--Advertisement--

रिवाज: गांव चिल्ला में एक दिन बाद मनाते हैं दिवाली

दिवाली के पर्व को लेकर इस गांव की कुछ अलग ही रीति- रिवाज।100 साल पहले गायों के गुम हो जाने से बना रिवाज।

Dainik Bhaskar

Oct 25, 2014, 08:33 AM IST
Celebration of diwali after a day in chilla village mohali
मोहाली। सभी शहरों की तरह इस गांव में भी दिवाली के कुछ दिन पहले लोग लाइटों से अपने घरों को सजा देते हैं, लेकिन दिवाली के पर्व को लेकर इस गांव की कुछ अलग ही रीति- रिवाज है। अन्य शहरों व इलाकों के लोग दिवाली का त्योहार उसी दिन मनाते हैं जिस दिन कलेंडर पर तारीख लिखी होती है। मोहाली के साथ सटे यह गांव चील्ला के लोग दिवाली का त्योहार एक दिन बाद मनाते हैं। इस गांव के लोग दिवाली के दिन कुछ नहीं करते हैं जबकि एक दिन बाद अपने घरों में दिवाली पूजन करते हैं और पटाखे चलाते हैं।
100 साल पहले गायों के गुम हो जाने से बना रिवाज
गांव के बुजुर्ग व पूर्व सरपंच गुरदीप सिंह ने बताया कि गांव चील्ला में पिछले करीब 100 से ज्यादा साल से दिवाली अगले दिन ही मनाई जीत है। उन्होंने बताया कि पिछले करीब 100 से ज्यादा साल पहले दिवाली के दिन गांव की सभी गाये गांव से एकदम गायब हो गई थी। गायों के उन जत्थों में गांव के लगभग सभी लोगों की एक या दो गायें व भैंसे थी। पूूरा दिन लोग अपने पशुओं को ढूंढते रहे, लेकिन रात तक पशु नहीं मिले। उस दिन पूरे गांव ने दिवाली नहीं मनाई। अगले दिन सभी पुश मिल गए। उनके मिलने के बाद ही लोगों ने दीपावली की पूजा की। तब से अब तक गांव में एक दिन बाद ही दीपावली का त्योहार मनाया जाता है।
शुक्रवार को गांव के लोगों ने मनाई दिवाली
गांव के मौजूदा सरपंच कुलदीप सिंह ने बताया कि दीवाली के अगले दिन गांव के सभी लोग नगर खेड़ा के पास एकत्रित होते हैं आैर अपने-अपने धर्मों की पूजा करते है। उन्होंने बताया कि गांव का एक भी निवासी ऐसा नहीं है, जो दिवाली के दिन त्योहार मनाता है।
X
Celebration of diwali after a day in chilla village mohali
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..