पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

प्रताड़ना के विरोध पर डंडे से पड़ती थी मार, पुलिस को शिकायत

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
मोहाली. 20 साल पहले मां कैंसर के कारण और पिता दुख में चल बसे। चाचा राजिंदर सिंह ने पाला और फिर शादी की। अंबाला के रहने वाले ससुराल परिवार और पति कुलदीप शराब पीकर इतना परेशान करने लगे कि जरा सा विरोध करने पर डंडे से मार पड़ती। यहां तक कि 8 साल के बेटे गुरमान को भी पूरा परिवार व उसका पिता कभी पागल-पागल तो कभी झल्ला-झल्ला कहकर बुलाते। बेटे का दिमाग अन्य बच्चों की तरह डेवलप नहीं हो सका तो इसमें मेरा क्या कसूर। 
 
मेरे लिए मेरा बच्चा सबसे अनमोल है। ससुराल परिवार की इस प्रताड़ना के बारे में बताते हुए मोहाली की महिला रो पड़ी। उसने सोहाना थाना पुलिस को अंबाला के गांव धूरखेड़ा के रहने वाले ससुर नायब सिंह, सास कर्मजीत कौर, पति कुलदीप सिंह, देवर जतिंदर सिंह, सनप्रीत सिंह और हरप्रीत सिंह के खिलाफ शिकायत दी है। पीड़िता ने बताया कि उसकी शादी अंबाला के गांव धूरखेड़ा के कुलदीप सिंह के साथ हुई थी। 
शादी के समय 19 साल की पीड़िता अब 27 की हो चुकी है और शादी के एक साल बाद बेटा पैदा हुआ, लेकिन पति व ससुराल वालों के कारण तीन घंटे में ही उसकी मौत हो गई, क्योंकि पति व अन्य ससुरालिए दहेज के लिए मारपीट करते, हर छोटी सी बात पर ताने मारने लगते। खाने के लिए कुछ नहीं देते थे। यहां तक कि बच्चा पेट में ही कमजोर था और उसका वेट नहीं बढ़ रहा था। 
कभी अच्छे डॉक्टर को नहीं दिखाया। कमजोर होने के कारण ही जन्म के तीन घंटे बाद उसकी मौत हो गई। इसके बाद दूसरा बेटा पैदा हुआ तो उसका दिमाग विकसित नहीं हो पाया। इस दौरान ससुराल परिवार की प्रताड़ना और बढ़ गई और उसे काफी तंग परेशान किया जाने लगा। 
 
दूसरा बेटा हुआ तो उसका दिमाग पूरा विकसित नहीं हुआ 

पीड़िता ने बताया कि शादी को दो साल गुजर चुके थे और उसके बाद दूसरे बेटे का जन्म हुआ, लेकिन जैसे-जैसे बेटा बड़ा हुआ तो पता चला कि उसका दिमाग पूर्ण विकसित नहीं हुआ है। सब को पहचानता है, लेकिन जैसे अन्य बच्चे होते हैं वह उस तरह नहीं था। पहले तो दहेज न लाने के लिए मारपीट सहती और अब बच्चा होने के बाद बेटे का दिमाग विकसित न होने के कारण सुनना पड़ता कि तेरा बेटा पागल है। कभी कहते झल्ला है, इसका कुछ नहीं हो सकता। सास, ससुर, देवर तो यह बात बोलते, लेकिन जिस पति का यह अंश है वह भी उसको इन्हीं नामाें से पुकारता। पीजीआई में बच्चे का ट्रीटमेंट भी करवाया। लेकिन फर्क नहीं पड़ रहा।
तीनों बहुओं ने दी पुलिस को शिकायत
मोहाली निवासी इस पीड़िता ने सोहाना पुलिस स्टेशन में अपने पति, सास, ससुर व देवरों के खिलाफ शिकायत दी है। बल्कि उसकी दो देवरानिया बलविंदर और सुखविंदर का भी यही हाल किया जाता। एक बहु अपनी देवरानी को बचाने के लिए भागती तो उसको भी मार पड़ती। मंगलवार को भी यही हुआ और तीनों ने एकजुट होकर अपने ससुराल पक्ष का विरोध किया और उसके बाद अंबाला में पुलिस को कॉल कर दी, जिसके बाद पुलिस के आग्रह पर उनको उनके मायके में छोड़ दिया गया। अब मोहाली की इस पीड़िता ने सोहाना, देवरानी बलविंदर ने अंबाला और सुखविदंर में राजपुरा में उक्त पूरे परिवार के खिलाफ शिकायत दी है।
खबरें और भी हैं...