--Advertisement--

13 जून तक 1 मंत्र बोलकर करें तुलसी पूजा, धन लाभ के साथ मिलेगी सुख-समृद्धि

अधिक मास में तुलसी पूजा करने से धन लाभ के योग बनते हैं और जीवन में सुख-समृद्धि बनी रहती है।

Danik Bhaskar | May 19, 2018, 10:14 AM IST

रिलिजन डेस्क। हिंदू धर्म में अधिक मास को बहुत ही पूजनीय माना गया है। इस बार ज्येष्ठ का अधिक मास 16 मई से शुरू हो चुका है, जो 13 जून तक रहेगा। इस महीने में भगवान श्रीकृष्ण व विष्णु की पूजा करने का विशेष महत्व है। उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पं. मनीष शर्मा के अनुसार, श्रीकृष्ण की पूजा में तुलसी का विशेष महत्व है। धर्म ग्रंथों में तुलसी को देवी लक्ष्मी का स्वरूप भी माना गया है। इसलिए अधिक मास में तुलसी पूजा करने से धन लाभ के योग बनते हैं और जीवन में सुख-समृद्धि बनी रहती है। पूजा करते समय तुलसी नामाष्टक मंत्र का जाप भी करना चाहिए...

मंत्र
वृंदा वृंदावनी विश्वपूजिता विश्वपावनी।
पुष्पसारा नंदनीय तुलसी कृष्ण जीवनी।।
एतनामांष्टक चैव स्त्रोतं नामर्थं संयुतम।
य: पठेत तां च सम्पूज्य सौश्रमेघ फलंलभेत।।


ऐसे करें इस मंत्र का जाप
- अधिक मास में रोज सुबह जल्दी उठकर स्नान आदि करने के बाद तुलसी के पौधे की पूजा व परिक्रमा करें तथा गाय के शुद्ध घी का दीप लगाएं।
- इसके बाद एकांत में जाकर कुश के आसन पर बैठकर तुलसी की माला से इस मंत्र का जाप करें।
- मंत्र जाप करते समय मुंह पूर्व दिशा की ओर होना चाहिए। कम से कम 5 माला जाप अवश्य करें। अगर आप चाहते हैं तो अधिक मंत्र जाप भी कर सकते हैं।
- आसन, माला और स्थान एक ही हो तो ये मंत्र बहुत ही जल्दी शुभ फल प्रदान करता है।
- अधिक मास के अलावा भी इस मंत्र का जाप किया जा सकता है।

Related Stories