• Hindi News
  • Bihar
  • Hajipur
  • Vaishali News abhishek kumar used to study for eight to 10 hours making 846 percent marks in inter science topper of the school

इंटर साइंस में 84.6 प्रतिशत अंक लाकर स्कूल का टॉपर बना अभिषेक कुमार आठ से 10 घंटे तक करता था पढ़ाई

Hajipur News - दिल में लगन और मन में विश्वास हो तो सफलता कदम चूमती है। शहरों के शिक्षण संस्थानों में संसाधन पूर्ण होती है और वहा...

Mar 27, 2020, 08:35 AM IST
Vaishali News - abhishek kumar used to study for eight to 10 hours making 846 percent marks in inter science topper of the school

दिल में लगन और मन में विश्वास हो तो सफलता कदम चूमती है। शहरों के शिक्षण संस्थानों में संसाधन पूर्ण होती है और वहा के बच्चे भी प्रतिभावान होते है, लेकिन गांवों में भी प्रतिभावान बच्चे होते हैं, जो मजबूत इरादे हौसले और अपनी प्रतिभा से गांव का नाम रौशन करता है। ऐसा ही छात्र गोरौल प्रखंड क्षेत्र के कटरमाला निवासी पत्रकार अमरेश कुमार शर्मा के भतीजा तथा पिता अवधेश शर्मा एवं माता धर्मशीला देवी के पुत्र एवं श्रीराम परीक्षण चन्द्र ज्योति इंटरस्तरीय विद्यालय बेलबर के छात्र अभिषेक कुमार ने इंटर साइंस परीक्षा में 84.6 प्रतिशत अंक प्राप्त कर गांव एवं विद्यालय का नाम रौशन किया। इसका श्रेय दादा विंदेश्वर शर्मा, दादी शंकुतला देवी के अलावा पूरे परिवार को दे रहा है। अभिषेक प्रतिदिन घर से लगभग 3 किलोमीटर दूर साइकिल से विद्यालय पढ़ने जाता था। अभिषेक अपने घर पर 8 से 10 घंटे पढ़ाई करता है। तीन भाइयों में सबसे छोटा अभिषेक के पिता गांव में ही मजदूरी का काम करते है।

इंटर साइंस में प्रीति ने लहराया परचम


हाजीपुर |आरएन कॉलेज की छात्रा प्रीति कुमारी ने इंटर साइंस परीक्षा में 80 प्रतिशत अंक प्राप्त कर कॉलेज के साथ अपने गांव समाज का नाम रौशन की है। प्रीती गोरौल प्रखंड के रहसा पूर्वी गांव निवासी दिलीप सिंह एवं अमिला देवी की पुत्री है। प्रीति को सभी विषयों में डिक्टेशन अंक प्राप्त है। प्रीति ने बताया कि यह सफलता पिता के बताए मार्ग, कड़ी मेहनत, माता एवं गुरुजनों का आशीर्वाद का फल है। उन्होंने बताया कि सफलता पर काफी खुश हूं लेकिन खुशी नही मनाऊंगी क्योंकि देश इस वक्त कोरोना वायरस के प्रकोप से पीड़ित है। उन्होंने बताया कि सरकार की जनहित में लॉक डाउन का पूरी तरह पालन करूंगी। प्रीति आगे चलकर सिविल सेवा की तैयारी करना चाहती है।

आरएन कॉलेज की छात्रा रोली 92 प्रतिशत अंक लाकर बनी जिला टॉपर

सिटी रिपोर्टर| हाजीपुर

शहर के अनवरपुर पूर्वी मोहल्ला निवासी सुनील कुमार व संजू देवी की पुत्री रोली कुमारी ने इंटरमीडिएट परीक्षा 2020 में वैशाली जिला टॉपर बन गई है। शहर के आरएन कॉलेज की छात्रा रोली ने इंटरमीडिएट परीक्षा में 464 (92.8 प्रतिशत) अंकों के साथ सफलता हासिल की है। जिला में टॉपर स्थान पर पुत्री को सफलता मिलने पर घर में खुशी की दौड़ गई। वहीं रोली के दोस्त रिश्तेदारों का मोबाइल से बधाई देने का सिलसिला लगातार जारी है।

बच्ची पर कभी आर्थिक परेशानी का नहीं होने दिया एहसास

बेहद गरीब परिवार में जन्म लेने वाली रोली के पिता ने कभी भी अपनी बिटिया पर आर्थिक परेशानियों का एहसास नहीं होने दिया। पुत्री भी माता-पिता के सपने को साकार करने में कोई कसर नहीं छोड़ी। प्लास्टिक बर्तनों की दुकान से घर गृहस्थी चलाने वाले सुजीत कुमार को आमदनी का एक मात्र साधन अनवरपुर चौक पर प्लास्टिक की दुकान है। बच्चे की पढ़ाई में किस प्रकार की परेशानी नहीं हो इसके लिए माता-पिता खुद सारी परेशानियों का सामना करते हुए पुत्री को कभी भी अपनी आर्थिक स्थिति का एहसास नहीं होने दिया।

राजापाकर के विवेक ने इंटर साइंस की परीक्षा में 92.2 प्रतिशत अंक के साथ पाई सफलता

राजापाकर|राजापाकर प्रखंड स्थित संत कबीर महंत रविंद्र दास इंटर कॉलेज, भलुई का छात्र विवेक कुमार ने इंटर साइंस की परीक्षा में 92.4 प्रतिशत अंक लाकर कॉलेज के साथ-अपने जिला, गांव, समाज के अलावे माता-पिता का नाम रौशन किया है। छात्र विवेक राजापाकर प्रखंड मुख्यालय के दक्षिणी पंचायत स्थित कुशवाहा टोला निवासी किसान मनोज कुमार का पुत्र है। छात्र विवेक को सभी विषयों में डिक्टेशन मिला है। अपनी सफलता के बाद छात्र विवेक ने बताया कि उसने अपने चचेरे भाई प्रशांत कुमार के दिशा निर्देशन एवं कड़ी मेहनत से परीक्षा की तैयारी की थी। वह अपनी सफलता का श्रेय चचेरा भाई के साथ ही अपने गुरुजनों को देता है। अपनी सफलता से खुश छात्र विवेक ने बताया कि वह आगे की पढ़ाई जारी रखते हुए यूपीएससी की तैयारी कर प्रशासनिक अधिकारी बनना चाहता है।

आरएन कालेज की छात्रा जिला टॉपर रोली कुमारी।

इन्होंने दी बधाई

पंचायत के मुखिया जानकी देवी, संजय कुमार, विद्यालय के प्राचार्य सीमा कुमारी, डॉ. अरविंद कुमार शरण, देवाशीष कुमार शील, उमेश कुमार प्रसाद सिंह, अजय कुमार शर्मा, बबिता देवी नीलम कुमारी, अंजलि कुमारी, चन्द्र शेखर कुमार, चंद्रभूषण कुमार, एसके सूर्या, रंजीत कुमार, आशीष कुमार, एमके मणी, सर्वेश कुमार सफलता पर बधाई दिया है।

इंजीनियर बन करना चाहती है पिता के सपने को साकार

बचपन से पढ़ाई लिखाई में तेज रोली आगे चलकर इंजीनियर बनकर पिता के सपने को साकार करना चाहती है। आर्थिक तंगी की वजह से सुनील कुमार खुद तो इंजीनियर नहीं बन पाए लेकिन रोली में पढ़ाई के प्रति लगाव देख एक बार फिर अपने सपने को रोली के माध्यम से साकार होते देख रहे है। पिता के सपनों को साकार करने के लिए रोली ने भी कोई कोर कसर नहीं छोड़ी, प्रतिदिन 12-12 घंटे तक पढ़ाई शुरू कर दी। परिणाम है कि रोली पूर्व में मैट्रिक परीक्षा में जिला टॉपर के स्थान को सुरक्षित रखते हुए इंटर परीक्षा में भी जिला टॉपर बन माता-पिता का सर गर्व से ऊंचा कर दिया।

मां करती थी सुबह में पढ़ने के लिए प्रेरित

अभिषेक की मां धर्मशीला देवी खुद कम पढ़ी लिखी होने के कारण पढ़ाई लिखाई का महत्व बखूबी समझती है। इसी का नतीजा है कि अभिषेक को प्रतिदिन सुबह बेड से उठा कर पढ़ने के लिए प्रेरित करती थी। इसी का परिणाम है की इंटर परीक्षा में प्रथम श्रेणी में सफलता हासिल किया है। सफलता पर घर और गांवों में खुशी का माहौल है।

गोरौल प्रखण्ड के विद्यालय टॉपर कुमार अभिषेक।

यूपीएससी क्वालीफाई कर देश की सेवा करने का है सपना

विधालय टॉपर बना अभिषेक अपनी पढ़ाई पूरी कर यूपीएससी क्वालीफाई कर अधिकारी बनना चाहता हैं। अधिकारी बन कर देश के लोगों की सेवा करना अभिषेक की पहली प्राथमिकता है। गांव के बच्चों को बेहतर शिक्षा के लिए माहौल बनाने के साथ ग्रामीण क्षेत्र के नौजवानों को पढ़ाई के साथ एक सच्चा देशभक्त बना कर देश को विश्व के नम्बर वन श्रेणी में पहुंचाने का सपना है।

तीन भाइयों में सबसे छोटा है अभिषेक कुमार, पिता गांव में ही करते हैं मजदूरी

Vaishali News - abhishek kumar used to study for eight to 10 hours making 846 percent marks in inter science topper of the school
X
Vaishali News - abhishek kumar used to study for eight to 10 hours making 846 percent marks in inter science topper of the school
Vaishali News - abhishek kumar used to study for eight to 10 hours making 846 percent marks in inter science topper of the school

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना