• Hindi News
  • Females Far Ahead Than Male In Polling Delhi Cant

मतदानः दिल्ली कैंट की महिलाओं ने पुरुषों को पीछे छोड़ा

8 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

नई दिल्ली. नई दिल्ली संसदीय क्षेत्र के अंतर्गत आने वाली दिल्ली कैंट विधानसभा की महिला मतदाता मतदान को लेकर पुरुषों से अधिक जागरूक दिखीं। 16वीं लोकसभा के लिए बीते गुरुवार को हुए मतदान में दिल्ली कैंट विधानसभा की 59.78 प्रतिशत महिला मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। जबकि इस विधानसभा में पुरुषों का मतदान प्रतिशत करीब 57.08 प्रतिशत रहा जो महिलाओं की अपेक्षा 2.7 प्रतिशत कम है। दिल्ली कैंट विधानसभा की महिला मतदाता उस मिथक को भी बदलने में कामयाब रहीं हैं, जिसमें कहा जाता है कि महिलाओं की अपेक्षा पुरुष अधिक मतदान करते हैं।

दिल्ली कैंट विधानसभा की ही तरह चांदनी चौक संसदीय क्षेत्र की त्रिनगर, उत्तर-पूर्वी संसदीय क्षेत्र की बुराड़ी, पूर्वी दिल्ली संसदीय क्षेत्र की ओखला और विश्वास नगर, नई दिल्ली संसदीय क्षेत्र की राजेंद्र नगर, नई दिल्ली और आरकेपुरम, पश्चिमी दिल्ली संसदीय क्षेत्र की विकासपुरी और मटियाला, दक्षिण दिल्ली संसदीय क्षेत्र की छतरपुर और बदरपुर विधानसभा में महिलाओं का मतदान के प्रति रुझान काबिले तारीफ है। इन सभी विधानसभा में पुरुषों एवं महिलाओं के बीच मतदान के प्रतिशत का अंतर एक प्रतिशत से कम है। पुरुष एवं महिला के बीच मतदान का अंतर त्रिनगर में 0.68 प्रतिशत, बुराड़ी में 0.53 प्रतिशत, ओखला में 0.79 प्रतिशत, विश्वास नगर में 0.65 प्रतिशत, राजेंद्र नगर में 0.79 प्रतिशत, नई दिल्ली में 0.65 प्रतिशत, आरकेपुरम में 0.18 प्रतिशत, विकासपुरी में 0.72 प्रतिशत, मटियाला में 0.55 प्रतिशत, छतरपुर में 0.71 प्रतिशत और बदरपुर में 0.16 प्रतिशत है।

वहीं मुस्लिम बहुल नौ विधानसभाओं में ओखला विधानसभा की महिलाओं ने भी गुरुवार को भारी तादाद में मतदान का नया कीर्तिमान बनाया है। मुस्लिम बहुल इलाकों में भी यह माना जाता है कि महिलाएं पुरुषों की अपेक्षा मतदान के लिए घर से कम ही निकलती हैं। लेकिन ओखला विधानसभा की 56.36 प्रतिशत महिलाओं ने मताधिकार का प्रयोग किया। जबकि ओखला विधानसभा में करीब 57.15 प्रतिशत पुरुष मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। इस विधानसभा में पुरुष एवं महिलाओं के बीच मतदान का अंतर महज 0.79 प्रतिशत था। वहीं पुरुषों एवं महिलाओं के बीच मतदान का सबसे बड़ा अंतर चांदनी चौक संसदीय क्षेत्र के अंतर्गत आने वाली मटिया महल विधानसभा में देखा गया। इस विधानसभा में महिलाओं एवं पुरुषों के बीच मतदान का अंतर करीब 10.12 प्रतिशत था। यहां 70.48 प्रतिशत पुरुष और 60.36 प्रतिशत महिलाओं ने मताधिकार का प्रयोग किया।

आयोग के आंकड़ों के अनुसार, पुरुष और महिलाओं के बीच मतदान का अंतर सदर बाजार विधानसभा में 5.40 प्रतिशत, चांदनी चौक में 5.39 प्रतिशत, मटिया महल में 10.12 प्रतिशत, बल्लीमारान में 8.02 प्रतिशत, सीमापुरी में 2.59 प्रतिशत, सीलमपुर में 6.29 प्रतिशत, बाबरपुर में 4.17 प्रतिशत, मुस्तफाबाद में 2.56 प्रतिशत और ओखला में 0.79 प्रतिशत था। विभिन्न संसदीय क्षेत्रों के अंतर्गत आने वाली ये सभी विधानसभाएं मुस्लिम बहुल मानी जाती हैं।