पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बजट सत्र का दूसरा चरण: संसद में 13 दिन में 11 करोड़ रुपए हंगामे की भेंट

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

नई दिल्ली. संसद का बजट सत्र 5 मार्च को शुरू हुआ था। उसके बाद से 13 दिन हो चुके हैं। इस दौरान दोनों सदन कुल मिलाकर 7 घंटे 57 मिनट ही चल पाए हैं। इसमें लोकसभा 3 घंटे 31 मिनट और राज्यसभा 4 घंटे 26 मिनट चल सकी। सरकारी अनुमान के अनुसार, संसद की एक मिनट की कार्यवाही पर 2.5 लाख रुपये का खर्च होता है। संसद में दोनों सदनों का 74 घंटे का वक्त बर्बाद हुआ है। इस हिसाब से जनता की गाढ़ी कमाई के 11.10 करोड़ रुपये हंगामे की भेंट चढ़ चुके हैं।

 

 

 

- बात बैंक घोटाले से शुरू हुई थी और मामला अब मोदी सरकार के खिलाफ पहली बार लाए जा रहे ‘अविश्वास प्रस्ताव’ पर पहुंच गया है। इस दौरान शोरगुल के बीच वित्त विधेयक बिना चर्चा के पारित करा लिया गया।

- इसके अलावा लोकसभा में दो बिल पेश किए गए और दो पारित भी हो गए। चिट फंड संशोधन बिल और भगौड़े आर्थिक अपराधियों की देश में संपत्ति कुर्क करने का विधेयक भी पेश हुआ। 

 

#संसद के दोनों सदनों में 74 घंटे का वक्त बर्बाद

 

लोकसभा:

- पांच बार सिर्फ 2 मिनट में कार्यवाही स्थगित
- 74.29 घंटे का वक्त बर्बाद हुआ

 

राज्यसभा:

- पांच ऐसे सत्र जब 1 मिनट में बैठक खत्म
- 73.34 घंटे का वक्त बर्बाद हुआ

 

काम ये बाकी...: संसद में 67 बिल जमा
- राज्यसभा के पास 39 बिल पेडिंग।
- लोकसभा के पास 28 में से 21 बिल।
- स्थायी और संयुक्त समितियों के पास 7 बिल हैं।

 

1 घंटे कार्यवाही सिर्फ 1 बार चली

 

- राज्यसभा ने 8 मार्च को पूरे एक घंटे तक अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर महिला मुद्दों की चर्चा की। इन 13 दिनों में राज्यसभा पूरे एक घंटे के लिए सिर्फ एक बार ही चली।

 

खबरें और भी हैं...