पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Gangrep: Transportation Department Probe Against

वसंत विहार गैंगरेप : परिवहन विभाग के खिलाफ जांच के आदेश

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

नई दिल्ली. वसंत विहार में चलती बस में पैरामेडिकल छात्रा से गैंगरेप के मामले से संबंधित एक याचिका पर सुनवाई करते हुए विशेष न्यायधीश संगीता ढिंगरा सहगल ने जांच के लिए क्राइम ब्रांच को चार हफ्ते का वक्त दिया है।

आरटीआई एक्टिविस्ट विवेक गर्ग ने याचिका दायर कर इस मामले में परिवहन मंत्री, परिवहन आयुक्त और अन्य के खिलाफ भ्रष्टाचार, धोखाधड़ी और विश्वासघात और आपराधिक साजिश का मामला दर्ज करने की मांग की है।

कोर्ट ने कहा कि मामला दर्ज करने के आदेश देने से पहले सुप्रीम कोर्ट के दिशा-निर्देशों के अनुरूप प्रारंभिक जांच करनी जरूरी है। क्राइम ब्रांच को इस मामले में 4 अप्रैल तक जवाब दायर करने को कहा गया है।

इससे पहले इस मामले में डीसीपी क्राइम ब्रांच कुमार ज्ञानेश कोट में पेश हुए। उन्होंने कोर्ट को बताया कि जिस बस में वारदात हुई उसके मालिक दिनेश यादव के खिलाफ एफआईआर दर्ज है और पुलिस मामले की जांच कर रही है।

दिल्ली पुलिस को हाईकोर्ट का नोटिस :

वहीं, दिल्ली हाईकोर्ट ने वसंत विहार गैंगरेप के आरोपी की उस याचिका पर पुलिस से जवाब मांगा है जिसमें एक निजी समाचार चैनल को पीडि़ता के दोस्त द्वारा दिए गए इंटरव्यू की सीडी को सबूत के तौर पर इस्तेमाल की अनुमति देने का आग्रह किया गया है।

न्यायमूर्ति जीपी मित्तल ने कहा कि दिल्ली पुलिस को नोटिस जारी किया जाए। याचिका के निपटारे की अंतिम तारीख 5 मार्च रखी जाए।

अदालत राम सिंह और उसके भाई मुकेश की याचिका पर सुनवाई कर रही थी जिसमें उन्होंने फास्ट ट्रैक कोर्ट के उस आदेश को चुनौती दी थी जिसके तहत उन्हें चार जनवरी को प्रसारित इंटरव्यू की सीडी दिखाने की इजाजत नहीं मिली थी। गैंगरेप के आरोपी की याचिका वकील वीके आनंद ने दायर की थी।