पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • एडवाइजर से सच छिपाने पर काउंसलर कैंथ से भिड़ा रेजिडेंट

एडवाइजर से सच छिपाने पर काउंसलर कैंथ से भिड़ा रेजिडेंट

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

एडवाइजरविजयकुमार देव शुक्रवार को सेक्टर-29 में दौरा पूरा करने के बाद जाने के लिए अपनी गाड़ी में बैठने लगे। तभी हांफते हुए लोकल रेजिडेंट्स मोहम्मद सादिक गए। सादिक ने एडवाइजर के सामने अफसरों और काउंसलर के झूठ का पर्दाफाश कर दिया।

सादिक ने कहा कि ‘साहिब काउंसलर सतीश कैंथ आपको सेक्टर के साफ-सुथरे एरिया में ही लेकर गए हैं। हमारा एरिया जाकर देखो वहां सीवर लाइन बंद पड़ी है, सीवरेज का पानी ओवरफ्लो हो रहा है और वहां गंदगी ही गंदगी है। सादिक ने कहा कि काउंसलर ने मुझको आपके दौरे के बारे बताया तक नहीं। मुझे जब पता चला तो मैं भागा-भागा यहां पहुंचा। तो अफसर हमारे एरिया में काम करवाते हैं और ही काउंसलर। इसके बाद काउंसलर सतीश कैंथ और सादिक में बहस हो गई। एडवाइजर को बीच मंें कहना पड़ा कि मेरे सामने लड़ाई करें। उन्होंने सादिक से कहा कि चलो अपनी गाड़ी में बैठकर आगे-आगे चलो, हम आपके पीछे-पीछे चलेंगे। सादिक ने कहा कि साहब मेरे पास गाड़ी नहीं है, मैं तो आपको देखकर पीछे भागा-भागा आया हूं। एडवाइजर के निर्देश पर सादिक को पुलिस की गाड़ी में बैठाया गया। इसके बाद सभी मस्जिद के पास आईटीबीपी की बैरक के पास पहुंच गए। यहां एडवाइजर को मस्जिद के सामने बैरक की दीवार के पास कूड़ा और मलबा पड़ा दिखाया गया। साथ ही सीवर लाइन ब्लॉक हुई दिखाई। ओवरफ्लो होकर सीवर रोड पर बह रहा था। वहां कच्चे रास्ते को दिखाया। इसे देखते ही एडवाइजर ने अफसरों को निर्देश दिए कि सीवर लाइन को खोला जाए, मलबा उठवाएं और कच्चे रास्ते पर टाइल बिछवाई जाएं। इतना कहकर एडवाइजर चले गए।

मंदिर में माथा टेका और मार्केट सुधारने के लिए कहा

एडवाइजरसेक्टर-29 में दौरा शुरू करने से पहले साईं मंदिर में मत्था टेका। फिर मंदिर के सामने वाली बूथ मार्केट में राउंड अप किया। मार्केट के बरामदे के लेंटर की खस्ताहाल देखते हुए निगम कमिश्नर से कहा कि इसे दोबारा से बनाया जाए। इसके बाद मार्केट का राउंड अप किया और जहां-जहां कमी दिखी तो उसे दूर करने के निर्देश दिए।

अवैध निर्माण का मामला उठा तो फिर हुई बहस

वहीं,चीफ इंजीनियर मुकेश आनंद के सामने कैंथ के एक साथी ने कह दिया कि मकानों में हुए अवैध निर्माण के नोटिस भेजे जाएं। इसे सादिक के साथियों ने सुन लिया। इसी को लेकर काउंसलर कैंथ और उसके साथी के साथ सादिक फिर भिड़ गए। दोनों में काफी देर तक कहासुनी हुई। कैंथ सफाई देते रहे कि मैंने नोटिस भिजवाने की बात नहीं की है। मैं तो एरिया के लोगों के साथ हूं। लेकिन दोनों में काफी देर तक बहस होती रही। कैंथ के एक सहयोगी का काॅलर तक पकड़ लिया गया।

जब सादिक ने एरिया में काम होने का मुद‌्दा उठाया तो काउंसलर सतीश कैंथ ने इसका विरोध किया। इसके बाद दोनों के बीच तीखी बहस हो गई।

{सादिक ने वीके देव से कहा- साफ जगह ले गए अफसर, मेरे साथ चलो मैं दिखाता हूं सच्चाई