हमीरपुर में बनेगा मैटर्न सहायता केंद्र व प्लेसमेंट सैल, डेढ़ लाख पूर्व सैनिकों व आश्रितों को मिलेगी सुविधा

Hamirpur News - राज्य का पहला मैटर्न सहायता केंद्र व प्लेसमेंट सैल हमीरपुर में शुरु होगा। रक्षा मंत्रालय के अधीन सैनिक वेल्फेयर...

Bhaskar News Network

Nov 11, 2019, 07:20 AM IST
Hamirpur News - a support center and placement cell to be set up in hamirpur 15 lakh ex servicemen and dependents will get facility
राज्य का पहला मैटर्न सहायता केंद्र व प्लेसमेंट सैल हमीरपुर में शुरु होगा। रक्षा मंत्रालय के अधीन सैनिक वेल्फेयर की और से योजना को अमलीजामा पहनाने का क्रम शुरु हो गया है। सेना कर्मचारियों की तैनाती का कार्य होते ही यहां अब दूसरे कर्मचारियों की भी तैनाती होगी। इस सैल का लाभ राज्य के 1 लाख 35 हजार से ज्यादा पूर्व सैनिकों व उनके आश्रितों को सीधे रूप में मिल सकेगा। इस सैल को यहां राज्य के सबसे बड़े ईसीएचएस पॉलीक्लिनिक में शुरु किए जाने की कर्नल मैटर्न जालंधर की ओर से आश्वासन दिया गया था। इस योजना के शुरु होने से पात्रों को एक तल पर नौकरी से लेकर किसी भी डॉक्यूमेंट को सही करवाने में सहायता मिलेगी। उनकी हर समस्या को संबंधित विभाग को भी यहीं से भेजा जा सकेगा।

यह सुविधाएं मिलंेगी

इस सैल के तहत पूर्व सैनिकों उनके आश्रितों को जिस भी सरकारी या प्राइवेट सेक्टर की नौकरी निकलेगी। उससे संबंधित फॉर्म भरने अप्लाई करने, किसी का नाम गलत हो तो उसके सुधार करने, बच्चों को दी जाने वाली सरकारी योजनाओं का डॉटा संबंधित विभागों तक पहुंचाने और जो जवाब आए उस पर उन्हें सहायता दिलाने के अलावा जो भी समस्याएं होंगी, उनके हल के बारे में यहीं से फेसिलिटेटर से लेकर दूसरे एक्सपर्ट तक उनकी समस्या को पहुंचाने का कार्य होगा।

इससे पहले पात्रों को समस्याओं के समाधान के लिए लंबी दौड़ लगानी पड़ती थी। क्योंकि जानकारी के अभाव चलते वे उचित मंच या विभाग के पास वह अपनी समस्या को पहुंचा ही नहीं पाते हैं। लेकिन अब इस सैल के माध्यम से ही उनकी हर समस्या को संबंधित विभाग तक पहुंचाया जा सकेगा और उसका समय पर हल भी हो सकेगा।

उल्लेखनीय है कि कई पूर्व सैनिक जो सेना की नौकरी से सेवानिवृत होते ही दूसरी नौकरी के लिए इस दुविधा में रहते हैं कि वह कहां और किस आधार से अप्लाई करें, लेकिन इस सैल के माध्यम से उन्हें पूरी जानकारी मिल सकेगी।

यहीं नहीं पूर्व सैनिकों को सेवानिवृति होने पर पेंशन को लेकर भी जानकारी का अभाव रहता है, क्योंकि उन्हें तीन केंद्रों के माध्यम से पेंशन दी जाती है, इनमें बैंक, रक्षा मंत्रालय के पेंशन डिसवर्सिंग कार्यालय व पेंशन प्रोसेसिंग सिस्टम के तहत मिलती है, ऐसे में पेंशन मामले पर कोई समस्या होने पर वह अपने प्रॉसेस को सही मंच से उठा ही नहीं पाते हैं। इस सैल के माध्यम से सीधा उनकी हर समस्या का हल हो सकेगा।

ईसीएचएस पॉलीक्लिनिक में शुरु होगा प्लेसमेंट सेल।


X
Hamirpur News - a support center and placement cell to be set up in hamirpur 15 lakh ex servicemen and dependents will get facility
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना