पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • अपराध की दुनिया का सरताज बनना चाहता था राजेश बवानिया

अपराध की दुनिया का सरताज बनना चाहता था राजेश बवानिया

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
{तीन लाख का इनामी बदमाश राजेश रोहिणी से िगरफ्तार

भास्करन्यूज| नई दिल्ली

दिल्ली,उत्तर प्रदेश अौर हरियाणा में जघन्य अपराधों का अर्धशतक लगाने वाला राजेश बवानिया एनसीआर में अपराध की दुनिया का सरताज बनना चाहता था। 2005 में अपराध की दुनिया में कदम रखने वाले राजेश बवानिया हत्या, हत्या का प्रयास, लूट और जबरन उगाही के 48 से अधिक मामलों काे अंजाम दे चुका है।

विशेष पुलिस आयुक्त एसएन श्रीवास्तव के अनुसार स्पेशल सेल की टीम ने सूचना के आधार पर राजेश को रोहिणी के पूथ खुर्द वरवाला स्थित हेलीपैड के पास से एक मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार किया है। इस मुठभेड में दोनों पक्षों से कोई हताहत नहीं हुआ है। सेल ने राजेश के साथ उसके चार गुर्गों को भी गिरफ्तार किया है।

23 अप्रैल को जेल से जमानत पर रिहा होने के बाद राजेश बवानिया अपने गुर्गों के साथ मिलकर 20 से अधिक जघन्य वारदातों को अंजाम दे चुका है। अपराध की दुनिया में तेजी से पैर जमाते राजेश बवानिया की गिरफ्तारी में मददगार साबित होने वाले को पुलिस ने तीन लाख रुपए का ईनाम देने की घोषणा भी की थी।

एनसीआर में अपने नामक को कुख्यात बनाने के लिए राजेश वारदात जबरन उगाही के दौरान पीड़ित को अपनी पूरी पहचान बताता था। वह केवल अपना नाम बल्कि अपने पिता का नाम गांव और पूरा पता का खुलासा पीड़ित के सामने करता था। जिससे उसका आतंक दिल्ली सहित एनसीआर में तेजी के साथ फैल सके। राजेश और उसके गुर्गों से 11 हथियार बरामद हुए हैं।







जिसमें दो विदेश रिवाल्वर, एक विदेशी पिस्टल, एक स्टील कलर पिस्टल, दो देशी पिस्टल, चार .315 बोर की पिस्टल, एक .315 बोर की राइफल और 84 कारतूसें बरामद की गई हैं। इसके अलावा इनके कब्जे से एक स्कार्पियो कार भी बरामद की गई है।