पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

डॉक्टर बनना चाहती थी पापा की लाड़ली, इसलिए मौत से पहले कॉपी पर लिखा- डॉ. इकिशा

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

नोएडा/नई दिल्ली.परीक्षा में कम नंबर आने पर स्कूल टीचर की प्रताड़ना से परेशान होकर 9वीं की छात्रा इकिशा शाह (16) ने मंगलवार शाम फांसी लगाकर सुसाइड कर लिया था। 9वीं पढ़ने वाली इिकशा मयूर विहार के एल्कॉन स्कूल की स्टूडेंट थी। पिता राघव शाह का आरोप है-स्कूल में सोशल साइंस का टीचर राजीव सहगल उससे छेड़छाड़ करता था। इकिशा के पिता ने बताया कि उसका बचपन का नाम वैभवी था। मां दीपमाला ने यह सोचकर बेटी का नाम वैभवी रखा था कि एक दिन वह परिवार का नाम रोशन करेगी। इकिशा का भाई हर्ष 7वीं और वैभवी तीसरी कक्षा में थी, तभी फैमिली ने दोनों के नाम बदलने का फैसला किया। हर्ष का नाम बदलकर आर्यन राघव शाह और वैभवी का नाम इकिशा रख दिया गया। इकिशा नाम से उसका रोल नंबर बदल गया और चौथी कक्षा से वह क्लास में आगे बैठने लगी। इकिशा का सपना लगन और कड़ी मेहनत से पढ़ाई कर डॉक्टर बनने का था लेकिन सपना पूरा होने से पहले ही उसे मौत को गले लगाने के लिए मजबूर होना पड़ा।

 

भाई आर्यन ने बताया :

 

मुझे भी प्रताड़ित करते थे एलकॉन के टीचर, इसलिए बीच में ही छोड़ दी पढ़ाई
 

- आर्यन ने बताया कि वर्ष 2015 में वह एलकॉन स्कूल में ही पढ़ता था। उस समय वह 11वीं में था।

- उसे भी स्कूल के कई टीचर काफी परेशान करते थे। कभी पढ़ाई को लेकर तो कभी ताने देकर प्रताड़ित करते थे।

- इसलिए उसने बीच में ही पढ़ाई छोड़ दी थी। लेकिन बहन की पढ़ाई खराब न हो, इसलिए उसका स्कूल नहीं बदला गया।

 

बेबुनियाद हैं परिजनों के लगाए आरोप- प्रिंसिपल
 

- मीडिया में मामला सामने के आने के बाद बुधवार सुबह स्कूल के प्रिंसिपल ने सफाई दी कि इकिशा के परिजनों ने जो भी आरोप लगाए हैं, वे बेबुनियाद हैं।

- परिजनों ने जो भी आरोप लगाए हैं, स्कूल प्रशासन अपने स्तर पर जांच कराएगा।

- अगर शिक्षकों पर लगे आरोप साबित होते हैं तो उन पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।

- जांच में दोषी पाए जाने पर स्कूल प्रशासन शिक्षकों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराएगा, इस सवाल पर प्रिंसिपल चुप्पी साध ली।

 

3 डॉक्टरों के पैनल ने मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में किया पोस्टमार्टम 
 

- पोस्टमार्टम 3 डॉक्टरों के पैनल ने किया। मजिस्ट्रेट भी मौजूद रहे। वीडियोग्राफी भी कराई गई।

- पोस्टमार्टम में मौत के साथ अन्य छात्रा के साथ असॉल्ट करने का भी पता लगाने के लिए जांच की गई है।

 

एफआईआर लिखने में मुंशी के साथ थानेदार ने भी बरती लापरवाही
 

- पुलिसकर्मी नृपेंद्र ने रिपोर्ट लिखते समय छेड़छाड़ व पॉक्सो एक्ट की धारा नहीं जोड़ी। वहीं, एसएचओ ने बिना धाराओं की जांच किए ही साइन कर दिया। ऐसे में उनकी भी लापरवाही सामने आई है।

 

ये था मामला

 

- इकिशा दिल्ली के मयूर विहार स्थित एल्कॉन इंटरनेशनल स्कूल में पढ़ती थी। उसका परिवार नोएडा सेक्टर-52 में रहता है। 
- पिता राघव शाह प्रसिद्ध कथक डांसर और बिरजू महाराज के शिष्य हैं। 
- मंगलवार शाम मौत से 20 मिनट पहले इकिशा ने पिता से फोन पर बात कर खुदकुशी कर ली।
- पिता का आरोप है कि टीचर के टॉर्चर और गंदी नीयत से परेशान इकिशा शाह ने सुसाइड की है।

 

 

 

खबरें और भी हैं...