पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • CBSE Exams Tomorrow, Lowered The Chances Of Compartment

सीबीएसई की परीक्षाएं कल से, कंपार्टमेंट के मौके घटे

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

नई दिल्ली. सीबीएसई की दसवीं और बारहवीं की बोर्ड परीक्षाएं शुक्रवार से शुरू होने जा रही हैं। वर्ष 2013 की बोर्ड परीक्षा में नए बदलावों के तहत बारहवीं के छात्रों के लिए कंपार्टमेंट परीक्षा देने के मौके पांच से घटाकर तीन कर दिए गए हैं और दसवीं के छात्रों के लिए यह मौके पांच से घटाकर एक कर दिया गया है।

जिसमें दसवीं के छात्रों को सुधार के लिए जुलाई महीने में होने वाली परीक्षा देनी होगी। इसके अलावा जिन छात्रों ने वर्ष 2012 या उससे पहले परीक्षाएं दी हैं वह पांच मौके पा सकेंगे। उनके लिए नियमों में बदलाव नहीं किया गया है।

नए नियम छात्रों को बेहतर सुविधा देने व बोर्ड परीक्षा प्रक्रिया को सुदृढ़ बनाने के लिए लागू किए गए हैं। नए नियमों के तहत विकलांग छात्रों के लिए भी कुछ नए इंतजाम किए गए हैं।

सीबीएसई के चेयरमैन विनीत जोशी ने दैनिक भास्कर को बताया कि बोर्ड ने स्कूलों को दसवीं और बारहवीं के छात्रों की सूची के अनुसार ऑनलाइन रोल नंबर जारी करने की सुविधा मुहैया कराई है। इसका फायदा यह है कि स्कूल अपने नियमित छात्रों के लिए ऑनलाइन प्रवेश पत्र भी जारी कर सकते हैं।

दसवीं और बारहवीं की परीक्षाएं देने वाले विकलांग छात्रों को खास तरह का कंप्यूटर सॉफ्टवेयर उपयोग करने की सुविधा दी जा रही है। जो छात्र इस सुविधा का लाभ लेना चाहते हैं, उन्हें अपना कंप्यूटर साथ लाना होगा। जिसमें यह सॉफ्टवेयर हो। छात्र द्वारा इसकी जानकारी पहले ही बोर्ड को देनी होगी।

सीबीएसई की दसवीं की परीक्षा में इस वर्ष 22,01,237 विद्यार्थी बैठ रहे हैं। वर्ष 2012 में यह संख्या 1995618 थी। इस वर्ष दसवीं की बोर्ड परीक्षा में 1259202 विद्यार्थी बैठ रहे हैं। इस बार 6.70 फीसदी विद्यार्थियों की संख्या बढ़ी है। जिनमें छात्रों की संख्या गत वर्ष की तुलना में 7.१५ फीसदी और छात्राओं की संख्या 6.06 फीसदी बढ़ी है।

जबकि बारहवीं की बोर्ड परीक्षा में इस वर्ष 942035 विद्यार्थी बैठ रहे हैं। इस बार बारहवीं में 15.५9 फीसदी छात्रों की बढ़ी है और गत वर्ष तुलना में 15.३9 फीसदी छात्राएं अधिक बैठ रही हैं।

सीबीएसई की जनसंपर्क अधिकारी रमा शर्मा ने कहा कि बोर्ड परीक्षा की काउंसलिंग के लिए बोर्ड ने 66 स्कूल प्रधानाचार्यों का सहयोग लिया है। जो टोल फ्री हेल्पलाइन नंबर 1800118004 पर परामर्श के लिए उपलब्ध हैं।