• Hindi News
  • Rajya
  • Delhi NCR
  • News
  • ब्लैक लिस्टेड थी ये तोप, कारगिल युद्ध में बनी थी गेम चेंजर

ब्लैक लिस्टेड थी ये तोप, कारगिल युद्ध में बनी थी गेम चेंजर / ब्लैक लिस्टेड थी ये तोप, कारगिल युद्ध में बनी थी गेम चेंजर

तोप की सबसे बड़ी खासियत इसे -3 डिग्री से लेकर 70 डिग्री के ऊंचे कोण तक फायर करने की है।

bhaskar news

Jan 19, 2016, 09:39 PM IST
ब्लैक लिस्टेड थी ये तोप, कारगिल युद्ध में बनी थी गेम चेंजर
नई दिल्ली। करगिल की लड़ाई में बोफोर्स तोप गेम चेंजर साबित हुआ था। बोफोर्स की लगभग 24 किलोमीटर की मारक क्षमता है। तोप की मारक क्षमता अपग्रेड की गई है। इसे टारगेट के हिसाब से सेट किया जा सकता है। विवादित सौदेबाजी में खरीदे गए इन तोपों का 1999 की लड़ाई में पहली बार इस्तेमाल किया गया था।
करगिल में टोलोलिंग की जीत के पीछे...

करगिल की लड़ाई में भारतीय सेना ने 12-13 जून 1999 को पाकिस्तानी घुसपैठियों से टोलोलिंग की पहाड़ी को मुक्त कराया। बता दें कि इसी प्वाइंट से पाकी घुसपैठिए भारतीय पोस्ट्स के साथ एनएच 1 पर हमला कर रहे थे। इस वजह से वॉर सप्लाई में बाधा आ रही थी। भारतीय जवान यहां घुसपैठियों से कमजोर साबित हो रहे थे। अंत में यहां बोफोर्स के जरिए सेना ने काउंटर अटैक किया और पहाड़ों में छिपकर बैठे घुसपैठियों को मार भगाया।
पहाड़ी इलाकों में युद्ध के लिए बेमिसाल है ये तोप
- बोफोर्स में 68 हार्सपॉवर के दो इंजन होते हैं, प्रत्येक की फ्यूल कैपिसिटी 22 लीटर है।
- इस तोप की सबसे बड़ी खासियत एंगल टू एंगल टारगेट पर अचूक निशाना लगाना है।
- इससे रात में भी टारगेट डेस्ट्रॉय किया जा सकता है। पहाड़ों में दुश्मन से लड़ने के लिए ये बेहतरीन हथियार है।
- इसी वजह से करिगल युद्ध में कई मोर्चों पर इसका इस्तेमाल निर्णायक साबित हुआ।
- लोकेशन पता चलने पर इससे निशाना साधा जा सकता है।
अब बनी ऊंचे पहाड़ों की ताकत
इस तोप की खरीदी से जुड़े विवादों के बाद सरकार ने तोप बनाने वाली कंपनी को ब्लैक लिस्टेड कर दिया था। इस वजह से काफी वक्त तक गोले और अन्य सामानों की आपूर्ति नहीं की गई। करगिल वॉर के समय भारत के पास बहुत सीमित मात्रा में इसके गोले थे। बोफोर्स अब ऊंचे पहाड़ों पर सेना की मुख्य ताकत है। सरकार ने बोफोर्स को कालीसूची से हटाकर इनके रखरखाव आदि के लिए ध्यान दे रही है।
डीआरडीओ ने भी किया है सुधार
- डीआरडीओ ने बोफोर्स तोप के मूल डिजाइन में कई सुधार किए हैं।
- अपग्रेड मॉडल में मारक क्षमता 27 किलोमीटर से बढ़ाकर 38 किलोमीटर कर दी गई।
- तोप में एक परफारमेंस मॉनिटरिंग सिस्टम, गनर साइड का डिस्प्ले भी जोड़ा गया है।
- तोप के आरंभिक परीक्षण हुए हैं।
आगे की स्लाइड्स में देखें और फोटोज...
बोफोर्स में 68 हार्सपॉवर के दो इंजन होते हैं, प्रत्येक की फ्यूल कैपिसिटी 22 लीटर है। बोफोर्स में 68 हार्सपॉवर के दो इंजन होते हैं, प्रत्येक की फ्यूल कैपिसिटी 22 लीटर है।
इस तोप की सबसे बड़ी खासियत एंगल टू एंगल टारगेट पर अचूक निशाना लगाना है। इस तोप की सबसे बड़ी खासियत एंगल टू एंगल टारगेट पर अचूक निशाना लगाना है।
इससे रात में भी टारगेट डेस्ट्रॉय किया जा सकता है। इससे रात में भी टारगेट डेस्ट्रॉय किया जा सकता है।
पहाड़ों में दुश्मन से लड़ने के लिए ये बेहतरीन हथियार है। पहाड़ों में दुश्मन से लड़ने के लिए ये बेहतरीन हथियार है।
लोकेशन पता चलने पर इससे निशाना साधा जा सकता है। लोकेशन पता चलने पर इससे निशाना साधा जा सकता है।
इस तोप की सबसे बड़ी खासियत एंगल टू एंगल टारगेट पर अचूक निशाना लगाना है। इस तोप की सबसे बड़ी खासियत एंगल टू एंगल टारगेट पर अचूक निशाना लगाना है।
इस तोप की सबसे बड़ी खासियत ये है कि ये एंगल टू एंगल टारगेट पर अचूक निशाना लगाती है। इस तोप की सबसे बड़ी खासियत ये है कि ये एंगल टू एंगल टारगेट पर अचूक निशाना लगाती है।
करगिल की लड़ाई में बोफोर्स तोप एक ऐसा ब्रह्मास्त्र साबित हुई जिसने गेम चेंजर का काम किया। करगिल की लड़ाई में बोफोर्स तोप एक ऐसा ब्रह्मास्त्र साबित हुई जिसने गेम चेंजर का काम किया।
X
ब्लैक लिस्टेड थी ये तोप, कारगिल युद्ध में बनी थी गेम चेंजर
बोफोर्स में 68 हार्सपॉवर के दो इंजन होते हैं, प्रत्येक की फ्यूल कैपिसिटी 22 लीटर है।बोफोर्स में 68 हार्सपॉवर के दो इंजन होते हैं, प्रत्येक की फ्यूल कैपिसिटी 22 लीटर है।
इस तोप की सबसे बड़ी खासियत एंगल टू एंगल टारगेट पर अचूक निशाना लगाना है।इस तोप की सबसे बड़ी खासियत एंगल टू एंगल टारगेट पर अचूक निशाना लगाना है।
इससे रात में भी टारगेट डेस्ट्रॉय किया जा सकता है।इससे रात में भी टारगेट डेस्ट्रॉय किया जा सकता है।
पहाड़ों में दुश्मन से लड़ने के लिए ये बेहतरीन हथियार है।पहाड़ों में दुश्मन से लड़ने के लिए ये बेहतरीन हथियार है।
लोकेशन पता चलने पर इससे निशाना साधा जा सकता है।लोकेशन पता चलने पर इससे निशाना साधा जा सकता है।
इस तोप की सबसे बड़ी खासियत एंगल टू एंगल टारगेट पर अचूक निशाना लगाना है।इस तोप की सबसे बड़ी खासियत एंगल टू एंगल टारगेट पर अचूक निशाना लगाना है।
इस तोप की सबसे बड़ी खासियत ये है कि ये एंगल टू एंगल टारगेट पर अचूक निशाना लगाती है।इस तोप की सबसे बड़ी खासियत ये है कि ये एंगल टू एंगल टारगेट पर अचूक निशाना लगाती है।
करगिल की लड़ाई में बोफोर्स तोप एक ऐसा ब्रह्मास्त्र साबित हुई जिसने गेम चेंजर का काम किया।करगिल की लड़ाई में बोफोर्स तोप एक ऐसा ब्रह्मास्त्र साबित हुई जिसने गेम चेंजर का काम किया।
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना