एक्स्ट्रा क्लास के बहाने करते थे मुलाकात, ऐसी है इस BJP लीडर की लव स्टोरी

6 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
3 जून 1983 को दोनों ने की थी शादी। - Dainik Bhaskar
3 जून 1983 को दोनों ने की थी शादी।
नई दिल्ली. बीजेपी लीडर मुख्तार अब्बास नकवी और उनकी वाइफ सीमा की लव स्टोरी कॉलेज के दिनों में शुरू हुई थी। बेबाक तरीके से बात रखने, स्पष्ट विचार और कॉलेज के निडर लीडर रहे नकवी के पर्सनैलिटी ने सीमा के दिल में जगह बना ली थी। मुख्तार अब्बास नकवी मुस्लिम परिवार से थे तो सीमा हिंदू। ऐसे शुरू हुई थी दोनों की लव स्टोरी...
- नकवी अपनी इस लव स्टोरी के बारे में बस इतना कहते हैं - ‘चलते-चलते यूं ही कोई मिल गया था, सरे राह चलते-चलते’।
- इसे पहली नजर का प्यार ही कहेंगे। इन दोनों की लव स्टोरी इलाहाबाद यूनिवर्सिटी में तीन दशक पहले 1982 में पढ़ाई के दौरान शुरू हुई।
- जहां कॉलेज में नकवी एक अच्छी पर्सनैलिटी वाले नेता के रूप में जाने जाते थे, जबकि सीमा एक शर्मीली लड़की थीं।
- सीमा ना तो लड़कों से बात करती थीं और न किसी लड़के के साथ अपना नाम जुड़ना उन्हें पसंद था। लेकिन स्वभाव में अंतर होने के बावजूद दोनों को एक-दूजे से प्यार हो गया।

सीमा की मां थीं इस रिलेशन के खिलाफ

- सीमा की फैमिली को यह रिश्ता पसंद नहीं था। सीमा की मां सिरे से इस रिश्ते के खिलाफ थीं।
- सीमा को मुख्तार से मिलने के लिए भी मना कर दिया था। इसलिए सीमा एक्स्ट्रा क्लास के बहाने से मिलने जाया करती थीं।
- इन दोनों के प्यार के आगे आखिरकार सीमा की मां और पूरे परिवार ने इस रिश्ते को स्वीकार कर लिया।
1983 में हुए एक और तीन तरीकों से की शादी

- 1983 में 3 जून के दिन दोनों शादी के पवित्र बंधन में बंध गए। इस कपल ने तीन तरीके से शादी की रस्में पूरी की।
- सबसे पहले कोर्ट में शादी रजिस्टर कराई। फिर निकाह किया और इसके बाद सात फेरे लिए।
- सीमा ने एक इंटरव्यू में कहा था कि मुझे कभी अहसास नहीं हुआ कि मैं किसी दूसरे धर्म से हूं, मुझे अपने ससुराल में भी उतना ही प्यार मिला।
- उन्होंने बताया था कि उनकी फैमिली में हर साल होली-दिवाली और ईद भी धूमधाम से मनाए जाते हैं।
- इस लव कपल का आज अरशद नाम से एक बेटा है।
आगे की स्लाइड्स में देखें, मुख्तार और सीमा की अन्य फोटोज...
खबरें और भी हैं...