• Hindi News
  • High Court Statement No Court Stop Public To Toilet At Public Place

सार्वजनिक स्थलोंं पर लोगों को पेशाब करने से नहीं रोक सकती अदालत: हाईकोर्ट

8 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
नई दिल्ली. सार्वजनिक स्थलोंं पर लोगों के पेशाब करने की आदत पर पाबंदी लगाने से इनकार करते हुए दिल्ली हाईकोर्ट ने शुक्रवार को कहा कि वह यह सुनिश्चित नहीं कर सकता है कि अपने घरों से निकलने के बाद लोग बाहर पेशाब न करें।
आवासीय परिसर के दीवार पर लगी देवी-देवताओं की तस्वीरों को हटाने का निर्देश देने का अनुरोध करने वाली याचिका को खारिज करते हुए न्यायमूर्ति प्रदीप नंद्राजोग और न्यायमूर्ति दीपा शर्मा की पीठ ने यह बातें कहीं। अदालत ने कहा कि लोगों को दीवारों पर पेशाब करने से रोकने के लिए आवासीय परिसर की दीवारों पर यह तस्वीरें लगाई जाती हैं। उसने कहा कि इसके बावजूद लोग ऐसा करने से बाज नहीं आते।
अदालत ने कहा, 'अब, कोई किसी को भी उसके मकान की दीवार और सामूहिक आवासीय परिसर की दीवारों पर देवी-देवताओं की तस्वीरें लगाने से मना नहीं कर सकता है। निवासियों को देवी-देवताओं की तस्वीरें हटाने का निर्देश देने के संबंध में किए गए अनुरोध पर हम निर्देश जारी नहीं कर सकते।' अदालत ने कहा कि सार्वजनिक रूप से पेशाब करने की समस्या को किसी और तरीके से सुलझाना होगा। यह अदालत ऐसा कोई व्यक्ति नहीं बना सकती है जो अपने घर से निकले और पेशाब न करे।
आगे की स्लाइड में पढ़िए- दिल्‍ली में नर्सरी दाखिला फिर अधर में...