में ही रहेंगे।