Hindi News »Khabre Zara Hat Ke »OMG» S*X Dolls Cant Stop Prostitution & R*Pe, Says Scientist

रिसर्च: 'घटिया आविष्कार है सेक्स डॉल, इससे नहीं रूक सकती वेश्यावृत्ति और रेप'

किंग्स कॉलेज लंदन और सेंट जॉर्ज यूनिवर्सिटी में की गई रिसर्च में सामने आई ये बातें।

dainikbhaskar.com | Last Modified - Jun 05, 2018, 06:17 PM IST

      • सेक्स डॉल्स को बताया जा रहा है बेकार आविष्कार
      • किंग्स कॉलेज लंदन और सेंट जॉर्ज यूनिवर्सिटी हॉस्पिटल्स में हुई रिसर्च

      • रेप, वेश्यावृत्ति को नहीं रोक सकती सेक्स डॉल्स

      ब्रिटेन. जब सेक्स डॉल्स मार्केट में लाई गईं तो इन्हें बनाने वाली कंपनियों ने दावा किया कि इससे रेप और वेश्यावृत्ति कम होगी।

      लेकिन अब इस दावे की आलोचना हो रही है। शोधकर्ता अब इन डॉल्स कोएक घटिया आविष्कार बता रहे हैं।किंग्स कॉलेज लंदन और सेंट जॉर्ज यूनिवर्सिटी हॉस्पिटल्स एक संयुक्त रिपोर्ट में कहा गया है कि ये बोलने में जरूर अच्छा लगता है कि सेक्स डॉल्स से वेश्यावृत्ति, मानव तस्करी और रेप की घटनाओं को रोका जा सकता है, जबकि सच्चाई से इसका कोई वास्ता नहीं। ये कोरी कल्पना है।

      डिजाइन की भी आलोचना

      - सेंट जॉर्ज हॉस्पिटल के डॉक्टर चेंटल ने कहा, इन सेक्स डॉल्स को जो रूप और डिजाइन दिया गया है वो वास्तविकता से परे है। रियल लाइफ सेक्स और सेक्स डॉल्स में जमीन आसमान का फर्क है। इन्हें इस्तेमाल करने वाले लोगों की हेल्थ और उनकी सेक्स लाइफ पर क्या असर पड़ेगा ये किसी ने नहीं सोचा।

      पहले भी फेल हो चुका है एक्सपेरिमेंट

      इससे पहले एम्सटर्डम के एक टीवी चैनल ने भी माना था कि शायद सेक्स डॉल्स रेप और वेश्यावृत्ति रोकने में मददगार साबित होगी। चैनल ने इसके लिए अजीबोगरीब एक्सपेरिमेंट किया था। यहां उनकी एक टीम ने मिलकर सेक्स डॉल्स को बीच मार्केट में लगा दिया था। यहां सेक्स डॉल्स का वेश्यालय बना दिया गया, जहां लोगों से आने की अपील की जा रही थी। चैनल लोगों की प्रतिक्रियाएं जानना चाह रहा था कि क्या वाकई सेक्स डॉल्स प्रॉस्टिट्यूट्स की जगह ले सकती हैं। चैनल के कुछ एक्सपर्ट्स का भी मानना था कि सेक्स डॉल्स आने से सेक्शुअल क्राइम और रेप जैसी घटनाओं में भी कमी आ सकती है। इसके अलावा गैरकानूनी ढंग से चल रहे वेश्यालय के मामले भी कम हो सकते हैं। लेकिनइस प्रयोग में भी लोगों ने इसमें कोई इन्टरेस्ट नहीं दिखाया।

    • रिसर्च: 'घटिया आविष्कार है सेक्स डॉल, इससे नहीं रूक सकती वेश्यावृत्ति और रेप'
      +1और स्लाइड देखें
    आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
    दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

    More From OMG

      Trending

      Live Hindi News

      0

      कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
      Allow पर क्लिक करें।

      ×