पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • The Mutiny Rising In Inelo Against Om Prakash Chautala

चौटाला की सदस्यता पर सवाल उठाएगी कांग्रेस

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

चंडीगढ़. इनेलो से पहले कांग्रेस विधानसभा में हमले की तैयारी में है। 22 फरवरी को लगभग शांतिपूर्ण रहे सदन के बाद कांग्रेस ने विपक्ष के नेता इनेलो सुप्रीमो ओमप्रकाश चौटाला पर प्रहार किया है। यह कांग्रेस विधायक संपत सिंह के 'काम रोकोÓ प्रस्ताव में सामने आएगा। कभी इनेलो के वरिष्ठ नेता रहे पूर्व मंत्री संपत सिंह ने विधानसभा सचिव के जरिए स्पीकर कुलदीप शर्मा को भेजे काम रोको प्रस्ताव में चौटाला को जेबीटी घोटाले की सजा में घेरा है। अब यह स्पीकर पर निर्भर है कि वे इस पर चर्चा कराते हैं या नहीं। प्रस्ताव पर चर्चा हुई तो सदन में हंगामा संभव है।

प्रस्ताव में कहा गया है कि पूर्व सीएम चौटाला को जेबीटी शिक्षक मामले में सात एवं 10 साल की सजा हो चुकी है,जो एक साथ चलेंगी। इस मामले में उन पर भ्रष्टाचार के आरोप साबित हुए हैं। ऐसे हालातों में चौटाला को विपक्ष का नेता एवं विधायक बने रहने को नैतिक अधिकार नहीं। उनके इस प्रस्ताव को देखें तो उन्होंने कह दिया है कि उनको निलंबित कर देना चाहिए। ऐसे में ओमप्रकाश चौटाला की सदस्यता फिलहाल खतरे में पड़ सकती है। पता चला है कि कांग्रेस विधायक दल की बैठक में इस रणनीति का अंजाम देने पर चर्चा हुई। इस प्रस्ताव से दोनों पक्षों में घमासान हो सकता है।

विशेष बात यह है कि इस मामले में भाजपा-हजकां का रुख बदला हुआ नजर आ सकता है। सत्र के पहले दिन इनेलो ने हजकां विधायक पर टिप्पणी की थी। यह गठबंधन इनेलो के खिलाफ है, ऐसे में कांग्रेस व इनेलो विधायकों के बीच टकराव संभव है। सत्ता पक्ष ने जहां चौटाला के विरुद्ध रणनीति बनाई है वहीं इनेलो वाड्रा प्रकरण एवं मंत्रियों के मामले लाने जा रहा है। ऐसे में 26 फरवरी का दिन सदन में हंगामेदार रहना तय है।