पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

विवाहिता की संदिग्ध हालात में मौत, पति, सास-ससुर हुए फरार

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
मोहाली/खरड़. गिल्को टावर में रहने वाली बठिंडा की हीनू अरोड़ा रविवार शाम घर के बाथरूम में अचेत मिली। उसके पति पंकज कक्कड़, सास निर्मला कक्कड़ और ससुर त्रिलोक कक्कड़ उसे मोहाली, फेज 6 स्थित मैक्स हॉस्पिटल ले गए, जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया।
सोमवार को खरड़ अस्पताल में हीनू का पोस्टमार्टम करवाकर पुलिस ने घरवालों को सौंप दिया और उसकी मां लवीन चौराया की शिकायत पर पंकज, निर्मला और त्रिलोक के खिलाफ धारा 304बी और 34 के तहत केस दर्ज कर लिया, जो अभी फरार हैं। मौत के असली कारणों का पता विसरा रिपोर्ट आने के बाद ही पता चलेगा।
अबोहर में जमीन खरीदने के लिए की थी रुपए की डिमांड
मृतका के चाचा कृष्ण लाल ने बताया कि पंकज और उसका परिवार मूल रूप से अबोहर का रहने वाला है। पंकज व हीनू मोहाली की एक सॉफ्टवेयर कंपनी में कार्यरत थे। उन्होंने आरोप लगाया कि पंकज का परिवार अबोहर में जमीन खरीदना चाहता था। इस कारण वह हीनू को मोहाली में रह रही अपनी मां से रुपए लाने के लिए प्रताड़ित करते थे। इससे हीनू परेशान रहती थी।
करीब चार दिन पहले वह मां के पास आ गई और ससुराल न जाने की बात कही, लेकिन मां के समझाने पर वह फिर ससुराल चली गई। कृष्ण लाल ने बताया कि हीनू के ससुर त्रिलोक चंद हीनू को अक्सर धमकी देते थे कि रुपए मांगने की बात किसी रिश्तेदार या पुलिस को बताई तो अच्छा नहीं होगा। यह बात उसने कुछ दिन पहले मां को बता दी थी।
कृष्ण लाल ने बताया कि मृतका के पिता का बठिंडा में सड़क दुर्घटना में करीब डेढ़ साल पहले देहांत हो गया था। वे आर्मी से सेवानिवृत्त होकर पंजाब स्कूल शिक्षा बोर्ड में प्राइमरी ब्लॉक एजुकेशन ऑफिसर के पद पर तैनात थे।