एक बार फिर डूसू पर एबीवीपी काबिज

News - दिल्ली यूनिवर्सिटी स्टूडेंट्स यूनियन(डूसू) चुनाव 2019 में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने अध्यक्ष, उपाध्यक्ष और...

Bhaskar News Network

Sep 14, 2019, 07:26 AM IST
New Delhi News - abvp holds dusu once again
दिल्ली यूनिवर्सिटी स्टूडेंट्स यूनियन(डूसू) चुनाव 2019 में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने अध्यक्ष, उपाध्यक्ष और संयुक्त सचिव पद पर लगातार दूसरे साल कब्जा किया है। एनएसयूआई को फिर सिर्फ एक सचिव पद से संतोष करना पड़ा है। डीयू इलेक्शन इस बार दो लिहाज से खास रहा। 1970 के पहले इलेक्शन के बाद कोई भी अध्यक्ष सबसे बड़े अंतर (19,040 वोट) से इलेक्शन जीता। इसके अलावा अध्यक्ष पद का चुनाव जीतने वाले अक्षित दहिया सबसे कम उम्र (20 साल) के प्रत्याशी भी बन गए। सचिव पद प्रत्याशी आशीष लांबा सबसे कम 2053 वोट से जीते हैं। हालांकि कुल वोट की बात करें तो एबीवीपी के अध्यक्ष पद प्रत्याशी अक्षित दहिया के बाद दूसरी पसंद के तौर पर सबसे अधिक 20934 वोट आशीष लांबा को मिला है। दोनों अधिक वोट पाने वाले प्रत्याशी लॉ सेंटर-1 और कैंपस लॉ सेंटर के छात्र हैं। मतों की गिनती करीब दो घंटे देरी से शुरू हुई। शुरुआती दौर में सभी 4 सीटों पर एबीवीपी आगे थी लेकिन बाद में एनएसयूआई के सचिव ने बढ़त ली और सीट जीत ली। एबीवीपी के प्रदेश मंत्री सिद्धार्थ यादव ने कहा है कि पिछले साल के कार्यों पर छात्रों ने भरोसा जताया है। अब हमने घोषणा पत्र में जो वादे किए हैं, उसे पूरा करेंगे।

12 सितंबर को हुई थी 39.9% वोटिंग, चार पदों पर 16 प्रत्याशी मैदान में थे

उपाध्यक्ष| प्रदीप तंवर एबीवीपी: एनएसयूआई के अंकित भारती को 8574 वोट से हराया

कम वोटिंग और जम कर नोटा वोट पड़ने के बावजूद डूसू इलेक्शन में अध्यक्ष पद पर अब तक की सबसे बड़ी जीत, साथ ही डीयू को मिला सबसे युवा अध्यक्ष

अध्यक्ष| अक्षित दहिया एबीवीपी: एनएसयूआई की चेतना त्यागी को 19040 वोट से हराया

सिर्फ सचिव पद पर ही एनएसयूआई का प्रत्याशी जीत सका, लेफ्ट इस बार भी साफ

संयुक्त सचिव| शिवांगी खरवाल, एबीवीपी : एनएसयूआई के अभिषेक को 2914 वोट से हराया।

सचिव| आशीष लांबा

एनएसयूआई: एबीवीपी के योगित राठी को 2053 वोट से हराया

डीयू में नोटा एक सीट पर 7879 तक पहुंचा

डूसू चुनाव में मतदान का प्रतिशत 2018 के 44.46 फीसदी के मुकाबले इस साल 39.9 फीसदी रहा है। इस बार एबीवीपी और एनएसयूआई ने छात्रों से वोटिंग के एक दिन पहले अपील भी की थी कि मुद्दे पर आधारित वोटिंग करें। नोटा का बटन ना दबाएं। इस अपील के बावजूद अध्यक्ष पद पर 5495, उपाध्यक्ष पद पर 7879, सचिव पद पर 6570 और संयुक्त सचिव पद पर 7695 स्टूडेंट्स ने नोट का बटन दबाया।

एक पद पर छात्रा जीती, तीन पदों पर पांच मैदान में थीं

डूसू चुनाव में अध्यक्ष पद पर 3 छात्राओं के साथ 4 पदों पर इस बार 5 छात्राएं मैदान में थीं। इसमें संयुक्त सचिव पद पर शिवांगी खरवाल ने एनएसयूआई के आशीष छपराना को 2914 वोट से हराया है। जबकि आइसा की चेतना को संयुक्त सचिव पद पर ही 10876 वोट मिले हैं। अध्यक्ष पद पर चुनावी मैदान में उतरीं तीनों छात्राएं एबीवीपी प्रत्याशी के वोट से काफी पीछे रह गई हैं। अध्यक्ष पर 2007 के बाद एनएसयूआई ने पहली पर छात्रा को उतारा था।

New Delhi News - abvp holds dusu once again
New Delhi News - abvp holds dusu once again
X
New Delhi News - abvp holds dusu once again
New Delhi News - abvp holds dusu once again
New Delhi News - abvp holds dusu once again
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना