पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Murder Accused Killed In Rohini Court In Delhi

दिल्ली में गुंडाराज : कोर्ट में घुसकर गोलियों से उड़ाया गया हत्या का आरोपी

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

नई दिल्ली. रोहिणी न्यायालय परिसर की सुरक्षा व्यवस्था में सेंध लगाते हुए कुछ हमलावरों ने हत्या के एक आरोपी की गोली मारकर हत्या कर दी। पुलिस ने गोलीकांड में मारे गए आरोपी की पहचान नरेला के पाना पापोसिया निवासी नवीन खत्री के रूप में की गई है।

इस घटना में दिल्ली पुलिस की थर्ड बटालियन के कांस्टेबल अनुराग कुमार के पैर में भी गोली लगी है। पुलिस इस हत्याकांड को अश्वनी गिरोह और नवीन गिरोह के बीच चल रही गैंगवार का नतीजा मान रही है। पुलिस ने इस वारदात को अंजाम देने वाले मुकेश नामक शख्स को गिरफ्तार कर लिया है।

बाहरी जिले के पुलिस उपायुक्त बीएस जयसवाल के अनुसार घटना दोपहर करीब बारह बजे की है। कांस्टेबल अनुराग कुमार नरेला में हुई एक हत्या के आरोपी नवीन खत्री को अदालत के लॉकअप से निकाल कर कोर्ट रूम ले जा रहा था। पुलिस के मुताबिक इसी दौरान नरेला के बांकानेर निवासी मुकेश ने नवीन पर दो गोलियां चलाईं। पहली गोली नवीन की पीठ पर लगी जबकि दूसरी गोली कांस्टेबल अनुराग के पैर में लगी।

मौके पर मौजूद एक अन्य कांस्टेबल राजकुमार ने मुकेश का पीछा कर उसे दबोच लिया। पूछताछ में पता चला कि मुकेश दिल्ली के कुख्यात अश्वनी गिरोह का सदस्य है। अश्वनी ने मुकेश को इस वारदात को अंजाम देने के लिए कहा था। अश्वनी हत्या, हत्या के प्रयास, डकैती सहित कई जघन्य मामलों के तहत रोहिणी जेल में बंद है।

पूछताछ के दौरान मुकेश ने पुलिस को बताया कि वह सुशील नामक एक शख्स की बस में कंडक्टर का काम करता है। नवीन खत्री ने कुछ समय पहले सुशील की हत्या कर दी थी। जिसके बाद से अश्वनी नवीन की हत्या की साजिश तैयार कर रहा था। उसे अश्वनी ने नवीन की हत्या की सुपारी देते हुए हथियार और कारतूस मुहैया कराए थे।

पुलिस ने घटनास्थल से एक पिस्टल और एक देसी कट्टा बरामद कर लिया है। जांच के दौरान पता चला कि मुकेश दोनों हथियार एक पॉलीथिन में रख कर लाया था। अदालत परिसर में घुसने से पहले इस पॉलीथिन को अदालत की चार दीवारी पर रख दिया था।

अदालत परिसर में प्रवेश करने के बाद उसने यह पॉलीथिन उठाई थी। पुलिस उपायुक्त के अनुसार घटना के उपरांत मौके पर पहुंची पुलिस टीम को कुछ प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया था कि वारदात को दो लोगों ने अंजाम दिया था।


जिसमें से एक पकड़ा गया जबकि दूसरा फरार होने में सफल हो गया। पुलिस ने इस मामले में दो महिलाओं समेत कुछ लोगों को हिरासत में लिया है। पूछताछ के दौरान यह पता लगाने का प्रयास किया जा रहा है कि हत्याकांड के दौरान मुकेश के साथ अदालत परिसर में और कौन-कौन मौजूद था।