--Advertisement--

13 जून तक रोज शाम को तुलसी के सामने खड़े होकर करें 3 काम

घर की हर कमी हो सकती है पूरी, अधिक मास में करें तुलसी के साथ लक्ष्मी-विष्णु के उपाय

Dainik Bhaskar

May 22, 2018, 05:02 PM IST
adhik maas ke upay, how to worship to tulsi in home, basil plant in home

रिलिजन डेस्क। अभी अधिक मास चल रहा है। हिन्दी पंचांग के अनुसार 13 जून तक ज्येष्ठ मास का अधिक मास रहेगा। ये महीना 3 साल में एक ही बार आता है। उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पं. मनीष शर्मा के अनुसार अधिक मास को पुरुषोत्त्म मास भी कहा जाता है। पुरुषोत्तम भगवान विष्णु का ही एक नाम है। इस कारण इन दिनों में श्रीहरि की खास पूजा होती है। विष्णुजी को प्रसन्न करने के लिए रोज सुबह-शाम तुलसी की सेवा करनी चाहिए। यहां जानिए अधिक मास में तुलसी पूजा से जुड़ी कुछ खास बातें...

# तुलसी पूजा में करें ये 3 काम

> तुलसी को रोज सुबह जल चढ़ाएं। शाम को तुलसी के पास घी का दीपक जलाएं। ध्यान रखें तुलसी को स्पर्श न करें।

> शाम को तुलसी की परिक्रमा करें।

> तुलसी मंत्र का जाप करें।

मंत्र- वृंदा वृंदावनी विश्वपूजिता विश्वपावनी।

पुष्पसारा नंदनीय तुलसी कृष्ण जीवनी।।

एतभामांष्टक चैव स्त्रोतं नामर्थं संयुतम।

य: पठेत तां च सम्पूज्य सौश्रमेघ फलंलमेता।।

# ये मंत्र दूर कर सकता है परेशानियां

तुलसी के इस मंत्र का जाप रोज करने से तुलसी, भगवान विष्णु के साथ ही देवी लक्ष्मी की भी कृपा मिलती है। घर में सुख-शांति रहती है और परेशानियां दूर होती हैं।

# तुलसी के पास रखें शालीग्राम

तुलसी के पास शालीग्राम जरूर रखें। शालीग्राम भगवान विष्णु का ही एक रूप है। तुलसी के साथ शालीग्राम की पूजा भी रोज करनी चाहिए।

# ऐसे करें तुलसी की सेवा

> रोज तुलसी के आसपास अच्छी तरह साफ-सफाई करें।

> तुलसी के पीले हो चुके या सूख चुके पत्ते हटाएं।

> नियमित रूप से पानी अवश्य डालें। अभी गर्मी के दिन हैं तो तेज धूप से तुलसी को बचाएं।

# महालक्ष्मी और विष्णुजी के लिए करें ये उपाय

> भगवान विष्णु को पीले फल चढ़ाएं।

> श्रीहरि को पीले वस्त्र चढ़ाएं।

> दक्षिणावर्ती शंख से भगवान का अभिषेक करें।

> देवी लक्ष्मी की पूजा में गोमती चक्र, पीली कौड़ी, कमल गट्टे की माला जरूर रखें।

> किसी गरीब सुहागिन को सुहाग का सामान दान करें।

X
adhik maas ke upay, how to worship to tulsi in home, basil plant in home
Bhaskar Whatsapp
Click to listen..