छापेमारी कर दुकानों से 12 किलो पनीर और 30 ली. सरसों तेल जब्त

News - जिले में मिलावटी खाद्य पदार्थ बेचने वालों पर जिला प्रशासन का शिकंजा कसता जा रहा है। मिलावटी खाद पदार्थों की...

Feb 15, 2020, 07:25 AM IST
Khuti News - after raiding took 12 kg of cheese and 30 from the shops mustard oil seized

जिले में मिलावटी खाद्य पदार्थ बेचने वालों पर जिला प्रशासन का शिकंजा कसता जा रहा है। मिलावटी खाद पदार्थों की बिक्री पर रोक लगाने के लिए तथा खाद्य सुरक्षा एवं मानक अधिनियम के अनुपालन को लेकर शहर के प्रतिष्ठानों तथा दुकानों में सैंपल इकट्ठा किया जा रहा है। शुक्रवार को जिले के कई प्रतिष्ठानों में छापामारी कर मिलावटी तथा नकली सामान जब्त किए गए। प्रेस कांफ्रेंस में एसडीएम प्रणव कुमार पाल ने बताया कि फूड इंस्पेक्टर प्रकाश चंद्र
गूग्गी के नेतृत्व में छापामारी टीम का गठन किया गया था।

टीम ने शहर के विभिन्न दुकानों में छापामारी कर पनीर 12 किलो, सरसो तेल 30 लीटर, टोमेटो सॉस 10 बोतल, चिली सॉस 10 बोतल, नकली टाटा नमक 10 पैकेट, कोल्ड ड्रिंक्स लगभग 100 बोतल, नकली चिप्स, मिठाइयों में प्रयोग करने वाला कामधेनु व गोवर्धन रंग 50 पैकेट, शर्बत 4 बोतल जब्त किया। इन मिलावटी तथा नकली सामान को स्तरीय प्रयोगशाला में भेजा जाएगा तथा रिपोर्ट मिलने पर फूड सेफ्टी एक्ट के तहत दुकानदारों पर कार्रवाई की जाएगी। एसडीएम प्रणव कुुुमार पाल ने कहा कि जब्त किए गए पनीर का ऑन द स्पॉट टेस्टिंग भी किया। जब्त पनीर पर आयोडीन सॉल्यूशन डाला गया, तो पनीर का रंग काला पड़ गया। एसडीएम नेे कहा बाजार में काफी मात्रा में नकली पनीर की बिक्री हो रही है जो शरीर के लिए हानिकारक है। मिलावटी तथा नकली सामान के मैन्युफैक्चरिंग यूनिट तक पहुंचने का प्रयास भी किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि अब तक 30- 40 दुकानों से तेल, नमक, बेसन, सत्ततू, मसाला, कोल्ड ड्रिंक्स, सॉस, पनीर इत्यादि सामान का सैंपल लिया गया है। जिसे जांच क लिए राज्य स्तरीय प्रयोगशाला में भेजा गया है। उन्होंने बताया कि शहर में धड़ल्ले से एक्सपायर्ड कोल्ड ड्रिंक की बिक्री की जा रही है। जो स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है।

एसडीएम ने कहा कि मिलावटी तथा नकली खाद्य पदार्थ के सेवन से मल्टी ऑर्गन फेल होने की संभावना बनी रहती है। संवाददाता सम्मेलन केे अवसर पर एसडीएम ने शहरवासियों से खाद्य पदार्थों की खरीदारी में सावधानी बरतने का अपील भी किया। उन्होंने कहा कि नकली तथा मिलावटी खाद्य पदार्थ बेचने पर फूड सेफ्टी एक्ट के तहत कड़े प्रावधान किए गए हैं। उन्होंने कहा कि सब स्टैंडर्ड सामग्री की बिक्री पर पांच लाख तक का जुर्माना का प्रावधान है। साथ ही मिस ब्रांडेड फूड आइटम (नकली ब्रांड) पाए जाने पर तीन लाख रुपये तक का पेनाल्टी लगेगा।

खाद्य पदार्थों की खरीद पर बरतें सावधानी : एसडीएम

कार्यों पर बाधा पहुंचाने पर तीन माह की हो सकती है सजा

प्रणव कुमार पाल ने बताया कि फूड सेफ्टी ऑफिसर को कार्य करने में बाधा पहुंचाने पर 3 माह की कारावास तथा एक लाख का जुर्माना हो सकता है। साथ ही सरकारी काम में बाधा उत्पन्न करने पर धारा 353 के तहत कार्रवाई का भी प्रावधान है। प्रोडक्ट की गलत सूचना देने पर 3 माह जेल तथा दो लाख तक का जुर्माना लग सकता है। एसडीएम ने बताया कि बगैर फूड लाइसेंस व्यवसाय करने पर 6 माह की जेल तथा 5 लाख तक का जुर्माना लगेगा। अनसेफ फूड खिलाने पर 6 साल जेल 5 लाख जुर्माना, अनसेफ फूड खाने से गंभीर रूप से बीमार होने पर तथा साबित हो जाने पर 6 साल जेल 5 लाख जुर्माना, अनहाइजीनिक भोजन खाने के फलस्वरूप मृत्यु हो जाने पर तथा इसकी पुष्टि हो जाने पर 7 साल से लेकर आजीवन कारावास तथा दस लाख का जुर्माना का भी प्रावधान है। अनहाइजीनिक तरीके से भोजन बनाकर खिलाने पर एक लाख तक का जुर्माना का प्रावधान है।

दुकान में छापेमारी कर जब्त किए गए सामान दिखाते एसडीओ प्रणव कुमार पाल व अन्य।

X
Khuti News - after raiding took 12 kg of cheese and 30 from the shops mustard oil seized

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना