• Amarnath Yatra, Temple of Kashmir, Cave Temple of Kashmir, Amarnath
--Advertisement--

अमरनाथ यात्रा में पहली बार यात्रियों को दिखाएं जाएंगे जम्मू-कश्मीर के मशहूर मंदिर भी, पवित्र गुफा के अलावा भी कश्मीर में हैं 8 और प्राचीन गुफाएं

इस बार अमरनाथ श्राइन बोर्ड द्वार यात्रियों के लिए कई प्रकार की सुविधाएं दी जा रही हैं।

Danik Bhaskar | Jun 24, 2018, 05:00 PM IST
चित्र- शेर गोल गुफा चित्र- शेर गोल गुफा

रिलिजन डेस्क। इस बार 27 जून से अमरनाथ यात्रा शुरू हो रही है। पहला जत्था जम्मू के भगवती नगर आधार शिविर से रवाना होगा​। यात्रा के लिए दो लाख से अधिक भक्त रजिस्ट्रेशन करवा चुके हैं। यात्रियों को पहली बार जम्मू-कश्मीर के मशहूर मंदिरों में भी ले जाया जाएगा। अमरनाथ के अलावा भी कश्मीर में 8 और प्राचीन गुफाएं हैं, कोई बुद्ध तो कोई शिव से जुड़ी। आज हम आपको कुछ ऐसी ही गुफाओं के बारे में बता रहे हैं...



1.शेर गोल गुफा- कारगिल के रास्ते में देखने के लिए शेर गोल गुफा मठ एक बेहतरीन जगह है। ये एक पहाड़ के बीचों-बीच स्थित है। इस गुफा की खासियत ये है कि ये पहाड़ के बाहर की ओर लटकी सी दिखाई पड़ती है।

2. बमजू गुफाएं- अनंत नाग जिले में लिडर घाटी के मुहाने पर व लिवर नदी के बाएं किनारे पर भुमू या बमजू या भाममोजो स्थित है। पहाड़ों के बीच बनी ये गुफा कितनी प्राचीन है। इसका कोई प्रमाण नहीं है।


3. महानाल गुफा- ये गुफा कथुआ जिले के पास राजबाग से 15 किलोमीटर उत्तर में है। मान्यता है इस प्राकृतिक पवित्र गुफा के अंदर, भगवान शिव ने स्वयं को एक प्राकृतिक लिंग के रूप में प्रकट किया है।

4. सस्पोल गुफाएं- जम्मू कश्मीर में तिब्बती मध्ययुगीन संस्कृति के अद्भुत स्मारक हैं और इनमें से कुछ सिस्पोल गांव के आसपास सिंधु घाटी में स्थित हैं। सही गांव में सस्पोल गुफाएं स्थित हैं।


5. पीर खोह्- इस मंदिर को जामवंत गुफा के नाम से भी जाना जाता है। ये जम्मू नगर के पूर्वी छोर पर बना हुआ है। इस गुफा में कई पीरों, फकीरों, और ऋषियों ने तपस्या की, इसी वजस से इसे पीर खोह कहते हैं।


6. शिव खोरी- यह गुफा जम्मू कश्मीर के रयासी जिले में है। यह गुफा 150 मीटर लंबी है। इस गुफा के अंदर भगवान शंकर का 4 फीट ऊंचा शिवलिंग है। इस शिवलिंग पर जल की धारा सदैव गिरती रहती है।


7. मौंग्री गुफा- गांव मौंग्री उधमपुर जिले के पंचायत ब्लॉक में एक छोटा सा गांव है। इस क्षेत्र में कई प्राकृतिक मंदिर हैं। इन्ही में से एक है मौंग्री गुफा। यहां शिव-पार्वती संयुक्त लिंग के रूप में मौजूद हैं। ये क्षेत्र पहले सोनारा नाम से जाना जाता था, जिसका अर्थ है सौ झरनों की भूमि।


8. फुगताल मठ गुफा- ये लद्दाख का एक बौद्ध मठ है। ये मठ लकड़ी का एक अनूठा निर्माण है, जो प्राकृतिक गुफा के प्रवेशद्वार पर स्थित है।

चित्र- बमजू गुफाएं चित्र- बमजू गुफाएं
चित्र- महानाल गुफा चित्र- महानाल गुफा
चित्र- सस्पोल गुफाएं चित्र- सस्पोल गुफाएं
चित्र- पीर खोह् चित्र- पीर खोह्
चित्र- शिव खोरी चित्र- शिव खोरी
चित्र- मौंग्री गुफा चित्र- मौंग्री गुफा
चित्र- फुगताल मठ गुफा चित्र- फुगताल मठ गुफा

Related Stories