पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Getting Ready To Fungus Natural Dye For Fabrics

फंगस से तैयार हो रही है कपड़ों के लिए नेचुरल डाई

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

नई दिल्ली. रंग बिरंगे फूल, पत्तों और पेड़ों की छालों से तैयार होने वाले नेचुरल ऑर्गेनिक डाई के बाद दिल्ली यूनिवर्सिटी के छात्रों ने एक ऐसी माइक्रोऑर्गेनिक तकनीक विकसित की है जिससे कपड़ों को खूबसूरत रंग देने के लिए सड़ी गली वनस्पतियों पर उपजने वाली फंगस की मदद ली जा रही है।

मजेदार बात यह है कि इन फंगसों के अबतक 120 से भी ज्यादा सैंपल को स्क्रीन किया जा चुका है जो नीले, पीले, हरे, लाल, नारंगी, बैगनी और काले रंगों जैसी कई शेड दे रहे हैं।

यह फंगस मिट्टी, हवा, सब्जियों, पत्तों आदि की मदद से माइक्रो बायोलोजी लैब में एक खास तापमान और पीएच स्थिर कर उपजाई जा रही है।

अबतक अमेरिका और जापान में बस इस तरह के शोध किए गए हैं लेकिन यह पहला मौका है जब बायो इंजीनियर नेचुरल डाई को लैब में सफलता पूर्वक बनाकर प्रयोग में भी लाया जा रहा है। जल्द ही इस तकनीक को डीयू पेटेंट पर विचार कर रही है।

त्वचा का रखेगा खास खयाल: डॉ चारू ने बताया कि फंगस से तैयार होने वाले इस डाई में डिफेस मैकेनिज्म और एंटी माइक्रोबियल जैसी प्रोपर्टी होते हैं जो त्वचा के लिए रोग प्रतिरोधक क्षमता की तरह काम करती है।

दरअसल इस तकनीक के लिए नॉन पैथेनिक फंगस का प्रयोग किया जा रहा है जो स्वास्थ के लिए हानिकारक नहीं होतीं। इन फंगस को फेब्रिक पर टेस्टिंग के बाद ही प्रयोग किया जा रहा है।