विज्ञापन

100 साल बाद कामागाटामारू के हीरो गुरदित्त की याद में केंद्र ने जारी किये सिक्के

Dainik Bhaskar

Oct 01, 2014, 03:09 AM IST

1952 में कोलकाता में तत्कालीन प्रधानमंत्री पं. जवाहर लाल नेहरू ने बाबा को सम्मानित किया था।

Remember coins issued by the Centre in
  • comment
अमृतसर। केंद्र सरकार को कामागाटामारू घटना के 100 साल बाद इसके हीरो बाबा गुरदित्त सिंह की याद आई है। केंद्र ने एक समारोह आयोजित कर उनके वंशजों को सम्मानित किया और 100 रुपए का एक सिक्का भी जारी किया। बाबा गुरदित्त की पोती हरभजन कौर ने बताया कि घटना के दौरान उनके पिता बलवंत सिंह दस साल के थे। वे बड़ी मुश्किल से बचे थे। इसके बाद बाबा जी ने बापू के कहने पर ननकाना साहिब में आत्मसमर्पण किया था। उन्हें सात साल की कैद हुई थी। 1952 में कोलकाता में तत्कालीन प्रधानमंत्री पं. जवाहर लाल नेहरू ने बाबा को सम्मानित किया था।
इतिहास के आईने से संघर्ष की झलक
कामागाटामारू समुद्री जहाज था, जिसे हॉन्ग कॉन्ग में रहने वाले बाबा गुरदित्त सिंह ने खरीदा था। जहाज में 376 लोगों को बैठाकर बाबा 4 मार्च 1914 को वेंकूवर के लिए रवाना हुए। 23 मई को वहां पहुंचे लेकिन, अंग्रेजों ने सिर्फ 24 को उतारा और बाकी को वापस भेज दिया। जहाज कोलकाता के बजबज घाट पर पहुंचा तो 27 सितंबर 1914 को अंग्रेजों ने फायरिंग कर दी। इसमें 19 लोगों की मौके पर मौत हो गई। इस घटना ने आजादी की लहर को और तेज कर दिया था।
आगे की स्लाइड पढ़िए पूरी खबर...

Remember coins issued by the Centre in
  • comment
शताब्दी मनाने को केंद्र ने गठित की कमेटी, पंजाब सरकार अब भी नींद में 
 
हरभजन कौर के पति एडवोकेट तरलोचन सिंह विर्क ने बताया कि 29 सितंबर को दिल्ली में उनके परिवार को खास रूप से बुलाया गया था। हरभजन की बहनें सतवंत कौर और बलबीर कौर भी गई थीं। सभी को सम्मानित किया गया। केंद्र ने तो अपना फर्ज निभा दिया लेकिन पंजाब सरकार अब भी सोई हुई है। विर्क ने बताया कि शताब्दी मनाने के लिए केंद्र ने 14 मेंबरी कमेटी गठित की है। 
कनाडा जारी कर चुका है  डाक टिकट
 
इस घटना पर कनाडा सरकार ने कुछ महीने पहले डाक टिकट जारी किया था। लेकिन, भारत सरकार अब-तक इस पर विचार कर रही है। सरकार ने गुरदित्त के परिवार को भरोसा दिलाया है कि जल्द ही डाक टिकट जारी होगा।
X
Remember coins issued by the Centre in
Remember coins issued by the Centre in
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन