पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • To Deal With Strike In Delhi, Orders To Ready 5513 Buses

हड़ताल से निबटने के लिए कसी कमर, 5513 बसों को तैयार कर रखने के आदेश

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

नई दिल्ली. देश भर के ग्यारह से अधिक मजदूर संघ के आह्वान पर 20 व 21 फरवरी को होने वाली देशव्यापी हड़ताल से निबटने के लिए दिल्ली सरकार के परिवहन विभाग ने पूरी तैयारी कर ली है।

परिवहन मंत्री रमाकांत गोस्वामी ने इस हड़ताल का असर आम जनजीवन पर न पड़े इसके लिए दिल्ली परिवहन निगम के कर्मचारियों की छुट्टियों को निरस्त कर दिया है।

परिवहन निगम के चार बड़ी यूनियनों के द्वारा इस हड़ताल का समर्थन किए जाने से प्रशासन ने एहतियात बरतते हुए दिल्ली पुलिस को पत्र लिखकर अपने सभी डिपो व टर्मिनलों के पास पुलिस सुरक्षा की मांग की है जिससे कर्मचारियों को डिपो के अंदर आने से हड़ताली कर्मचारी रुकावट नहीं कर सके।

परिवहन मंत्री रमाकांत गोस्वामी ने सभी वाहन चालकों और परिचालक को इन दोनों दिन ड्यूटी के लिए तत्पर रहने के आदेश दिए हैं। वहीं टाटा व लीलैंड के बस निर्माताओं को सभी 5513 बसों को बस की सर्विस कर तैयार रखने का आदेश के साथ बड़ी संख्या में रिकवरी वैन व क्रेन का भी इंतजाम करने को कहा है। जिससे बस में खराबी आने पर उसे तुरंत ठीक किया जा सके।

सड़कों से ऑटो, टैक्सी के गायब होने से थम सकती है दिल्ली की रफ्तार

राजधानी में 20 व 21 फरवरी को हड़ताल के चलते दिल्ली की रफ्तार थम सकती है। परिवहन विभाग में दखल रखने वाली चारो यूनियनों का कहना है कि दिल्ली परिवहन निगम (डीटीसी) के साथ ऑटो व टैक्सी यूनियनों ने बुधवार व गुरुवार को हड़ताल पर रहने से दिल्ली की सार्वजनिक यातायात व्यवस्था ठप हो जाएगी।

दिल्ली परिवहन निगम बचाओ संयुक्त मोर्चा की ओर से जारी बयान में कहा गया कि 20-21 फरवरी को डीटीसी कर्मचारी हड़ताल पर रहने की घोषणा कर दी है।

हालांकि डीटीसी अधिकारियों का कहना है कि कर्मचारी हड़ताल पर नहीं रहेंगे और बसें पूर्ववत चलती रहेंगी। वहीं चिम्टा की ट्रंाजिट बसें क्लस्टर बसें पूरी तरह से चलेगी।

उधर, भारतीय प्राइवेट ट्रांसपोर्ट मजदूर महासंघ के अध्यक्ष राजेंद्र सोनी व दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष यशपाल ने कहा कि दिल्ली के सभी ऑटोरिक्शा, टैक्सी, आरटीवी, ग्रामीण सेवा पूरी तरह बंद रहेंगी।

वहीं ऑल दिल्ली ऑटो टैक्सी ट्रांसपोर्ट कांग्रेस यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष किशन वर्मा ने कहा है कि दिल्ली में उनके संगठन की 35000 ऑटो आंदोलन का बहिष्कार कर यात्रियों को सेवा देगी। वर्मा ने कहा है कि इस हड़ताल के विरोध में 15 संगठन उनके साथ हैं।

डीटीसी बसें 5513
ऑटो 65000
काली पीली टैक्सी 9500
इकॉनमी टैक्सी 3500
शाम 7 बजे तक खुली रहेंगी एसबीआई की शाखाएं

हालांकि हड़ताल को देखते हुए स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने आज बैंक में कामकाज का समय शाम 7.00 बजे तक बढ़ा दिया है।

वहीं, दिल्ली सरकार ने हड़ताल को देखते हुए डीटीसी से दो दिन तक सारी बसें चलाने को कहा है। मुख्यमंत्री के द तर से जारी बयान में कार चलाने वालों से अपील की गई है कि वो कार में और भी लोगों बिठाए।

ताकि अगर लोगों को वाहन मिलने में दिक्कत हो तो उनकी मदद हो सके। दी है। इसके अलावा बैंककर्मी भी हड़ताल पर रहेंगे। यही नहीं, इन दोनों दिन तीनों नगर निगमों के कर्मचारी भी काम नहीं करेंगे, इससे सफाई व्यवस्था पर बुरा असर पड़ेगा। ब

ता दें कि देशभर की 11 से अधिक यूनियनों ने मिलकर महंगाई, विनिवेश नीति व श्रम कानूनों का पालन न करने के विरोध में दो दिवसीय हड़ताल का आह्वान किया है।

हालात की गंभीरता को देखते हुए दिल्ली सरकार ने भी तत्परता दिखाई है। बताया गया है कि सरकारी अधिकारी यूनियन नेताओं को समझाने का प्रयास कर रहे हैं कि वे हड़ताल में शामिल न हों।

जबकि सरकारी प्रवक्ता की ओर से जारी एक बयान में दिल्ली वालों को भरोसा दिलाया गया है कि हड़ताल की वजह से लोगों को परेशानी नहीं आने दी जाएगी और सार्वजनिक वाहन सड़क पर चलाने की व्यवस्था की जाएगी जिससे लोगों को परेशानी नहीं हो।