पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

ये हैं देश की पहली महिला कमांडो ट्रेनर, वर्ल्ड बेस्ट की फोर्सेस को देती हैं ट्रेनिग

6 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
नई दिल्ली. देश की महिलाएं अब नेशलन सिक्योरिटी गार्ड (एनएसजी) में शामिल होकर आतंकियों से लड़ने की तैयारी कर रहीं हैं। लेकिन एक महिला ऐसी है जो सालों से इंडियन आर्मी के कमांडोज को ट्रेनिंग देती आ रहीं है। वो है मार्शल आर्ट्स में ब्लैक बैल्ट हासिल कर चुकीं सीमा राव। वे इंडियन पैरा स्पेशल फोर्सेस, कमांडो विंग, विभिन्न अकादमियों, नेवी मारकोस मरीन कमांडो, एनएसजी, वायु सेना गरुड़, आईटीबीपी, पैरामिलिट्री और पुलिस के जवानों को प्रशिक्षण देती हैं।
सीमा राव देश की पहली महिला कमांडो ट्रेनर हैं। वे पिछले 19 सालों से भारतीय सेना के जवानों को ट्रेनिंग दे रही हैं। इस काम में उनके पति दीपक राव भी उनकी मदद करते हैं। सीमा के पति करीब 15 हजार जवानों को ट्रेनिंग दे चुके हैं। सीमा कॉम्बेट शूटिंग इंस्ट्रक्टर हैं। जो गेस्ट ट्रेनर के रूप में जवानों को ट्रेनिंग देती हैं।
मिस इंडिया वर्ल्ड की फाइनलिस्ट भी रहीं
सीमा प्रोफेसर रमाकांत की बेटी हैं जो की एक फ्रीडम फाइटर थे। उन्होंने क्राइसिस मैनेजमेंट कॉलेज से एमबीए की डिग्री हासिल की है। साथ ही, पीएचडी भी की है। इस सुपर वुमन ने माउंटेनेयररिंग और रॉक क्लाइमिंग में भी मैडल हासिल किए हैं। इन सब के अलावा सीमा मिस इंडिया वर्ल्ड के फाइनलिस्ट्स में भी शामिल हो चुकीं हैं।
आगे की स्लाइड्स में देखिए इस कमांडो ट्रेनर की फोटोज...
खबरें और भी हैं...