पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • पहले भी इंसाफ के लिए सड़कों पर उतरे शहर के लोग

पहले भी इंसाफ के लिए सड़कों पर उतरे शहर के लोग

6 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
सिप्पी मर्डर: इंसाफ के लिए कैंडल मार्च, आज जज की बेटी के कोर्ट में दिए जाने वाले जवाब पर नजर

पुलिस काे दिए 72 घंटे- एक्शन लो, नहीं तो घेरेंगे पीएम हाउस

सिप्पीमर्डरकेस में पुलिस ने हाईकोर्ट की जज की बेटी को बेशक प्राइम सस्पेक्ट बनाया हो, लेकिन असलियत यह है कि केस को सुलझाया नहीं जा रहा है। ढाई महीने बीतने के बावजूद सिप्पी के कातिलों को पुलिस पकड़ नहीं पाई है। इससे नाराज सिप्पी के परिवार के साथ लोगों का हुजूम सड़कों पर उतरा।

कैंडल मार्च के दौरान जिप्पी सिद्धू और एनजीओ मिडल फिंगर के फाउंडर प्रभलोच ने यूटी पुलिस को अगले 72 घंटे का अल्टीमेटम दिया है। कहा कि अगर 72 घंटे में पुलिस ने कातिल को गिरफ्तार नहीं किया, तो वे पीएम नरेंद्र मोदी के घर का घेराव करेंगे। करीब 10 हजार युवाओं के साथ प्रधानमंत्री के घर का घेराव कर इंसाफ मांगा जाएगा। जेसिका लाल और निर्भया केस में शामिल होने वाली सभी एनजीओ से इसमें सहयोग लिया जाएगा। {आईजीपर आरोप | पेज 6

अगर 72 घंटे में कातिल पकड़े गए, तो दिल्ली स्थित पीएम के घर का घेराव करेंगे, चाहे इसके लिए पुलिस उन्हें गिरफ्तार क्यों कर ले। मैंने अपना भाई गंवाया है। चंडीगढ़ पुलिस से भरोसा उठ चुका है। जज की बेटी से नार्को टेस्ट में जो सवाल पूछे जाएंगे, उसे भी पुलिस को ही तैयार करना है। -जिप्पी, सिप्पी का भाई

पुलिस ने इस केस में हाईकोर्ट नार्को टेस्ट के लिए जिला अदालत में जो याचिका दायर की है, उस पर सोमवार को जज की बेटी को अपनी कंसेंट पर जवाब देना है। पुलिस को उम्मीद है कि जज की बेटी टेस्ट के लिए अपनी मंजूरी दे सकती है। लेकिन अगर वह अपनी कंसेंट नहीं देती है तो मामला और पेचीदा बन सकता है। पुलिस को टेस्ट के बाद सच सामने आने की उम्मीद है।

गीतांजलि, जुलाई 2013

ज्योति, नवंबर 2011

खुशप्रीत, दिसंबर 2010

चंडीगढ़ | यहपहली बार नहीं है जब इंसाफ की मांग को लेकर लोग सड़कों पर उतरे हैं। इससे पहले भी ट्राईसिटी के लोग कई अहम केसों में पुलिस की कार्रवाई से नाराज होकर कैंडल मार्च निकाल चुके हैं। ये केस थे...

खबरें और भी हैं...